मुख्यमंत्री ने रेलवे सेतु का लोकार्पण किया

मुख्यमंत्री ने रेलवे सेतु का लोकार्पण किया
  •  राज्य सरकार प्रदेश को विकास के रास्ते पर तेजी से ले जाने का कार्य कर रही है: मुख्यमंत्री
 
रेलवे पुल के लोकार्पण के अवसर पर बोलते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
रेलवे पुल के लोकार्पण के अवसर पर बोलते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि देश के विकास और समृद्धि के लिए उत्तर प्रदेश का विकसित और खुशहाल होना जरूरी है, इसलिए राज्य सरकार प्रदेश को विकास के रास्ते पर तेजी से ले जाने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों के उत्थान और राज्य के विकास के लिए धन का सदुपयोग कर रही है।
मुख्यमंत्री आज यहां डालीगंज क्रासिंग के नवनिर्मित रेल उपरिगामी सेतु के लोकार्पण समारोह के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। सम्बोधन के पश्चात मुख्यमंत्री ने शिलापट्टिका का अनावरण कर रेल उपरिगामी सेतु का लोकार्पण किया। ज्ञातव्य है कि इस ओवरब्रिज का निर्माण कार्य 9 माह की रिकार्ड अवधि में पूरा किया गया। श्री यादव ने कहा कि पिछली सरकार ने गरीबों के उत्थान की धनराशि को बर्बाद करने के साथ-साथ विकास कार्यों में भ्रष्टाचार किया। जनता की गाढ़ी कमाई को लखनऊ में स्मारकों, मूर्तियों और पत्थर पर बर्बाद किया गया। रेल ओवरब्रिज को लखनऊ के विकास के लिए एक उपलब्धि बताते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने यहां काफी कार्य किए हैं। चकगंजरिया फार्म में विश्वस्तरीय कैंसर संस्थान की स्थापना के फैसले का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि लखनऊ के विकास का सिलसिला भविष्य में भी इसी प्रकार जारी रहेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार न केवल राजधानी, बल्कि दूरदराज के ग्रामीण इलाकों में भी प्राथमिकता पर पुलों का निर्माण करा रही है। प्रदेश में सेतुओं का निर्माण तेजी से कराया जा रहा है। इसके साथ ही लम्बे समय से अधूरे पड़े पुलों का निर्माण भी पूरा कराया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनपद बलरामपुर में लगभग 22 साल से लम्बित पुल के निर्माण को भी राज्य सरकार पूरा करा रही है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि जिस प्रकार नेता जी के नेतृत्व में पिछली समाजवादी सरकार ने सबसे ज्यादा पुल बनवाए थे, उसी प्रकार वर्तमान सरकार भी सर्वाधिक पुलों का निर्माण कराएगी।
प्रदेश सरकार के कार्यों की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों के लिए मुफ्त सिंचाई की व्यवस्था के साथ-साथ उनके लिए खाद और बीज समय से उपलब्ध कराने का इंतजाम भी किया गया है। इसके साथ ही किसानों के कर्ज भी माफ किए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 12वीं पास छात्र-छात्राओं को लैपटाप वितरित किए जा रहे हैं। बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ता दिया जा रहा है तथा बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए कन्या विद्याधन योजना का संचालन किया जा रहा है। राज्य सरकार ने एमबीबीएस की पढ़ाई के लिए पिछले एक साल में 500 सीटों की वृद्धि की। बिजली की व्यवस्था में सुधार लाने की दिशा में प्रभावी कदम उठाए हैं।
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी राज्यमंत्री अभिषेक मिश्रा ने कहा कि जनता को लम्बे समय से इस ओवरब्रिज की जरूरत थी। मुख्यमंत्री ने इसका निर्माण कराकर जनता का सपना सच किया। उन्होंने कहा कि डालीगंज रेलवे क्रासिंग का यह उपरिगामी सेतु घनी आबादी वाले इलाके में स्थित है, इसलिए स्थानीय जनता की सुविधा को ध्यान में रखकर सेतु का निर्माण होने के बावजूद रेलवे क्रासिंग के फाटक को स्थायी रूप से बंद नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता ने जिस विश्वास से जिम्मेदारी सौंपी है, राज्य सरकार को उसका पूरा एहसास है। सरकार जनता के प्रत्येक विश्वास, उम्मीद और वादे पर खरा उतरेगी।

रेलवे पुल का लोकार्पण करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एवं नवनिर्मित रेल पुल
रेलवे पुल का लोकार्पण करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव एवं नवनिर्मित रेल पुल
पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि राज्य सरकार प्रदेश का विकास कर देश के विकास में योगदान कर रही है। उन्होंने महात्मा गांधी के आदर्शों को अपनाए जाने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि जिन उद्देश्यों के लिए स्वाधीनता सेनानियों ने संघर्ष किया, उसे प्राप्त करने के लिए कड़ी मेहनत की जरूरत है।
पूर्व मंत्री डा. अशोक बाजपेई ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश के विकास को गति मिली है। लखनऊ में आईटी सिटी की स्थापना हो जाने के पश्चात बड़ी संख्या में नौजवानों को रोजगार मिलेगा। इस अवसर पर जन्तु उद्यान राज्य मंत्री डा शिव प्रताप यादव, अध्यक्ष राज्य महिला आयोग जरीना उस्मानी एवं अन्य जनप्रतिनिधियों ने भी अपने विचार व्यक्त किए। इसके पूर्व अतिथियों का स्वागत करते हुए प्रमुख सचिव आवास एवं शहरी नियोजन तथा सूचना सदाकांत ने कहा कि 9 माह की अवधि में पूर्ण किए गए डालीगंज रेल उपरिगामी सेतु के निर्माण पर लगभग 29 करोड़ रुपये की धनराशि व्यय हुई। उन्होंने कहा कि लखनऊ के विकास के लिए अनेक कार्य किए जा रहे हैं। इनमें मेट्रो रेल परियोजना, जनेश्वर मिश्र पार्क, जयप्रकाश नारायण अन्तर्राष्ट्रीय केन्द्र तथा चकगंजरिया में विभिन्न परियोजनाएं शामिल है। इस अवसर पर स्टाम्प तथा न्यायालय शुल्क पंजीयन मंत्री राजा महेन्द्र अरिदमन सिंह, कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, पंचायतीराज मंत्री बलराम यादव, कृषि राज्य मंत्री मनोज कुमार पाण्डेय सहित अन्य जनप्रतिनिधि, प्रमुख सचिव लोक निर्माण रजनीश दुबे, मुख्यमंत्री के परामर्शी आमोद कुमार समेत अन्य अधिकारीगण आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply