पीड़ितों को इंसाफ और दोषियों को सजा मिलेगी: सहाय

पीड़ितों को इंसाफ और दोषियों को सजा मिलेगी: सहाय
  • उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश श्विष्णु सहाय की अध्यक्षता में गठित आयोग ने मुजफ्फरनगर दंगे की जांच शुरू की 
 
पीड़ितों को इंसाफ और दोषियों को सजा मिलेगी: सहाय
पीड़ितों को इंसाफ और दोषियों को सजा मिलेगी: सहाय
जनपद मुजफ्फरनगर में हुए दंगो की जांच के लिए राज्य सरकार द्वारा उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश विष्णु सहाय की अध्यक्षता में गठित जांच आयोग द्वारा न्यायिक जांच आरम्भ कर दी गई है। श्री सहाय ने आज सर्वप्रथम जनपद मुजफ्फरनगर के ग्राम कवाल व मलिकपुरा में जाकर मृतक परिवारों से बातचीत करते हुए कहा कि सबके साथ इंसाफ किया जाएगा तथा दोषियों को सजा मिलेगी। सेवानिृवत्त न्यायाधीश ने कहा कि दंगो के सम्बन्ध में अगर किसी भी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की कोई जानकारी अथवा तथ्य का पता है, तो वह बिना डरे जांच आयोग के कैम्प कार्यालय (निरीक्षण भवन, कूकडा मण्डी, मुजफ्फरनगर) में किसी भी समय शपथ पत्र के माध्यम से सूचना उपलब्ध करा सकता है।
श्री सहाय ने ग्राम कवाल व ग्राम मलिकपुरा मे जाकर मृतक परिवारों से बातचीत करते हुए कहा कि सभी पीड़ितों को न्याय दिलाया जाएगा तथा जांच पूर्णतया निष्पक्षता के साथ की जाएगी और जो भी इसमें दोषी हैं, उन्हें सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि जांच 4 बिन्दुओं पर केन्द्रित रहेगी। दंगे का कारण, सरकारी अधिकारियों द्वारा दंगे के समय की गई कार्यवाही, भविष्य में दंगा रोकने के उपाय तथा दंगे के जिम्मेदार कौन है।
जांच आयोग ने ग्राम कवाल व मलिकपुरा के बाद 7 सितम्बर को आयोजित हुई पंचायत के स्थल नंगला मदौड का भी निरीक्षण किया। उसके बाद ग्राम जौली नहर पटरी पर भी जाकर निरीक्षण किया। उसके बाद पुरबालियान, बसधाड़ा में लोगों से मिलें और दंगो के बारे में पूछताछ भी की।
तत्पश्चात् बुढ़ाना तहसील के शाहपुर कस्बे में चल रहे राहत शिविर, बसी कलां, व शाहपुर कस्बे मे जाकर दंगा प्रभावित लोगांे से सम्पर्क किया तथा राहत सामग्री की उपलब्धता के सम्बन्ध मे जानकारी प्राप्त की। पूर्व न्यायाधीश विष्णु सहाय ने वहां के लोगों से कहा कि अगर किसी भी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की कोई जानकारी अथवा तथ्य का पता है तो वह बिना डरे जांच आयोग के कैम्प कार्यालय (निरीक्षण भवन, कूकडा मण्डी, मुजफ्फरनगर) में किसी भी समय शपथ पत्र के द्वारा सूचना उपलब्ध करा सकता है। इस अवसर पर मुजफ्फरनगर के अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व राजेश कुमार श्रीवास्तव, क्षेत्रवार एस0डी0एम0, तहसीलदार मौजूद थे।