फर्जी निकले प्रणब के हस्ताक्षर

फर्जी निकले प्रणब के हस्ताक्षर
परेशान प्रणब मुखर्जी

 

भारतीय सांख्यिकी संस्थान आईएसआई के चेयरमैन पद से दिए गए इस्तीफे पर प्रणब मुखर्जी के हस्ताक्षर किसी और ने बनाए हैं। यह दावा फिंगर प्रिंट  एक्सपर्ट ने किया है। पीए संगमा ने प्रणब के हस्ताक्षर के नमूने वाले कुछ कागजात एक्सपर्ट को दिये थे। संगमा और उनके पक्ष के लोगों का दावा है कि प्रणब मुखर्जी ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी खारिज होने से बचने के लिए भारतीय साख्यिकी संस्थान के चेयरमैन के पद से इस्तीफा उनके खुलासे के बाद भेजा, साथ ही उस पर हस्ताक्षर किसी और ने किए। यही साबित करने के लिए संगमा की ओर से हस्ताक्षर विशेषज्ञ को प्रणब के हस्ताक्षरों के नमूने भेजे गए। दस्तावेजों में 20 जून को आईएसआई के अध्यक्ष को प्रणब की तरफ से भेजे गए इस्तीफे की कापी और रिटर्निग अफसर को 3 जून को भेजे गए जवाब की कापी के साथ एफीडेविट जांच करने के लिए भेजा गया था। विशेषज्ञ की रिपोर्ट के अनुसार रिटर्निग अफसर को भेजे गए जवाब और आईएसआई अध्यक्ष को भेजे गए इस्तीफे पर मौजूद हस्ताक्षर भिन्न हैं। हस्ताक्षरों में अंतर स्पष्ट है, इसलिए हस्ताक्षरों में असमानता को संयोग नहीं कहा जा सकता। संगमा पक्ष ने एक्सपर्ट की जांच रिपोर्ट चुनाव आयोग को भेज दी है। गौरतलब है कि संगमा और उनकी टीम यह साबित करना चाहती है कि राष्ट्रपति पद के चुनाव का पर्चा भरते समय प्रणब मुखर्जी आईएसआई के चेयरमैन के रूप में लाभ के पद पर विराजमान थे।

 

Leave a Reply