पिछली सरकार के पांच वर्षों से ज्यादा काम दो वर्ष में किया

पिछली सरकार के पांच वर्षों से ज्यादा काम दो वर्ष में किया
 
  • हस्तशिल्प के क्षेत्र में काम करने वालों के लिए लखनऊ में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का एक मार्केटिंग हब बनाए जाने की योजना: मुख्यमंत्री 
लखनऊ में संगीत नाट्य अकादमी में मुस्लिम बुद्धिजीवियों के एक सेमिनार को सम्बोधित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
लखनऊ में संगीत नाट्य अकादमी में मुस्लिम बुद्धिजीवियों के एक सेमिनार को सम्बोधित करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि पिछले दो वर्षों में राज्य सरकार द्वारा जनता के खजाने का पैसा सीधे जनता को लौटाने के उद्देश्य से कई जनोन्मुखी योजनाएं चलाई हैं। कन्या विद्याधन, हमारी बेटी-उसका कल, बेरोजगारी भत्ता तथा निःशुल्क लैपटॉप वितरण योजना की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश को खुशहाली एवं तरक्की की ओर ले जाना चाहती है। सरकार ने विगत दो सालों में राज्य के विकास के लिए जितना काम किया है अन्य किसी प्रदेश सरकार ने पांच वर्षों में भी इतना नहीं कर पाई हैं।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ में संगीत नाट्य अकादमी में मुस्लिम बुद्धिजीवियों के एक सेमिनार को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि यदि पढ़ाई, दवाई तथा आधारभूत संरचना से जुड़ी सुविधाएं जनता को मुहैया करा दी जाएं, तो कारोबार अपने आप बढ़ता है तथा तरक्की और खुशहाली आती है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार इन्हीं उद्देश्यों को लेकर विकास कार्यों को आगे बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि राज्य के सभी जनपदों को चारलेन की सड़कों से जोड़े जाने के साथ ही अन्य दूरवर्ती क्षेत्रों में सड़कों के चौड़ीकरण का काम किया जा रहा है।
श्री यादव ने कहा कि मऊ, आजमगढ़ तथा अम्बेडकर नगर जैसे बुनकर बाहुल्य के जनपदों में बिना रूकावट के सही वोल्टेज की बिजली देने के लिए विद्युत व्यवस्था में आमूल परिवर्तन का फैसला लिया है। मऊ एवं आजमगढ़ के बारे में फैसला किया गया है। अम्बेडकर नगर के विषय में शीघ्र ही निर्णय लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार बुनकरों, जरदोजी का काम करने वालों, चिकन का काम करने वालों की परेशानियों को समझती है और उनके लिए बेहतर सुविधाओं की व्यवस्था करना चाहती है। उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प के क्षेत्र में काम करने वालों के लिए लखनऊ में अन्तर्राष्ट्रीय स्तर का एक मार्केटिंग हब 30 एकड़ की जमीन में बनाए जाने की योजना है। जहां पर हस्तशिल्प में काम करने वाले लोग अपने शिल्प का प्रदर्शन और व्यवसाय निःशुल्क कर सकेंगे। मऊ में भी एक ऐसा ही मार्केटिंग हब बनाए जाने की योजना है। उन्होंने कहा कि हस्तशिल्प के क्षेत्र में काम करने वाले कामगारों की समस्याओं के समाधान के लिए काम किया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि 12वीं पास विद्यार्थियों को लैपटॉप के वितरण से प्रदेश का कोई गांव अथवा मोहल्ला ऐसा नहीं बचा, जहां लैपटॉप न पहुंच गया हो। उन्होंने कहा कि बहुत सारे लोग इसके माध्यम से नई तकनीक से परिचित हो रहे हैं तथा बहुत सारे लोग कारोबार में भी मदद ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार अल्पसंख्यक समुदाय के हितों के लिए कृतसंकल्प है।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री अहमद हसन द्वारा स्वास्थ्य सुविधाओं के सुधार के लिए किए गए कार्यों की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि श्री हसन ने मेहनत और ईमानदारी से काम करके स्वास्थ्य विभाग को पटरी पर ला दिया है। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की एजेन्सियां भी मानती हैं कि उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने पिछले दो वर्षों में अन्य प्रदेशों की अपेक्षा बेहतर काम किया है। उन्होंने कहा कि 108 समाजवादी एम्बुलेंस सेवा तथा 102 नेशनल एम्बुलेन्स सेवा केवल एक फोन पर अपनी सेवाएं उपलब्ध कराती हैं। इन दोनों सेवाओं के माध्यम से 15 हजार से अधिक लोगों को रोजगार भी मिला है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि मुजफनगर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण थी। प्रदेश सरकार ने इसको रोकने के लिए तुरन्त प्रभावी कदम उठाए। उन्होंने कहा कि घटना को नियंत्रित करने के लिए फौज बुलाने में भी देरी नहीं की गई। उन्होंने कहा कि घटना के बाद पीडि़तों के लिए हर सम्भव मदद उपलब्ध कराई गई। पीडि़त परिवारों को नौकरियां दी गई। उन्होंने कहा कि मानवाधिकार आयोग भी मुजफरनगर में प्रदेश सरकार के प्रयासों से संतुष्ट है। इस मौके पर उन्होंने पत्रिका ‘आईना, 2013-14’ का विमोचन भी किया।
चिकित्सा, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री अहमद हसन ने सेमिनार को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि स्वास्थ्य विभाग में जो भी कार्य हुआ है वह मुख्यमंत्री की प्रेरणा एवं सहयोग से ही हुआ है। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि आने वाले तीन सालों में प्रदेश बहुत तरक्की करेगा। इस अवसर पर कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी, उ0प्र0 संगीत नाट्य अकादमी के अध्यक्ष नावेद सिद्दीकी, विधायक अजीमुल हक, मऊ नगर पालिका के चेयरमैन शाहिना अरशद जमाल, मोहम्मद हसन डिग्री कालेज जौनपुर के प्राचार्य अब्दुल कादिर, अन्य मुस्लिम बुद्धिजीवी जनप्रतिनिधि तथा गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

Leave a Reply