मुजफ्फरनगर के दंगों में लगे आरोप से आजम खां व्यथित

मुजफ्फरनगर के दंगों में लगे आरोप से आजम खां व्यथित
कैबिनेट मंत्री आज़म खां
कैबिनेट मंत्री आज़म खां

मुजफ्फरनगर दंगे को लेकर मुझे सुप्रीम कोर्ट से सात नोटिस मिले हैं। मुझे फांसी या उम्रकैद की सजा हो सकती है। मुझे फांसी मंजूर है, लेकिन मैं गलत को सही नहीं कह सकता।

उक्त उद्गार समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता और उत्तर प्रदेश सरकार के शक्तिशाली कैबिनेट मंत्री आज़म खां ने आज जौहर यूनिवर्सिटी में लैपटॉप वितरण समारोह के दौरान व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि जुल्म करवाने वाली ताकतों ने अदालतों का सहारा लिया है, हम मुजफ्फरनगर गए नहीं, किसी को छुड़ाने की सिफारिश नहीं की, फिर भी हम पर तमाम आरोप लगाए गए। हमें सुप्रीम कोर्ट से नोटिस मिले हैं, वह इससे घबराने वाले नहीं हैं। इसका मुकाबला करेंगे, उन्हें न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। उन्होंने नरेंद्र मोदी, अरविंद केजरीवाल और मायावती पर भी निशाना साधा।

आज़म खाँ ने शिक्षा को सफल जीवन के लिये अपरिहार्य बताते हुये कहा कि आज आवश्यकता इस बात की है कि प्रत्येक बच्चे को मौजूदा व भावी आवश्यकताओं के अनुरूप शिक्षा हासिल करने के बेहतरीन अवसर सुनिश्चित किये जायें, ताकि प्रतिस्पर्धा के इस दौर में अपनी योग्यता को साबित कर वह एक सफल जीवन जी सके। उन्होंने कहा कि हम प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव के प्रति शुक्रगुजार हैं कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को आधुनिक शिक्षा में निपुण बनाने के लिये मुफ्त लैपटाप वितरण की योजना शुरू की और अब तक इस योजना के तहत पूरे प्रदेश में लगभग 15 लाख लैपटाप वितरित किये जा चुके हैं।

उन्होंने लैपटॉप पाने वाले छात्र-छात्राओं से कहा कि वे लैपटॉप का इस्तेमाल शिक्षा व ज्ञानार्जन में करें। उन्होंने कहा कि खुली आँखों से सपने देखने तथा मेहनत व लगन से काम करने वाले ही जीवन में हमेशा सफलता पाते हैं। जौहर विश्वविद्यालय का जिक्र करते हुये उन्होंने कहा कि यह विश्वविद्यालय उनके जीवन का एक सपना था और इस सपने को पूरा करने के लिये वह अपने इरादों पर डटे रहे। अन्ततः यह ख़्वाब पूरा हुआ और आज यह विश्वविद्यालय एक वास्तविकता बन कर सामने मौजूद है। शिक्षा के विकास के प्रति अपने प्रयासों का ज़िक्र करते हुये उन्होंने कहा कि वह एक मेडिकल कॉलेज और एक पब्लिक स्कूल की स्थापना करने जा रहे हैं। मेडिकल कॉलेज का निर्माण 700 करोड़ रुपये की लागत से 250 एकड़ जमीन पर किया जा रहा है।

नगर विकास मंत्री ने कहा कि वह रामपुर शहर को एक मिसाली शहर बनायेंगे। उन्होंने कहा कि विकास के लिये कुछ न कुछ तो खोना पड़ता है। रामपुर तभी एक मिसाली शहर बनेगा, जब यहाँ की सड़कें चौड़ी होंगी, बड़ी तादाद में दुकानों का निर्माण होगा और लोगों को यहीं पर रोज़ी-रोटी के अवसर उपलब्ध होंगे। इस अवसर पर आज़म खाँ ने 871 छात्र-छात्राओं को लैपटॉप वितरित किये।

Leave a Reply