झोलाझाप डाक्टर से सपा नेता बने युवक से पूरा गाँव त्रस्त

झोलाझाप डाक्टर से सपा नेता बने युवक से पूरा गाँव त्रस्त
  • पुलिस-प्रशासन के सहारे जबरन बनना चाहता है राशन डीलर
सांसद धर्मेन्द्र यादव के आवास पर देर रात प्रदर्शन करते आक्रोशित ग्रामीण
सांसद धर्मेन्द्र यादव के आवास पर देर रात प्रदर्शन करते आक्रोशित ग्रामीण

झोलाझाप डाक्टर से सपा नेता बने व्यक्ति ने गाँव में आतंक मचा रखा है, इससे भी बड़े आश्चर्य की बात यह है कि पुलिस और प्रशासन से जुड़े अधिकारी इसका खुला साथ दे रहे हैं। परेशान और आक्रोशित लोगों ने देर रात सांसद धर्मेन्द्र यादव के आवास पर पहुँच कर उनके प्रतिनिधि से इसकी मनमानी पर रोक लगाने की मांग की, लेकिन उचित जवाब न मिलने पर आक्रोशित लोग लौट गए, जिससे समूचे इलाके में सपा के विरुद्ध वातावरण बनने लगा है।

विकास खंड अंबियापुर के गाँव बेहटा जबी निवासी सैकड़ों ग्रामीणों का आरोप है कि गाँव के ही झोलाझाप डाक्टर डोरी लाल बघेल ने समाजवादी पार्टी की जिला कार्यकारिणी में किसी तरह कोई पद ले लिया है और जिस दिन से उसे पद मिला है, उस दिन से उसने गाँव में आतंक मचा रखा है। पुलिस और प्रशासन का भय दिखा कर लोगों को बेवजह परेशान करता रहता है। आरोप है कि पिछले एक महीने से प्रधान अभिषेक कुमार सिंह पर राशन डीलर बनाने का दबाव बना रहा है। प्रधान ने बताया कि उन्होंने डोरी लाल बघेल से कहा था कि गाँव की खुली बैठक में प्रस्ताव होगा, उसमें बहुमत जिसके पक्ष में होगा, वह चुना जायेगा, आप भी खड़े होना। प्रधान ने बताया कि वह जबरन अपने पक्ष में प्रस्ताव कराने का दबाव बना रहा है, जब उन्होंने ऐसा नहीं किया, तो अधिकारियों से दबाव बनवाने लगा, उन्होंने अधिकारियों से भी ऐसा न करने की बात कह दी, तो कल एडीओ पंचायत वीरपाल, सचिव राजीव कुमार और पुलिस के साथ मिल कर अपने घर पर ही प्रधान के बिना बैठक करने लगा और अपने पक्ष में प्रस्ताव करने लगा।

पुलिस और प्रशासन द्वारा ऐसा करने पर ग्रामीण आक्रोशित हो उठे और बवाल करने लगे, बुद्धिजीवियों के हस्तक्षेप के चलते किसी तरह की अप्रिय घटना तो नहीं हुई, पर आक्रोशित लोग ट्रैक्टर-ट्रालियों में भर कर पूरे प्रकरण से अवगत कराने सांसद धर्मेन्द्र यादव के आवास पर आ गये। ग्रामीणों ने बताया कि सांसद के प्रतिनिधि अवधेश यादव को डोरी लाल बघेल की मनमानी के बारे में बताने के बावजूद उन्होंने कुछ नहीं किया। बाद में जोर देने पर प्रार्थना पत्र लिख कर देने को कहने लगे। ग्रामीणों का कहना है कि इस तरह की मनमानी उन्होंने इससे पहले कभी नहीं देखी। उधर बेहटा जबी की घटना पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बनी हुई है, जिससे समाजवादी पार्टी के विरुद्ध वातावरण बन रहा है, पर सत्ताधारियों को फिलहाल यह सब नहीं दिख रहा है।

Leave a Reply