डीएम का भी नाम न बता पाये सरकारी स्कूल के बच्चे

डीएम का भी नाम न बता पाये सरकारी स्कूल के बच्चे
  • मध्यान्ह भोजन पकाने का भी लिया जायजा और भोजन चख कर गुणवत्ता जांची
  • विशेष सचिव ने किया लोहिया ग्राम मुल्लापुर उदना उदनिया का भौतिक सत्यापन
ग्रामीणों से बात करते विशेष सचिव भरत लाल राय
ग्रामीणों से बात करते विशेष सचिव भरत लाल राय

बदायूं के सरकारी स्कूलों की प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक शिक्षा की हालत देख विशेष सचिव भरत लाल राय ने असंतोष व्यक्त करते हुए कहा कि यह स्थिति ठीक नहीं है। उन्होंने कक्षा 6 व 7 के विद्यार्थियों से प्रदेश तथा जनपद के जिलाधिकारी का नाम पूछा, तो कक्षा के विद्यार्थियों ने नो आन्सर के रूप में अपने सिर झुकाते हुए अज्ञानता जाहिर की।
विशेष सचिव ने जनपद भ्रमण के दूसरे दिन ब्लाक समरेर के लोहिया ग्राम मुल्लापुर उदना उदनिया में पहुँच कर मुख्य विकास अधिकारी उदयराज सिंह सहित अन्य अधिकारियों के साथ विकास कार्यो का स्थलीय सत्यापन किया। विशेष सचिव ने रसोई घर में जाकर पकते मध्यान्ह भोजन का निरीक्षण करने के साथ ही कच्चे खाद्यान की गुणवत्ता को परखा और पके भोजन को चख कर उसकी गुणवत्ता भी चैक की। विशेष सचिव ने क्लास रूम जाकर शिक्षा के स्तर की जांच की, तो कक्षा 6 व 7 के विद्यार्थी संयुक्त रूप से एक ही कमरे में बैठे हुए थे। विशेष सचिव ने प्रश्न करते हुए प्रदेश के मुख्य मंत्री का नाम पूछा तो विद्याार्थियों ने अखिलेश यादव का उत्तर तो दिया, परन्तु प्रदेश तथा जनपद के जिलाधिकारी का नाम पूछने पर कोई भी बच्चा नहीं बता पाया, तो विशेष सचिव ने बीएसए से कहा कि देखो यह है सरकारी स्कूलों के बच्चों का सामान्य ज्ञान। उन्होंने निर्देश दिए कि इस ओर विशेष ध्यान देते हुए सुधार सुनिश्चित कराया जाए।

विशेष सचिव ने ग्रामीणों की मौजूदगी में कराए गए विकास कार्यो का भौतिक सत्यापन करते हुए एक-एक कार्य की पुष्टि ग्रामीणों से की। उन्होंने ग्रामीणों से गांव में बनाए स्वच्छ शौचालयों का ही प्रयोग किया जाना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने विभिन्न पेंशन, आवास आवंटन, लैपटाप, बेरोजगारी भत्ता, खाद्यान एवं विद्युत आपूर्ति, पशुओं के टीकाकरण सहित अन्य तमाम विकास कार्यों एवं योजनाओं के सम्बन्ध में ग्रामीणों से जानकारी प्राप्त की। अन्त में विशेष सचिव ने ग्रामीणों से कहा कि गांव में बिजली, पानी, सड़क, शिक्षा सहित अन्य सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं, इसके अलावा कुछ और चाहिए, तो बताएं, जिस पर ग्रामीणों ने सरकारी नलकूल तथा हैण्ड पम्प और लगवाने का अनुरोध किया। विशेष सचिव ने इस सम्बन्ध में सम्बंधित अधिकारियों से कार्रवाई करने को कहा है। इस अवसर पर दातागंज के उप जिलाधिकारी वैभव मिश्र, परियोजना निदेशक डीआरडीए रामरक्षपाल सिंह, जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार सोम सहित सम्बंधित बीडीओ, सचिव, ग्राम प्रधान सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी और भारी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

Leave a Reply