उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए: मायावती

उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए: मायावती
उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति लगा देना चाहिए: मायावती
उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए: मायावती

अखिलेश सरकार को बर्खास्त कर उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगा देना चाहिए। उक्त विचार उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री व बसपा सुप्रीमो मायावती ने लखनऊ में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में व्यक्त किये।

बसपा सुपीमो ने राज्यपाल बीएल जोशी से अनुरोध किया कि मंगलवार को लखनऊ आ रहे राष्ट्रपति को उत्तर प्रदेश की स्थिति से अवगत करायें। उन्होंने प्रदेश की बिगड़ी क़ानून व्यवस्था का उल्लेख करते हुए कहा कि लूट, डकैती, हत्या, अपहरण और बलात्कार की घटनाएं बढ़ गई हैं, लेकिन अपराधियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की बजाय अखिलेश यादव की सरकार और समाजवादी पार्टी अपराधियों को बचाने में ही पूरी ताकत लगाए हुए है। बसपा सुप्रीमो ने कहा कि सरकार के वरिष्ठ मंत्री अधिकारियों की बैठक में खुलेआम कहते हैं कि आप लोग चोरी करो, डकैती हम डालेंगे। बोलीं- वह यादव विरोधी नहीं हैं, लेकिन समाजवादी पार्टी का नजरिया यादवों को छोड़कर दूसरी पिछड़ी जातियों के साथ भेदभाव वाला है। उन्होंने बसपा कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वह समाजवादी पार्टी के आतंक से डरें नहीं, बल्कि जमकर मुकाबला करें। उन्होंने यह भी कहा कि अधिकारी खुद सपा के गुंडों से डरे और सहमे हुए हैं, ऐसे में उनसे न्याय की अपेक्षा नहीं करनी चाहिए, साथ ही कहा कि न्यायालय की शरण में जाने का सुझाव दिया।

मायावती के हमले के बाद ध्यान देने की ख़ास बात यह है कि सरकार आपराधिक वारदातों पर अंकुश लगाने की दिशा में प्रभावी कदम उठायेगी या फिर जवाबी हमला बोल कर सिर्फ राजनीति करेगी।

Leave a Reply