निर्माण श्रमिकों के लिए चल रही हैं बेहद लाभकारी योजायें

निर्माण श्रमिकों के लिए चल रही हैं बेहद लाभकारी योजायें
साइकिल पाकर झूम उठे निर्माण श्रमिक
साइकिल पाकर झूम उठे निर्माण श्रमिक

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा प्रदेश के पंजीकृत निर्माण श्रमिकों की खुशहाली हेतु चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के तहत जिलाधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी तथा अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड के पंजीकृत निर्माण श्रमिकों को साइकिल सहायता योजना के तहत 14 साइकिलों का वितरण किया।
कलेक्ट्रेट स्थित जिलाधिकारी के कार्यालय प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी ने लाभार्थियों से कहा कि वह अपने साथियों का भी जिला श्रम कार्यालय से सम्पर्क कर पंजीकरण करा सकते हैं। साइकिल प्राप्त करने हेतु एक वर्ष पुराना पंजीकरण होना आवश्यक है। प्रति साइकिल पर श्रम विभाग द्वारा 2500 रू0 सरकारी अंश तथा शेष राशि पात्र लाभार्थी को स्वयं वहन करना होगी।
जिला श्रम प्रवर्तन अधिकारी आरपी यादव ने बताया कि पंजीकृत निर्माण श्रमिको के हितार्थ चलाई जा रही दुर्घटना सहायता योजना अन्तर्गत दुर्घटना में मृत्यु होने पर दो लाख, स्थायी विकलांगता की स्थिति में एक लाख पचास हजार तथा आंशिक विकलांगता की स्थिति में 80 हजार रू0 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। निर्माण श्रमिक के पुत्री पैदा होने पर बीस हजार, पुत्रियों की शादी हेतु 40 हजार की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराए जाने का प्रावधान है। शिशु हितलाभ योजना के तहत पुत्र के जन्म से दो वर्ष तक दस हजार तथा पुत्री पैदा होने पर 12 हजार रू0 प्रति वर्ष की दर से आर्थिक मदद की जाती है। मेधावी छात्र पुरस्कार योजना के अन्तर्गत निर्माण श्रमिकों के मेधावी बच्चों को कक्षा पांच से बारहवीं एवं उससे आगे की पढ़ाई के लिए नगद सहायता व पुरस्कार भी दिए जाते हैं।
सामान्य एवं बीमारी से मृत्यु होने पर निर्माण श्रमिकों के आश्रितों को रू0 एक लाख तथा अंत्येष्टि हेतु 15 हजार रू0 भी दिए जाने की योजना के साथ अन्य कई योजनाएं चलाई जा रही हैं।

Leave a Reply