बिजली को ठीक करने के प्रयास कर रही है सरकार: अखिलेश

बिजली को ठीक करने के प्रयास कर रही है सरकार: अखिलेश
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और एल. एण्ड टी. के अध्यक्ष ए.एम. नायक
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और एल. एण्ड टी. के अध्यक्ष ए.एम. नायक
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने राज्य की ऊर्जा आवश्यकताओं को पूरा करने के उद्देश्य से सभी बिजली परियोजनाओं को शीघ्रातिशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। श्री यादव ने यह निर्देश आज लखनऊ में अपने सरकारी आवास 5, कालिदास मार्ग पर आयोजित एक बैठक के दौरान दिए। बैठक में प्रमुख सचिव ऊर्जा संजय अग्रवाल के अतिरिक्त एल0 एण्ड टी0 के अध्यक्ष ए0एम0 नायक, पूर्णकालिक निदेशक एवं अध्यक्ष एस0एन0 राय, एम0डी0 राजिन्दर विज तथा कम्पनी के अन्य अधिकारी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री ने अपेक्षा की कि एल0 एण्ड टी0 राज्य में चल रही विभिन्न विद्युत परियोजनाओं को पूर्ण करने में मदद करेगी। उन्होंने कहा कि इससे इन परियोजनाओं को जल्द पूरा करने में सहायता मिलेगी। इनके पूर्ण हो जाने से प्रदेश में विद्युत उत्पादन बढ़ जाएगा, जिससे लोगों को भरपूर बिजली मिल सकेगी। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश की विद्युत आवश्यकताओं के प्रति अत्यंत संवेदनशील है और विद्युत आपूर्ति में सुधार के सारे प्रयास कर रही है।
ज्ञातव्य है कि इस समय प्रदेश में विभिन्न विद्युत परियोजनाएं चल रही हैं। इनमें से पांच पर बैठक के दौरान चर्चा हुई। जिन योजनाओं पर चर्चा हुई वे हैं, टाण्डा विद्युत परियोजना (2ग्660 मे0वा0), हरदुआगंज तापीय परियोजना (1ग्660 मे0वा0), बिल्हौर-कानपुर नगर में स्थापित की जा रही 2ग्660 मे0वा0 की विद्युत परियोजना, करछना तापीय परियोजना (2ग्660 मे0वा0) तथा घाटमपुर तापीय परियेाजना (3ग्660 मे0वा0)।
टाण्डा विद्युत परियोजना (2ग्660 मे0वा0) का निर्माण कार्य मै0 एन0टी0पी0सी0 द्वारा कराया जा रहा है। इस परियोजना हेतु 325 हेक्टेयर भूमि में से 179 हेक्टेयर भूमि का कब्जा प्राप्त हो गया है तथा शेष भूमि के लिए आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता पर की जा रही है। चर्चा के दौरान भूमि अधिग्रहण की समस्त कार्यवाही को एक माह में पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए गए।
हरदुआगंज तापीय परियोजना (1ग्660 मे0वा0) की सुपर क्रिटिकल इकाई की स्थापना का कार्य उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम द्वारा कराया जा रहा है। बैठक के दौरान इस परियोजना हेतु ई0पी0सी0 कान्ट्रैक्टर के चयन हेतु निविदा विशिष्टीकरण माह दिसम्बर में पूर्ण किए जाने के निर्देश दिए गए ताकि जनवरी, 2014 के द्वितीय सप्ताह में ई0पी0सी0 कान्ट्रैक्टर के चयन के सम्बन्ध में निविदा प्रकाशन सम्बन्धी कार्यवाही प्रारम्भ की जा सके।
बिल्हौर-कानपुर नगर में स्थापित की जा रही 2ग्660 मे0वा0 की विद्युत परियोजना की स्थापना का कार्य एन0टी0पी0सी0 द्वारा कराया जा रहा है। इसके अन्तर्गत भूमि के अधिग्रहण हेतु धारा-4 एवं 6 का प्रकाशन कर दिया गया है। बैठक में भूमि के अधिग्रहण हेतु समस्त आवश्यक औपचारिकताएं प्राथमिकता पर पूर्ण करने के निर्देश दिए गए।
करछना तापीय परियोजना (2ग्660 मे0वा0) के भूमि अधिग्रहण कार्यों में और गति लाए जाने के निर्देश दिए गए। वर्तमान में इस परियोजना हेतु विकासकर्ता संगम पावर जनरेशन कम्पनी लि0 (जय प्रकाश एसोसिएट्स) की रजामंदी न होने की दशा में अन्य विकासकर्ता के माध्यम से उपयुक्त विकल्प निकालने के निर्देश दिए गए ताकि इसका निर्माण कार्य प्रारम्भ किया जा सके।
घाटमपुर तापीय परियोजना (3ग्660 मे0वा0) की स्थापना निवेली लिग्नाइट कारपोरेशन एवं उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उत्पादन निगम लि0 के संयुक्त उपक्रम द्वारा की जा रही है। इस हेतु आवश्यक भूमि अधिग्रहण की कार्यवाही प्रगति पर है। सात ग्रामों का भूमि अधिग्रहण कर लिया गया है शेष एक ग्राम की भूमि अधिग्रहण का कार्य भी प्रगति पर है। इस परियोजना से सम्बन्धित बायलर एवं टरबाइन निविदाओं का निस्तारण प्रगति पर है। बैठक मंे बी0ओ0पी0 निविदा का प्रकाशन भी शीघ्र सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए। बैठक में मैसर्स एल0 एण्ड टी0 के अधिकारियों द्वारा आश्वस्त किया गया कि प्रदेश में विद्युत की उपलब्धता बढ़ाए जाने की दिशा में एल0 एण्ड टी0 द्वारा सक्रिय भागीदारी की जाएगी तथा वांछित कार्यों को एक निश्चित समय सीमा के अन्दर पूर्ण किया जाएगा।
मुख्यमंत्री द्वारा बैठक में प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों, जहाँ वर्तमान में 10 घण्टे की आपूर्ति की जा रही है, को वर्ष 2016 तक बढ़ाकर 16 घण्टे किए जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही किए जाने के निर्देश दिए। वर्तमान में प्रदेश में विद्युत उपलब्धता एवं मांग में लगभग 3 हजार मे0वा0 की कमी है, जिसको केस-1 बिडिंग के अन्तर्गत क्रय किए जाने की कार्यवाही की जा रही है। विद्युत की वर्तमान उपलब्धता 9500 मे0वा0 से बढ़ाकर वर्ष 2016 तक 20,000 मे0वा0 किए जाने की भी कार्यवाही की जा रही है।

Leave a Reply