मुजफ्फरनगर में लौटा अमन का राज़, कर्फ्यू में ढील

मुजफ्फरनगर में लौटा अमन का राज़, कर्फ्यू में ढील
  • सहायता शिविरों में लगातार पहुंचायी जा रही है राहत सामग्री, 
  • मुजफ्फनगर में आज भी खाद्य सामग्री से भरे ट्रकों को भेजा गया
मुजफ्फनगर में सामान बांटते लोग
मुजफ्फनगर में सामान बांटते लोग
जनपद मुजफ्फरनगर मे हुई हिंसा के बाद प्रशासन द्वारा कल दी गई ढील के बाद सामान्य हुए हालात के फलस्वरूप आज भी प्रशासन ने सुबह 10 से सायं 7 बजे तक कर्फ्यू में ढील दी, जिससे लोगों जमकर खरीदारी की व अपना रोजमर्रा का सामान खरीदा। आज प्रशासन के द्वारा दी गई ढील के बाद मुजफ्फरनगर के लोग वही अपने पुराने व प्यार भरे अंदाज मे नजर आये। आज जब लोग एक दूसरे से मिले तो सभी ने प्रशासन व शासन की सराहना की और कहा कि वक्त रहते सब कुछ संभाल लिया गया। गत दिनों हुई हिंसा के चलते कुछ परिवार जो अपने रिश्तेदारों के पास आ गये थे या प्रशासन द्वारा सहायता शिविरों में सुरक्षित पहुंचा दिये गये थे। तहसील बुढ़ाना व तहसील सदर के उन सभी सहायता शिवरों का आज आयुक्त भुवनेश कुमार, डीआईजी, मुथा अशोक जैन, जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा व एसएसपी प्रवीन कुमार ने जाकर निरीक्षण किया और वहां पर उपस्थित लोगों से वार्ता भी की। आयुक्त ने सभी से कहा कि उन सभी लोगों का पूरा ध्यान रखा जा रहा है और रखा जायेगा। उन्हें किसी भी प्रकार की कोई परेशानी नहीं होने दी जायेगी। उनके भोजन व अन्य किसी भी प्रकार के सामान, जो रोजमर्रा की जिन्दगी में प्रयोग में आता है, उन सभी वस्तुओं की पूर्ति में कोई कमी नहीं होने दी जायेगी। ग्राम बसी, शिकारपुर, इस्लामाबाद व जौला मे स्थापित सहायता शिविरों के लोगों को खुद आयुक्त व जिलाधिकारी ने सहायता सामग्री का वितरण किया तथा प्राप्त हो रही खाद्य सामग्री का रजिस्टर भी चेक किया।

बंटने को रखा सामान
बंटने को रखा सामान
जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने सभी सहायता शिविरों में महिलाओं के लिए अलग से मोबाईल शौचालय यथाशीघ्र स्थापित करने तथा सहायता शिविरों में भोजन सामग्री व सभी अन्य वस्तुओं की निर्बाध आपूर्ति करने के कडे़ निर्देश दिये। जिलाधिकारी ने सभी सहायता शिविरों के लिए नोडल अधिकारियों की डयूटी लगा दी है, जो अपने अपने सहायता शिविरों की जरूरतों का ध्यान रखेगे और उनकी सभी प्रकार से सहायता करेंगे। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को भी निर्देश दिये कि सभी सहायता शिविरों में अलग से मेडिकल टीम भेजी जाये और एम्बुलेंस की व्यवस्था भी की जाये तथा चिकित्सकों की टीम की शिफ्टवार ड्यूटी लगाकर सहायता शिविरों के लोगों की देखभाल की जाए।
डीआईजी मुथा अशोक जैन ने भी सहायता शिविरों में रह रहे लोगों की आशंकाओं को दूर करते हुए कहा कि उन सभी की सुरक्षा की जायेगी। किसी को भी डरने की जररूत नही हैं, सभी निश्चिंत रहें।
सहायता शिविरों में राहत सामग्री सही समय से पहुंचाने के लिए लगे अपर जिलाधिकारी प्रशासन डा. इन्द्रमणि त्रिपाठी ने बताया कि कल की तरह आज भी सहायता शिविरों में सहायता सामग्री भेजी गई। तहसील बुढ़ाना एवं तहसील सदर के लिए भी सहायता सामग्री ट्रकों द्वारा भेजी गई।
जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने सहायता शिविरों की देखभाल व सहायता के लिए प्रत्येक सहायता शिविर के लिए अलग से नोडल अधिकारी को नियुक्त किया है, जिस अधिकारी को जिस भी सहायता शिविर का नोडल अधिकारी नियुक्त किया है, वह उसकी व्यवस्था का पूरा ध्यान रखेगा और शिविर मे ठहरे लोगों का अलग से एक रजिस्टर भी बनाया जायेगा, जिसमें शिविर में रूके हुए लोगों की पूरी जानकारी दर्ज की जाएगी।
मुख्य विकास अधिकारी रविन्द्र गोडबोले ने आज शाहपुर ब्लाक में गणमान्य व्यक्तियों, प्रधानों, पूर्व प्रधानों के साथ शांति समिति की बैठक की, जिसमें उन्होंने सभी से अपने अपने गांव व क्षेत्र मे शांति व आपसी सौहार्द को कायम रखने की अपील की और कहा कि सभी आपसी प्यार और मेल-जोल को कायम रखें।

Leave a Reply