प्रदेश की खुशहाली को सरकार गंभीर: मुख्यमंत्री

प्रदेश की खुशहाली को सरकार गंभीर: मुख्यमंत्री
  • शहरी व ग्रामीण इलाकों के गरीबों को आवास उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार योजनाएं क्रियान्वित कर रही है 
लखनऊ के सुशान्त गोल्फ सिटी टाउनशिप में आर्थिक रूप से दुर्बल एवं अल्प आय वर्ग के लाभार्थियों को आवास आवंटित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में मख्यमन्त्री अखिलेश यादव
लखनऊ के सुशान्त गोल्फ सिटी टाउनशिप में आर्थिक रूप से दुर्बल एवं अल्प आय वर्ग के लाभार्थियों को आवास आवंटित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में मख्यमन्त्री अखिलेश यादव
मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि राज्य सरकार उत्तर प्रदेश को खुशहाली के रास्ते पर ले जाने के लिए गम्भीरता से प्रयास कर रही है। इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए प्रत्येक क्षेत्र में तेजी से कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री आज लखनऊ के सुशान्त गोल्फ सिटी टाउनशिप में आर्थिक रूप से दुर्बल एवं अल्प आय वर्ग के लाभार्थियों को आवास आवंटित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इन आवासीय भवनों का निर्माण अंसल ए0पी0आई0 द्वारा राज्य सरकार की हाईटेक टाउनशिप नीति की व्यवस्थानुसार किया गया है।
श्री यादव ने इस मौके पर 11 आवंटियों को चाभी सौंपकर आवासीय भवनों का स्वामित्व प्रदान किया। इन श्रेणियों के लोगों के लिए 180 भवनों का निर्माण पूर्ण हो चुका है। इसके अलावा संस्था द्वारा इस टाउनशिप में इन आय वर्गाें के लिए 10 हजार आवासीय भवन और बनाए जाएंगे, जिनके निर्माण कार्य का शुभारम्भ भी मुख्यमंत्री ने किया।
अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि लोगों के जीवन का एक लक्ष्य यह भी होता है कि उनका अपना घर हो। इसे हासिल करना एक चुनौती पूर्ण कार्य होता है। शहरों में रोजी-रोटी की तलाश में आए लोगों, विशेष रूप से कमजोर व गरीब वर्गों के लोगों को आवास की दिक्कत होती है। राज्य सरकार इस समस्या का समाधान करने का प्रयास कर रही है। निजी क्षेत्र के निर्माणकर्ताओं को भी इस समस्या के निदान में सहयोग प्रदान करना चाहिए। उनहोंने आशा व्यक्त कि निर्धन वर्गों के लिए आज जिन आवासीय भवनों के निर्माण कार्य की शुरूआत हुई है, संस्था द्वारा उनका निर्माण समय से पूरा किया जाएगा।
श्री यादव ने कहा कि नगरीय व ग्रामीण इलाकों में रहने वाले निर्धन वर्ग के लोगों को आवास उपलब्ध कराने के लिए राज्य सरकार द्वारा योजनाएं क्रियान्वित की जा रही है। इसके तहत शहरी गरीबों को आवास उपलब्ध कराने के लिए आसरा योजना संचालित की जा रही है। ग्रामीण इलाकों में रहने वाले आवास विहीन परिवारों को आवास उपलब्ध कराने के लिए लोहिया ग्रामीण आवास योजना संचालित की जा रही है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि लखनऊ प्रदेश की राजधानी होने के साथ ही तेजी से विकसित होने वाला एक महानगर भी है। उनहोंने कहा कि दिल्ली से कलकत्ता के बीच लखनऊ सबसे बड़ा शहर है। इसे ध्यान में रखकर प्रदेश सरकार लखनऊ के सुनियोजित विकास के लिए कार्य कर रही है। प्रमुख सचिव आवास एवं शहरी नियोजन तथा सूचना सदाकान्त ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आम जनता को कम लागत के मकान उपलब्ध कराने के विशेष निर्देश दिए हैं। इसके दृष्टिगत राज्य सरकार हाउसिंग सेक्टर पर बहुत अधिक ध्यान दे रही है। प्रदेश सरकार की मंशा है कि इस क्षेत्र का विकास हो, ताकि लोगों की आवासीय समस्या का समाधान हो सके। उन्होंने कहा कि वर्तमान वित्तीय वर्ष में आवास विकास परिषद, विभिन्न विकास प्राधिकरणों तथा निजी बिल्डरों के माध्यम से दुर्बल आय वर्ग एवं अल्प आय वर्ग के लिए लगभग 50 हजार आवास निर्मित कराए जाने का लक्ष्य है, जिसे आगामी वित्तीय वर्ष में दोगुना किया जाएगा। उन्होंने कहा कि लखनऊ के चारों ओर विकास की अपार संभावना को ध्यान में रखते हुए अनेक योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इनमें चक गंजरिया की विभिन्न परियोजनाओं के साथ-साथ मेट्रो रेल तथा आवास विकास परिषद की अवध विहार एवं वृन्दावन आवासीय योजनाएं शामिल हैं। इसके पूर्व, अंसल ए0पी0आई0 के अध्यक्ष सुशील अंसल ने अतिथियों का स्वागत किया। संस्था के प्रबन्ध निदेशक पी0एन0 मिश्रा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। इस अवसर पर कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, सांसद सुशीला सरोज, विधायक शारदा प्रताप शुक्ला, रविदास मेहरोत्रा एवं चन्द्रा रावत सहित अन्य जनप्रतिनिधि तथा शासन एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply