मुख्यमंत्री ने वाजिद अली शाह महोत्सव का उद्घाटन किया

मुख्यमंत्री ने वाजिद अली शाह महोत्सव का उद्घाटन किया
 

लखनऊ में छतर मंजिल पैलेस में आयोजित वाजिद अली शाह महोत्सव का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
लखनऊ में छतर मंजिल पैलेस में आयोजित वाजिद अली शाह महोत्सव का दीप प्रज्ज्वलित कर शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि इतिहास व विरासत से जुड़कर ही हम अपनी साझा संस्कृति को समझ पाते हैं। हमारी संस्कृति शान्ति, अहिंसा, सद्भाव, भाइचारे और एकता का सन्देश देने वाली तथा साम्प्रदायिक भावना एवं ताकतों से दूर रहने की सीख देने वाली है। उन्होंने कहा कि जब तक लोग अपनी विरासत को बचाने के लिए उससे नहीं जुड़ेंगे, तब तक सरकार का अकेले प्रयत्न कामयाब नहीं हो सकता। उन्होंने कहा कि लखनऊ की विरासत व गंगा-जमुनी तहजीब में नवाब वाजिद अली शाह के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। इस विरासत को आगे बढ़ाने के लिए सभी को मिल-जुलकर कार्य करना होगा।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ में छतर मंजिल पैलेस में आयोजित वाजिद अली शाह महोत्सव के शुभारम्भ के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। छतर मंजिल जैसी ऐतिहासिक इमारत में समारोह के आयोजन के लिए आयोजकों की प्रसंशा करते हुए उन्होंने कहा कि आर्किटेक्चर किसी समय की सोच एवं संस्कृति को अभिव्यक्त करता है। उन्होंने कहा कि प्राचीन समय में आवागमन एवं कारोबार के लिए नदियों का इस्तेमाल होने के कारण अधिकतर इमारतें नदियों के किनारे ही बनाई गई हैं। विरासतों को आगे बढ़ाने में अन्य प्रदेशों विशेषतः राजस्थान के जयपुर में हुए अच्छे कार्य की सराहना करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार भी इससे सीख लेकर काम करेगी।
श्री यादव ने दीप प्रज्ज्वलित कर समारोह का उद्घाटन किया तथा इस अवसर पर डा.  राही मासूम रजा की कविता ‘1857’ पर आधारित व मुजफ्फर अली द्वारा निर्देशित नाटिका ‘गोमती’ का अवलोकन भी किया। समारोह के आयोजन के लिए आयोजकों को धन्यवाद एवं शुभकामनाएं देते हुए उन्होंने भरोसा जताया कि इस तरह के समारोहों के आयोजन से प्रदेश में पर्यटन के विकास की सम्भावनाएं बढ़ेंगी। उन्होंने कहा कि सरकार इस तरह के सामाजिक एवं सांस्कृतिक आयोजनों के लिए हर सम्भव सहयोग करेगी।
इस अवसर पर पर्यटन मंत्री ओम प्रकाश सिंह, कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी सहित प्रदेश मंत्रिमण्डल के अन्य सदस्य, मुख्य सचिव जावेद उस्मानी, वरिष्ठ अधिकारी तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Leave a Reply