बदायूं के 18 कासगंज एवं 61 गांव जिला सम्भल में गये

बदायूं के 18 कासगंज एवं 61 गांव जिला सम्भल में गये

 

  • कासगंज के दो गांव बदायूं में शामिल, तीन जनपदों के जिला एवं पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने लिया निर्णय
कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में राजस्व वसूली की समीक्षा करते अधिकारीगण
कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में राजस्व वसूली की समीक्षा करते अधिकारीगण

जनपद बदायूं, कासगंज तथा सम्भल के जिला एवं पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की संयुक्त सहमति पर थाना कादरचौक के 10, थाना उसहैत के 08 ग्रामों को जनपद कासगंज के थाना सिकन्दरपुर वैश्य में सम्मिलित किए जाने के साथ ही जरीफनगर थाने के 61 गांव जनपद सम्भल में सम्मिलित किए जाएंगे।
कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में जिलाधिकारी बदायूं, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अतुल सक्सेना तथा जनपद कासगंज के जिलाधिकारी मासूम अली सरवर, पुलिस अधीक्षक विनय कुमार यादव एवं जनपद सम्भल के पुलिस क्षेत्राधिकारी महेश कुमार के साथ ही एसपी सिटी एमएस चौहान, एसपी आरए ओमप्रकाश यादव, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व शीलधर यादव तथा नगर मजिस्ट्रेट निधी श्रीवास्तव के साथ आयोजित बैठक में निर्णय लिया गया कि कछला के दो वार्ड लक्ष्मीनगला तथा पंखिया नगला बदायूं की तहसील सदर के राजस्व प्रशासन में होने के साथ ही पुलिस थाना कोतवाली सोंरों जनपद कासगंज क्षेत्रान्तर्गत आते थे इसलिए कछला के इन वार्डों को जनपद बदायूं में शामिल करने का निर्णय लिया गया है।
जनपद कासगंज की तहसील पटियाली अन्तर्गत बदायूं जनपद के थाना कादरचौक के 10 तथा थाना उसहैत के 8 ग्रामों को तहसील पटियाली अन्तर्गत होने के कारण कासगंज के थाना सिकन्दरपुर वैश्य में सम्मिलित किया जाएगा। इसी प्रकार बदायूं जनपद के थाना जरीफनगर के 61 ग्राम जनपद सम्भल की तहसील  गुन्नौर क्षेत्रान्तर्गत होने के कारण सम्भल जनपद की थाना कोतवाली गुन्नौर क्षेत्रान्तर्गत में सम्मिलित किए जाने हेतु सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया है।
लगभग चार घण्टे चली बैठक में निर्णय हुआ कि जो ग्राम जिस जनपद के राजस्व प्रशासन के आते हैं, वह ग्राम उसी जनपद के पुलिस प्रशासन क्षेत्रान्तर्गत आ जाने से कई प्रकार की समस्याओं के समाधान में कोई असुविधा नहीं होगी। लिए गए निर्णयों को शासन स्तर पर अंतिम स्वीकृति हेतु भेजा जाएगा।

उधर आज कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व शीलधर यादव के साथ राजस्व वसूली की समीक्षा करते हुए राजस्व वसूली में एआरटीओ विभाग के पिछड़ने पर जिलाधिकारी ने कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि बरेली के साथ बदायूं का अतिरिक्त कार्य देख रहे एआरटीओ के बैठक में उपस्थित न होने पर कड़ी नाराजगी जताते हुए कहा कि उनके खिलाफ उच्चाधिकारियों को लिखा जाए। बैठक में मौजूद एआरटीओ कार्यालय के यात्री माल कर अधिकारी योगेन्द्र कुमार को निर्देश देते हुए कहा कि जब से बदायूं के एआरटीओ पदोन्नति पर गए हैं तब से लगातार राजस्व वसूली पिछड़ रही है। उन्होंने कहा कि राजस्व वसूली बढ़ाने हेतु डग्गामार वाहनों पर कड़ा प्रतिबन्ध लगाया जाए।
तहसील बदायूं में वाणिज्यकर, मोटरवाहन, विद्युत एवं बैंक देयों की वसूली संतोष जनक न पाए जाने के साथ ही कर-करेत्तर में स्टाम्प, आबकारी परिवहन विभाग की वसूली मासिक लक्ष्य से कम पाई गई। जिलाधिकारी ने कहा है कि राजस्व वसूली बढ़ाने हेतु ट्रेक्टर आदि पकड़ कर राजस्व वसूली बढ़ाई जाए। इस अवसर पर समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदारों के साथ ही अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply