उत्तराखंड में जंगलराज, बलात्कार के बाद किशोरी की हत्या

उत्तराखंड में जंगलराज, बलात्कार के बाद किशोरी की हत्या
घटना के बाद रोते-विलखते परिजन
घटना के बाद रोते-विलखते परिजन

                                                         किरन कांत

दिल्ली गैंग रेप की घटना के बाद केंद्र की कॉंग्रेस सरकार ने भले ही कड़ा कानून बना दिया हो, पर उसी कॉंग्रेस शासित राज्य उत्तराखंड में बलात्कारियों के मन में कानून का कोई भय नहीं है। शौच को गई दलित किशोरी का यौन शोषण ही नहीं किया, बल्कि बेखौफ बलात्कारियों ने किशोरी को मौत के घाट उतार दिया, जिससे कोहराम मचा हुआ है।

दिल दहला देने वाली घटना हरिद्वार जिले की है। पथरी थाना क्षेत्र में आज सुबह शौच को गई एक 14 वर्षीय दलित किशोरी का अपहरण कर लिया गया और फिर दरिंदों ने यौन शोषण कर उसकी निर्दयता पूर्वक हत्या कर दी। उसका शव एक खेत से बरामद हुआ है। किशोरी नवोदय विद्यालय में सातवीं कक्षा की छात्रा थी, उसका भाई भी इसी विद्यालय में कक्षा 8 का छात्र है, इन दिनों दोनों भाई-बहन छुट्टियों के चलते घर आये हुए थे।

घटना स्थल पर मौजूद पुलिस अफसर और ग्रामीण
घटना स्थल पर मौजूद पुलिस अफसर और ग्रामीण

लड़की के पिता सोरन सिंह ने बताया कि किशोरी आज सुबह करीब आठ बजे शौच के लिए घर से गयी थी। काफी देर तक लौट कर नहीं आई, तो परिजनों को चिंता हुई और उसे ढूढ़ने लगे, लेकिन कुछ पता नहीं चला, तो घबराये परिजनों ने सूचना देकर पुलिस को बुला लिया। मगर लड़की का पता लगाने में पुलिस भी नाकामयाब रही, लेकिन परिजन खोजते रहे, तभी एक खेत में किशोरी का शव पड़ा दिख गया, जिससे हाहाकार मच गया। शव की हालत देख कर पता लगाया जा सकता है कि दरिंदों ने उसके साथ बलात्कार किया है।

घटना के बाद हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र के विधायक स्वामी यतीश्वरानंद अस्पताल पहुँच गये और पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्न चिन्ह लगाते हुए कहा कि दोषियों की तत्काल गिरफ्तारी होना चाहिए। विधायक ने साफ़ कहा कि हरिद्वार पुलिस की कार्यप्रणाली ठीक नहीं है, इसीलिए यहाँ का माहौल खराब होता जा रहा है। विधायक ने थाना प्रभारी को सस्पेंड करने की भी मांग की है।

 उधर एसएसपी राजीव स्वरूप ने मामले की जांच के लिए विशेष टीम का गठन किया है और शव के पोस्टमार्टम के लिए भी डॉक्टर का पैनल बनाया गया है।

Leave a Reply