पर्यटकों को विश्वस्तरीय सुविधायें मिलेंगी: मुख्य सचिव

पर्यटकों को विश्वस्तरीय सुविधायें मिलेंगी: मुख्य सचिव
  • ताजगंज क्षेत्र का विकास पर्यटकों को करेगा आकर्षित
अधीनस्थों को दिशा-निर्देश देते उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव जावेद उस्मानी
अधीनस्थों को दिशा-निर्देश देते उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव जावेद उस्मानी
ताजमहल के आस-पास बेहतर पर्यटक सुविधाएं उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से ताजगंज प्रोजेक्ट के अन्तर्गत सड़कें, फुटपाथ, सीवरेज, साफ-सफाई तथा मलिन बस्तियों में सुधार कार्यो से क्षेत्र को और अधिक आकर्षक बनाया जायेगा। प्रदेश के मुख्य सचिव जावेद उस्मानी आज सर्किट हाउस में ताजगंज प्रोजेक्ट की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि ताजमहल देश के अग्रणी स्मारकों में से एक ऐसा स्मारक है, जिसे दुनिया के लोग देखने के लिए आते है, और हिन्दुस्तान की पहचान है। उन्होंने कहा कि संरक्षित स्मारक ताजमहल को देखने वाले पर्यटकों को वे सभी सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रयास करने होंगे, जिससे पर्यटक आगरा में कई दिन तक रूकें और जब ताजमहल के आस-पास घूमें तो उसे किसी प्रकार की परेशानी भी नही होनी चाहिए।
मुख्य सचिव ने बताया कि ताजगंज क्षेत्र एवं ताजगंज स्थित 15 मलिन बस्तियों के सुधार के अन्तर्गत सड़को को सीसी रोड तथा गलियों को इन्टर लौकिंग के माध्यम से सुधार कर पर्यटकों के भ्रमण हेतु तैयार कराना तथा 926 शौचालयों को बनाने का कार्य शुरू किया जा चुका है। उन्होंने शौचालयों को तैयार होने के पश्चात सीवर लाइन से जोड़कर जनता के प्रयोग हेतु तैयार कराने के लिए डूडा को  निर्देश दिये । जेपी क्रासिंग से ताजमहल पूर्वी द्वार तक पर्यटन सुविधाओं के विकास तथा ताजमहल पश्चिमी द्वार से पश्चिमी गेट पार्किंग तक पर्यटन सुविधाओं के विकास सहित इस परियोजना की नियोजन विभाग द्वारा 136.49 करोड़ प्रोजेक्ट के क्रियान्वयन हेतु उच्चतम न्यायालय द्वारा 15 जुलाई 2013 को अनुमति दे दी गई है। उन्होंने बताया कि इस योजना हेतु भारत सरकार पर्यटन मन्त्रालय से रूपये 24.95 करोड़ की स्वीकृति प्राप्त हो गयी है, जिसमें ताजमहल पूर्वी द्वार की तरफ के कार्य (लागत रूपये 14.73 करोड़) तथा पश्चिमी द्वार की तरफ कार्य (लागत रूपये 10.01 करोड़) प्रस्तावित है।
ताजगंज प्रोजेक्ट के अन्तर्गत 15 स्लम बस्तियों के सुधार की योजना के अन्तर्गत 912 हाउस होल्ड टायलेट्स बनाये जाने का प्राविधान किया गया है। सैम्पल टायलेट का निर्माण राजकीय निर्माण निगम द्वारा शिल्पग्राम में तैयार किया गया है, जिसे मुख्य सचिव ने शिल्पग्राम भ्रमण के दौरान निरीक्षण किया। मुख्य सचिव ने बताया कि ताजगंज प्रोजेक्ट के अन्तर्गत ओवर हेड विद्युत तारों को अण्डर ग्राउण्ड केबिलिंग के कार्य टोरन्ट पावर लिमिटेड द्वारा अपने स्रोतो से एचटी लाइन्स को अण्डर ग्राउन्ड किया जायेगा। उन्होंने इस कार्य के लिए टोरन्ट पावर लिमिटेड के उपाध्यक्ष को निर्देश  दिये कि इस कार्य को प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण कराना सुनिश्चित करें।
भारतीय पुरातत्व संरक्षण द्वारा अवगत कराया गया कि सड़कों की प्रति वर्ष मरम्मत होने के कारण सड़को की ऊंचाई बढ़ने से वर्षा का पानी ताजमहल के गेटों के अन्दर  प्रवेश करता है, जिसको रोकने के लिए सड़को का लेबल नीचा करना होगा, इस पर मुख्य सचिव ने पीडब्लूडी को निर्देश दिये कि सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों के अनुसार अनुपालन सुनिश्चित करायें।
आगरा में म्यूजियम प्रोजेक्ट स्थापित कराने  के सम्बन्ध में उन्होंने बताया कि मुगलकालीन इतिहास को उपलब्ध कराना तथा ताजमहल से सम्बन्धित जानकारी पर्यटकों बहुत ही अच्छा प्रयास होगा। उन्होंने इस सम्बन्ध मंे मण्डलायुक्त से कहा कि वे उद्योग जगत से सम्बन्धित लोगों से वार्ता करें और उन्हें आमन्त्रित कर सेमिनार आयोजित करायें, जिससे भविष्य में इस योजना का अच्छे ढंग से क्रियान्वयन कराया जा सके। उन्होंने कहा कि औद्योगिक घराने के लोगों को सम्मिलित करने से इस योजना को केवल सरकारी योजना नहीं रहने दिया जायेगा, बल्कि कारपोरेट वर्ग के सहयोग से बहुत अच्छा कराया जायेगा। म्यूजियम स्थल चयन के सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने आगरा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष को सुझाव दिया कि शिल्पग्राम से कलाकृति के मध्य स्थल चयन किया जाये एवं विद्युत विभाग को अन्यत्र स्थल पर स्थानान्तरित कर दिया जाये।
मुख्य सचिव ने शिल्पग्राम निरीक्षण के दौरान ताज महोत्सव को दिल्ली हाट की तर्ज पर आयोजित कराने का सुझाव दिया और पूरे परिसर का निरीक्षण किया। तत्पश्चात वह ताजगंज होते हुये पश्चिमी गेट पर पहुंचे जहां उन्होंने पार्किंग स्थल का जायजा लिया। मा0 मुख्य सचिव ने गांव रेहन कला क्षेत्र में प्रस्तावित थीम पार्क प्रोजेक्ट स्थल को देखा और कहा कि प्रस्तावित मनोरंजन पार्क में वह सभी सुविधाएं उपलब्ध होगीे जो आगरा वासियों के विचारों से प्रेरित हों। मुख्य सचिव ने आज प्रातः ताज नेचर वाक का भी निरीक्षण किया और प्रस्तावित प्रोजेक्ट की जानकारी ली। मुख्य सचिव के साथ मण्डलायुक्त प्रदीप भटनागर, सचिव/महा निदेशक पर्यटन संजीव सरन, आईजी पुलिस आशुतोष पाण्डेय, आगरा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष अजय चैहान, सचिव रविन्द्र कुमार डीएफओ एन.के.जानू सहित विभिन्न विभागों के वरिष्ठ अधिकारी तथा समस्त अपर जिलाधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply