अखिलेश यादव ने बांटे जिला फुटबाल लीग के पुरस्कार

अखिलेश यादव ने बांटे जिला फुटबाल लीग के पुरस्कार
लखनऊ जिला फुटबाल लीग का उदघाटन करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव
लखनऊ जिला फुटबाल लीग का उदघाटन करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव

 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि फुटबाल एक ऐसा खेल है, जिसे खेलने के लिए अधिक संसाधनों की जरूरत नहीं होती। कम खर्च में इसे बहुत से खिलाड़ी खेल सकते हैं। इसीलिए इसे गरीबों का खेल भी कहा जाता है। उन्होंने कहा कि फुटबाल दुनिया का सबसे लोकप्रिय खेल है, तथा गरीब परिवार से आने वाले बहुत से खिलाडि़यों ने इसमें अपनी पहचान बनाई है।
मुख्यमंत्री आज यहां लामार्टिनियर ग्राउण्ड में जिला फुटबाल संघ के तत्वावधान में आयोजित जिला फुटबाल लीग, 2013 के फाइनल मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। प्रतियोगिता का फाइनल मैच सहारा स्टेट और 7/11 जी.आर. (गोरखा रेजीमेन्ट) के बीच खेला गया, जिसे जी.आर. रेजीमेन्ट ने 1-0 से जीत लिया। मुख्यमंत्री ने मैच का आनन्द लिया तथा विजेता, उपविजेता को ट्राफी प्रदान की। उन्होंने लीग की विजेता, उपविजेता तथा स्पोर्ट्स कालेज, लखनऊ की टीम को 21-21 हजार रुपए का पुरस्कार भी दिया। ज्ञातव्य है कि पिछले 40 वर्षों से आयोजित की जा रही यह लीग लगभग एक महीने चलती है और इसमें लगभग 50 टीमें हिस्सा लेती हैं।
श्री यादव ने कहा कि राज्य सरकार खेल और खिलाडि़यों को आगे बढ़ाने के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कानपुर का ग्रीनपार्क स्टेडियम वीरान हो गया था। प्रदेश सरकार ने उसका नवीनीकरण कराकर बी.सी.सी.आई. के सहयोग से काफी दिनों बाद कानपुर में अन्तर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच का आयोजन कराया। उन्होंने कहा कि प्रदेश की पिछली सरकार ने डायनामाइट लगाकर स्टेडियमों को तोड़ा, जबकि हमारी सरकार खेलों को बढ़ावा देने के लिए स्टेडियम बनवा रही है।
इस लीग में भाग लेने वाले सभी खिलाडि़यों व पदाधिकारियों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि उनके इस प्रयास से खेलों खासकर फुटबाल के प्रति लोगों का रूझान बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि फुटबाल कड़ी मेहनत, टीम भावना और टीम वर्क का खेल है। उन्होंने कहा कि देश में अन्य लोकप्रिय खेलों से कई उद्योग घराने जुड़े हुए हैं, जिससे उन खेलों में काफी पैसा और ग्लैमर आ गया है। उन्होंने कहा कि उद्योग घरानों को फुटबाल के खेल को प्रोत्साहित करने के लिए भी आगे आना चाहिए। इस अवसर पर खेलकूद एवं युवा कल्याण मंत्री नारद राय, कारागार मंत्री राजेन्द्र चौधरी सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, शासन-प्रशासन के अधिकारी एवं बड़ी संख्या में खेलप्रेमी उपस्थित थे।

Leave a Reply