पिछली सरकार में स्वास्थ्य सेवायें ध्वस्त थीं: मुख्यमंत्री

पिछली सरकार में स्वास्थ्य सेवायें ध्वस्त थीं: मुख्यमंत्री
  • मुख्यमंत्री द्वारा डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय में स्थापित बाल रोग विभाग के नव-निर्मित भवन का लोकार्पण किया गया
  • प्रदेश की समाजवादी सरकार गरीबों के अलावा प्रदेश के सभी लोगों को उकृष्ट स्वास्थ्य सेवायें उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध: मुख्यमंत्री
 
दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश की समाजवादी सरकार गरीबों के अलावा प्रदेश के सभी लोगों को उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि लोगों के स्वास्थ्य के प्रति सरकार के सरोकार का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि मात्र 16 माह के अपने छोटे से कार्यकाल में सरकार ने एक तरफ बंद पड़े मेडिकल कालेजों को पुनर्संचालित करवाया है, वहीं दूसरी तरफ नए मेडिकल कालेजों की स्थापना की कार्रवाई भी की है। उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हुआ है कि मेडिकल की पढ़ाई में प्रवेश लेने के लिए 500 सीटें एक साथ बढ़ी हों। साथ ही, झांसी, गोरखपुर और सैफई में 500 बेड के अस्पताल स्थापित करने की योजना है।

मुख्यमंत्री ने यह विचार आज यहां डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी (सिविल) चिकित्सालय के बाल रोग विभाग के नवनिर्मित भवन के लोकार्पण के अवसर पर व्यक्त किए। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में डाक्टरों तथा अन्य कर्मचारियों की कमी को दूर करने की दिशा में भी सरकार कार्य कर रही है, ताकि लोगों को सुचारु रूप से स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकें। इस अस्पताल में स्थापित बाल रोग विभाग द्वारा बच्चों को गुणवत्तापरक स्वास्थ्य सुविधाएं मुफ्त उपलब्ध कराई जाएंगी।
श्री यादव ने कहा कि पिछली सरकार के कार्यकाल के दौरान प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाएं एकदम ध्वस्त हो गईं थीं, जिन्हें प्रदेश के चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अहमद हसन के कुशल नेतृत्व में पुनः पटरी पर लाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की सेवाओं में अब सुधार परिलक्षित भी हो रहा है। लोगों को मुफ्त गुणवत्तापरक इलाज तथा दवाएं मिल रही हैं। ओपीडी में मरीजों की संख्या बढ़ी है। सरकारी अस्पतालों में इलाज के लिए आने वाले मरीजों की संख्या भी पहले से बढ़ी है, जिससे पता लगता है कि लोगों को अब स्वास्थ्य सेवाओं पर पूरा भरोसा है।
इस अवसर पर विकास की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार प्रदेश के सर्वांगीण विकास के सारे प्रयास कर रही है। किसानों को मुफ्त सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई गई है और उनकी फसल का वाजिब मूल्य भी दिया जा रहा है। अपने वादे को पूरा करते हुए सरकार ने बड़े पैमाने पर लैपटाप बँटवाए हैं, जिससे नौजवान छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में सुविधा भी होगी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के छात्रों को तकनीकी के भय से भी निजात मिलेगी। सरकार के इस फैसले के दूरगामी प्रभाव होंगे। यही नहीं प्रदेश सरकार सड़क, अवस्थापना सुविधाओं तथा बिजली व्यवस्था को सुधारने के लगातार प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि शहरों वाली सुविधाएं गांवों में उपलब्ध कराने की भी व्यवस्था की जा रही है। श्री यादव ने कहा कि अगर शहरों में फ्लाईओवरों का निर्माण करवाया जा रहा है, तो ग्रामीण क्षेत्रों में नदियों पर पुलों का भी निर्माण कराया जा रहा है।
लोकार्पण के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
लोकार्पण के अवसर पर उपस्थित लोगों को संबोधित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने बाल रोग विभाग भवन का लोकार्पण फीता काटकर एवं बटन दबाकर किया। उन्होंने इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप प्रज्ज्वलित कर किया। उन्होंने नवनिर्मित भवन का अवलोकन भी किया। कार्यक्रम को चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अहमद हसन ने भी सम्बोधित किया। अपने सम्बोधन में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश की स्वास्थ्य सेवाओं में बड़ा बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि 50 शैय्याओं वाले बाल रोग विभाग के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री ने बहुत सहायता उपलब्ध कराई, जिससे इसकी स्थापना में कोई दिक्कत नहीं हुई। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने गरीबों के दर्द को समझा और अपने को उनकी कठिनाइयों से जोड़ा, जिससे इस बाल रोग विभाग की स्थापना की प्रेरणा मिली। अतः इस वातानुकूलित बाल रोग विभाग में बच्चों का मुफ्त इलाज किया जाएगा। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य है, जहां मरीजों को मुफ्त एम्बुलेंस सेवा उपलब्ध कराई जा रही है।

इस अवसर पर प्रदेश मंत्रिमण्डल के सदस्य बलराम यादव, अम्बिका चौधरी, अवधेश प्रसाद, राजेन्द्र चौधरी, शंखलाल मांझी, नितिन अग्रवाल, शासन प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, प्रमुख सचिव चिकित्सा प्रवीर कुमार, डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी चिकित्सालय के सीएमएस, चिकित्सकगण, पैरामेडिकल स्टाफ तथा बड़ी संख्या में अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply