महात्मा गांधी का मार्ग आज भी प्रासंगिक: मुख्यमंत्री

महात्मा गांधी का मार्ग आज भी प्रासंगिक: मुख्यमंत्री
  • गांधी जी की विचारधारा को अपनाकर व्यवहार में लाने की आवश्यकता: श्री यादव
  • खादी बोर्ड के कर्मचारियों की समस्याओं पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा: मुख्यमंत्री
  • मुख्यमंत्री ने उत्तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के नवीन भवन का शिलान्यास किया
चरखे से सूत कातते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
चरखे से सूत कातते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि महात्मा गांधी द्वारा दिखाया गया सत्य एवं अहिंसा का रास्ता आज भी प्रासंगिक है और पूरी दुनिया उनके बताए सिद्धान्तों को मानती है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने देश की स्वतंत्रता के लिए सत्य एवं अहिंसा का रास्ता चुना और उनके इस प्रयास में सभी धर्म तथा देश के सभी क्षेत्रों के लोगों ने भाग लिया। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी जैसा दूसरा नेता कहीं नहीं मिलेगा। पूरे विश्व में उनकी विचारधारा पर आज शोध किया जा रहा है।
यह विचार मुख्यमंत्री ने आज यहां उत्तर प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड के नवीन भवन के शिलान्यास के अवसर पर व्यक्त किए। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि गांधी जी में आस्था होने के कारण ही आज इस भवन के शिलान्यास का फैसला लिया गया। उन्होंने कहा कि वे स्वयं गांधी जी की विचारधारा से अत्यन्त प्रभावित हैं और जब से उन्होंने खादी पहनी है, तब से इसे पूरी तरह से अंगीकार कर लिया है। उन्होंने कहा कि समाजवादी लोग गांधी जी तथा खादी के सबसे प्रबल समर्थक हैं, जबकि कई लोग गांधीवादी होने का दावा करते हैं और खादी भी पहनते हैं, परन्तु गांधीवादी मूल्यों को व्यवहार में नहीं लाते।
श्री यादव ने कहा कि आज जरूरत इस बात की है कि हम इस बात पर विचार करें कि गांधी जी द्वारा दिखाए गए रास्ते पर कितना आगे बढ़े। उन्होंने विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार किया था, परन्तु अब लोग विदेशी वस्तुओं को अधिक प्रयोग में ला रहे हैं। अर्थव्यवस्था को मजबूती प्रदान करने के लिए हमें गांधी जी के विचारों से सीखना होगा। गांधी जी ने बताया था कि समय व संसाधनों का सदुपयोग करना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने सरकार बनते ही खादी बोर्ड को 40 करोड़ रुपए की राशि मुहैया कराई थी, ताकि बोर्ड सुचारु रूप से कार्य कर सके। उन्होंने कहा कि सरकार खादी के प्रचार-प्रसार के हर सम्भव प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि ग्रामीण एवं कुटीर उद्योगों को बढ़ावा देना होगा, ताकि गांव में रोजगार के और अवसर उपलब्ध हो सकें।
पिछली सरकार की कार्य पद्धति का जिक्र करते हुए श्री यादव ने कहा कि उस दौरान उत्तर प्रदेश को सिर्फ गर्त में ढकेलने का कार्य हुआ। प्रदेश की प्रगति पूरी तरह से रुक गई। जबसे समाजवादी सरकार सत्ता में आई है, हम समय और धन का सदुपयोग विकास कार्यों के लिए कर रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने भवन निर्माण को सुनियोजित ढंग से एवं समयबद्धता के साथ पूर्ण करने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने कहा कि खादी बोर्ड से जुड़े लोगों को इस बात पर विचार करना चाहिए कि इसकी कार्यप्रणाली कैसे और बेहतर एवं प्रभावी बनाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा। अन्य मांगों पर भी ध्यान दिया जाएगा। खादी बोर्ड द्वारा विक्रय की जा रही वस्तुओं को बाजार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से जगह-जगह पर विक्रय केन्द्र इत्यादि स्थापित करने की सम्भावनाओं को भी तलाशा जाएगा। इससे पूर्व कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने पर मुख्यमंत्री ने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री का स्वागत माला पहनाकर तथा शाल भेंट कर किया गया। मुख्यमंत्री ने बटन दबाकर नवीन भवन के निर्माण का शिलान्यास किया। उन्होंने सभी को गांधी जयंती की बधाई भी दी। कार्यक्रम को खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री कैलाश यादव एवं खादी एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री श्री रियाज अहमद ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में उपस्थित खाद्य एवं रसद तथा कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी तथा स्टाम्प एवं न्यायालय शुल्क, पंजीयन व नागरिक सुरक्षा राज्य मंत्री मनोज पारस का स्वागत शाल तथा बुके भेंट कर किया गया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव/मुख्य कार्यपालक अधिकारी, खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड सत्यजीत ठाकुर, बोर्ड के अन्य अधिकारी तथा कर्मचारी बड़ी संख्या में मौजूद थे।
 गांधी जयंती पर मुख्यमंत्री क्षेत्रीय श्री गांधी आश्रम में आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित हुए
 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर हम सब को आपसी भाईचारा व प्रेम को बढ़ाने का संकल्प लेना चाहिए। बापू का अहिंसा और सत्याग्रह का संदेश आज भी प्रासंगिक है। उन्होंने कहा कि गांधी जी के रास्ते पर चलकर देश और प्रदेश को खुशहाल बनाया जा सकता है।
मुख्यमंत्री आज यहां गांधी जयंती के अवसर पर हजरतगंज स्थित क्षेत्रीय श्री गांधी आश्रम में आयोजित एक कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें अपनी भावभीनी श्रद्धांजलि दी। श्री यादव ने चरखा काता तथा गांधी आश्रम द्वारा तैयार किए गए नवीन वस्त्र डेनिम खादी का लोकार्पण भी किया।
श्री यादव ने कहा कि गांधी जी के सपनों को साकार करने के लिए गांव, गरीब और किसान की खुशहाली जरूरी है। यह भी आवश्यक है कि किस प्रकार गरीब जनता के दुःख-दर्द को कम किया जाए। इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए राज्य सरकार अनेक उपाय कर रही है। महात्मा गांधी की जयंती एक ऐसा अवसर है, जब हम सब को गांव में रहने वाले गरीबों के बारे में खास तौर पर सोचना चाहिए। उन्होंने संसाधनों का सदुपयोग किए जाने पर भी बल दिया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान समय में देश में आर्थिक संकट नजर आ रहा है। इसके अलावा लोगों के बीच खाई पैदा करने वाले तत्व भी मौजूद हैं। इन तमाम चुनौतियों का सामना करने की भी जरूरत है। उन्होंने कहा कि खादी से जुड़ी विभिन्न संस्थाओं की जरूरतों को पूरा करने और इनकी समस्याओं के समाधान के लिए राज्य सरकार संकल्पबद्ध है। आगामी बजट में इस संबंध में प्रावधान किया जाएगा।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन ने कहा कि गांधी जी ने ऐसे भारत का सपना देखा था, जहां सभी लोग आपसी भाईचारे और मोहब्बत के साथ रहते हैं। गांधी जी के इस सपने को साकार करने के लिए पूरी निष्ठा से काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि गांधी जयंती पर हम सब को बापू के सपनों के अनुरूप देश व प्रदेश के निर्माण का संकल्प लेना चाहिए। इसके पूर्व, गांधी आश्रम के मंत्री रामेश्वर नाथ मिश्र ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए संस्था की विभिन्न गतिविधियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने खादी संस्थाओं की पिछले 5-6 साल की लम्बित धनराशि का वर्ष 2012 में राज्य सरकार द्वारा भुगतान किए जाने के लिए मुख्यमंत्री के प्रति आभार भी व्यक्त किया। इस अवसर पर खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री कैलाश यादव, खाद्य एवं रसद तथा कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, पूर्व मंत्री भगवती सिंह, पूर्व मंत्री डा. अशोक बाजपेई, मुख्यमंत्री के परामर्शी आमोद कुमार सहित खादी संस्थाओं के कार्यकर्तागण एवं अन्य गणमान्य नागरिक मौजूद थे।
महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की
 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर जी.पी.ओ. स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की।
इस अवसर पर खाद्य एवं रसद मंत्री राजेन्द्र चौधरी तथा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अहमद हसन भी उपस्थित थे।
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर नमन किया
उत्तर प्रदेश के राज्यपाल बी.एल. जोशी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर विधान भवन के तिलक हाल में आयोजित एक कार्यक्रम में उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया।
‘वंदे मातरम’ गायन से कार्यक्रम की शुरुआत के पश्चात् महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी अविस्मरणीय घटनाओं पर प्रकाश डाला गया। कार्यक्रम के दौरान महात्मा गांधी के कई प्रिय भजनों का गायन भी प्रस्तुत किया गया। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रगान से हुआ। इस अवसर पर स्वतंत्रता संग्राम सेनानीगण, मुख्य सचिव जावेद उस्मानी समेत वरिष्ठ प्रशासनिक, पुलिस अधिकारियों के अलावा, समाजसेवी तथा सेना की मध्य कमान के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी कार्यालय, लखनऊ में महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्रों पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि देते हुए।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समाजवादी पार्टी कार्यालय, लखनऊ में महात्मा गांधी एवं लाल बहादुर शास्त्री जी के चित्रों पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि देते हुए।

Leave a Reply