महाराष्ट्र के टाइगर और हिंदुओं के एक मात्र कट्टरपंथी नेता ने आँखें बंद कीं

महाराष्ट्र के टाइगर और हिंदुओं के एक मात्र कट्टरपंथी नेता ने आँखें बंद कीं
बाला साहब ठाकरे की फाइल फोटो

शिवसेना प्रमुख बाला साहेब ठाकरे ने दिल का दौरा पड़ने से आज दोपहर आँखें सदा के लिए बंद कर लीं। वह पिछले कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। उनके निधन से मुंबई व महाराष्ट्र ही नहीं, बल्कि समूचा देश शोक ग्रस्त है।

बाला साहब ठाकरे की फाइल फोटो

86 वर्षीय प्रसिद्ध राजनेता बाला साहेब केशव ठाकरे का जन्म 23 जनवरी, 1926 को मध्य प्रदेश के बालाघाट में हुआ था। उन्होंने शिवसेना का गठन किया,

बाला साहब ठाकरे की फाइल फोटो

इससे पहले वह प्रसिद्ध कार्टूनिस्ट थे। बाल ठाकरे ने 1960 में अपने भाई के साथ एक कार्टून साप्ताहिक मार्मिक का शुभारंभ किया। वर्तमान में शिवसेना के मुखपत्र सामना के रूप में हिन्दी व मराठी में दैनिक अखबार निकलते हैं, जिसमें वह संपादकीय लिखते थे। उनके संपादकीय भी खबर बनते रहे हैं। अडोल्फ हिटलर के समर्थक बाला साहेब ठाकरे शुरू से कट्टर हिंदूवादी मानसिकता के पक्षधर रहे हैं और तीखे बयानों के लिए वह दुनिया भर में जाने जाते हैं। खैर, उनका लंबा राजनैतिक, सामाजिक और धार्मिक जीवन औरों के लिए हमेशा प्रेरणा स्रोत रहेगा। वह जीतने विवादित रहे, उससे कहीं अधिक चहेते भी रहे हैं। बाला साहेब ठाकरे महाराष्ट्र के ही नहीं, बल्कि हिन्दू समाज के वर्तमान में एकमात्र कट्टरपंथी नेता थे, जिसकी भरपाई हिन्दू समाज कभी नहीं कर पाएगा। राम मंदिर आंदोलन में उनकी और उनकी शिवसेना की ही प्रमुख भूमिका थी, पर उन्होंने कभी श्रेय नहीं लिया।

 

Leave a Reply