ब्लूमिंगडेल के बच्चों ने विश्व पृथ्वी दिवस पर किया पौधारोपण

विश्व पृथ्वी दिवस पर मनमोहक अंदाज में दिखते ब्लूमिंगडेल स्कूल के बच्चे।
विश्व पृथ्वी दिवस पर मनमोहक अंदाज में दिखते ब्लूमिंगडेल स्कूल के बच्चे।
बदायूं के ब्लूमिंगडेल स्कूल परिसर में आज “विश्व पृथ्वी दिवस” अविस्मरणीय व रोचक ढंग से मनाया गया। छात्र-छात्राओं ने काव्य पाठ किया, साथ ही पृथ्वी को सुरक्षित रखने के अनेक सुझाव दिए। इस अवसर पर नव-निर्मित ‘ब्लूम्स’ के परिसर में पृथ्वी को हरा-भरा बनाए रखने हेतु एक नई पहल प्रारम्भ की गई, जिसके तहत छात्र-छात्राओं ने लगभग 1500 पौधे लगाते हुए प्रण लिया कि पृथ्वी को सुरक्षित रखने एवं विभिन्न आपदाओं से बचाए रखने हेतु यूँ ही हरियाली बनाए रखेगें एवं प्रत्येक माह शहर के किसी भी हिस्से में पौधारोपण करेंगे।
ब्लूमिंगडेल स्कूल एवं बदायूं क्लब के तत्वावधान में क्लब के प्रांगण में वृहद पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन प्रातः 9 बजे हुआ। ब्लूमिंगडेल स्कूल के बच्चों द्वारा क्लब प्रांगण में पौधे रोपे गये। इस अवसर पर बच्चों ने अपने आस-पास घर इत्यादि में अधिक से अधिक पौधे रोपने एवं उन्हें संरक्षित करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर ब्लूमिंगडेल स्कूल के निदेशक ईशान मेंहदीरत्ता ने बच्चों को शपथ दिलाई कि एक वर्ष तक प्रत्येक माह ब्लूमिंगडेल स्कूल, बदायूँ शहर, या गाँव में जाकर 100 पौधे लगायेगें और पृथ्वी को हरा भरा बनायेगें।
इसके अलावा कक्षा पी. जी. से लेकर कक्षा दो तक के विद्यार्थियो के लिये रंग भरो प्रतियोगिता तथा कक्षा 3 से 8 तक के विद्यार्थियों के लिए ‘पोस्टर मेकिंग’ प्रतियोगिता आयोजित की गई, जिसमें बच्चों ने प्रकृति व पृथ्वी के असुरक्षित होने पर अनके दुष्प्रभावों को कला के माध्यम से अपने मनोभावों को उकेरा। इस कार्यक्रम में समस्त विद्यार्थियों ने एक नए उत्साह व उमंग से भाग लिया।
कार्यक्रम में जिला वन्य अधिकारी समीर कुमार ने बच्चों को पृथ्वी और वृक्षों का महत्व समझाते हुए पर्यावरण संरक्षण में छात्र-छात्राओं की सहभागिता के महत्व को बताया। इस मौके पर प्रधानाचार्या वन्दना सक्सेना ने कहा कि वर्तमान समय में वातावरण किसी न किसी प्रकार से प्रदूषित हो रहा है, जिसका दुष्प्रभाव हमारी पृथ्वी व हम सब पर पड़ रहा है, ऐसे में आवश्यकता है कि हम सब को मिलकर इसको सुरक्षित रखें और हरा-भरा बनाए बनाएं, इसकी शुरुआत स्कूल परिसर के छात्रों द्वारा की गई है। इस अवसर पर स्कूल निदेशक ज्योति मेंहदीरत्ता, अध्यक्षा पम्मी मेंहदीरत्ता, अनीता धमीजा एवं इस नई पहल के प्रेरक ईशान मेंहदीरत्ता ने बच्चों के इस अनोखे कार्य के लिए हौसला अफजाई की एवं भविश्य में भी ऐसे ही अद्भुत कार्य करते रहने के लिए प्रेरित किया।
इस अवसर पर समस्त विद्यालय परिवार उपस्थित रहा, साथ ही बदायूँ क्लब के पदाधिकारियों के साथ वन विभाग के अधिकारी सतेन्द्र कुमार शिक्षक शाजेब आलम खान, नीरजा शर्मा, डॉ. रामबहादुर व्यथित, सतीष चन्द्र मिश्रा, डॉ. गोपाल मिश्रा, अशोक खुराना, रविन्द्र मोहन सक्सेना, राहुल कुमार चौबे, सौरभ शंखधार, के. एस. गुप्ता, विवेक खुराना और सुमित मिश्रा सहित तमाम गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।
संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

Leave a Reply