अमर्यादित भाषा का प्रयोग मीडिया को शोभा नहीं देता

अमर्यादित भाषा का प्रयोग मीडिया को शोभा नहीं देता
कॉमनवेल्थ डेलीगेशन के अध्यक्ष एवं नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आज़म खाँ
कॉमनवेल्थ डेलीगेशन के अध्यक्ष एवं नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आज़म खाँ
उत्तर प्रदेश से यूरोपीय देशों को गये कॉमनवेल्थ डेलीगेशन के अध्यक्ष एवं नगर विकास एवं अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहम्मद आज़म खाँ ने इस दौरे को न केवल उत्तर प्रदेश, बल्कि भारत के सबसे बड़े प्रदेश द्वारा किये जा रहे नेतृत्व के लिए बड़ी उपलब्धि बताया है। उन्होंने कहा कि भारत यू0एन0ओ0 और कॉमनवेल्थ का सदस्य है और यह विषय उनके लिये सम्मान का है।
अपने लंदन स्थित कैम्प कार्यालय से कल देर शाम जारी एक बयान में आज़म खाँ ने इस बात पर बहुत दुःख व्यक्त किया है कि मीडिया द्वारा जो संदेश देने का प्रयास किया गया है, उससे राजनेताओं के प्रति तथा विशेष रूपसे प्रदेश की वर्तमान सरकार के प्रति नफरत का माहौल बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि महिला सदस्यों के साथ दौरे को अय्याशी जैसे शर्मनाक और स्तरहीन शब्द से संज्ञा देना शायद उचित नहीं था। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की अमर्यादित भाषा का प्रयोग हमारे मीडिया को शोभा नहीं देता है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से मीडिया की महिला बहनें एक बाइट के लिये पीछा कर रही हैं, धक्का मुक्की जैसी स्थिति पैदा कर रही हैं, अमर्यादित ढंग से प्रश्न पूछ रही हैं, उससे यूरोपीय देशों के लोग काफी हतप्रद हैं, क्योंकि इन देशों में इस प्रकार के आचरण के लिए कोई गुंजाइश नहीं है।
अपने वक्तव्य में आज़म खाँ ने कहा है कि मुजफ्फरनगर के पीड़ितों को अपनी टी0आर0पी0 का हथियार बनाना तथा उनकी हमदर्दी के नाम पर होड़ में एक दूसरे से आगे निकल जाने की कोशिश करने से दंगा पीड़ितों का भला नहीं, बल्कि बुरा हो रहा है तथा इस प्रकार आपसी भाई-चारा बनाने के बजाया नफरत को बढ़ावा दिया जा रहा है।
 अपने वक्तव्य में श्री खाँ ने यह भी कहा है कि यूरोपीय देशों में स्थानीय पुलिस तथा सरकारों ने प्रतिनिधि मण्डल को कहीं भी फुटपाथ पर ठहरने की अनुमति नहीं दी है, बल्कि अपने हिसाब से मेहमाननवाज़ी की जा रही है, क्योंकि उनके प्रतिनिधि मण्डलों के आने पर हमारी सरकारें भी ऐसा ही करती हैं। उन्होंने कहा कि यह खेद का विषय है कि लोकतंत्र में चुने गये प्रतिनिधियों के साथ इस तरह के बर्ताव के चलते कुछ देश, नेताओं तथा अधिकारियों का अपमान करने में हदों से आगे चले जाते हैं।
श्री खाँ द्वारा इस पर भी खेद व्यक्त किया गया कि कुछ चैनलो द्वारा तथ्यों को तोड़-मरोड़ कर पेश किया जा रहा है। एम्सटर्डम की सिटी काउन्सिल के अध्यक्ष द्वारा डेलीगेशन के सदस्यों को किताबों के साथ जो बैग दिये गये थे, उनको ऐसे प्रसारित किया गया है कि डेलीगेशन के सदस्यों द्वारा खरीददारी की जा रही है। श्री खान ने बताया कि अब तक प्रतिनिधि मण्डल द्वारा टर्की (इस्ताम्बूल) तथा नीदरलैण्ड के एम्सटर्डम, हेग तथा रोटरडम प्रदेशों के प्रशासन की व्यवस्था तथा ऐतिहासिक स्थलों को देखने का मौका मिला है। प्रतिनिधिमण्डल द्वारा इस्ताम्बूल के राज्यपाल के साथ बैठक की गयी तथा एम्सटर्डम की सिटी काउन्सिल के अध्यक्ष के साथ बैठक की गयी।

प्रतिनिधि मंडल द्वारा अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय तथा परमानेंट कोर्ट ऑफ आब्रीट्रेशन का हेग में दौरा किया गया। लंदन में प्रतिनिधि मण्डल सर एैलेन हैरालहर्टस, अध्यक्ष, सी0पी0ए0, डा0 रोडरी वाल्टर्स, हाउस ऑफ लार्डस एवं लिन्डसे होयल सांसद के साथ भेंट करेगा। श्री खान ने कहा कि प्रतिनिधिमण्डल कॉमनवेल्थ पार्लियामेन्ट्री एसोसिएशन के उद्देश्यों एवं भावना का अनुश्रवण कर रहा है। श्री खाँ का मत है कि ऐसे अध्ययन भ्रमण से जनप्रतिनिधियों के अनुभव परिपक्व होते हैं, जिन्हें वे अपने क्षेत्र की जनता के हित के लिए प्रयोग कर सकते हैं।

Leave a Reply