प्रेमी और देवर की हत्या से टूट चुकी विजेता यादव पति के विरुद्ध जायेगी कोर्ट

ब्लॉक प्रमुख विजेता यादव।

बदायूं जिले के विकास क्षेत्र अंबियापुर से ब्लॉक प्रमुख विजेता यादव सनसनीखेज खुलासे करने के बाद पति सर्वेश यादव से जंग लड़ने का मन बना चुकी है। प्रेमी अंकुर चौहान और देवर उमेश यादव की हत्या से टूट चुकी विजेता यादव पति सर्वेश यादव के विरुद्ध न्यायालय की शरण में जाने की तैयारी कर रही है। विजेता यादव की गवाही सर्वेश यादव पर भारी पड़ सकती है।

उल्लेखनीय है कि ब्लॉक प्रमुख विजेता यादव ने बरेली में 23 मार्च को पत्रकारों से बात करते हुए सनसनीखेज खुलासे किये थे। विजेता ने कहा था कि अंकुर चौहान से उसके संबंधों को लेकर सर्वेश यादव को आपत्ति नहीं थी, वह अंकुर को बुलाते थे और फोन पर बात कराते थे। विजेता ने पति सर्वेश यादव पर प्रेमी अंकुर चौहान की हत्या करने का आरोप लगाया था। विजेता यादव ने प्रेमी के परिजनों को फंसाने के उद्देश्य से पति सर्वेश यादव पर अपने भाई उमेश यादव की हत्या कराने का आरोप लगाया था, साथ ही स्वयं की हत्या की भी आशंका जताई थी। पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए विजेता यादव ने सीबीआई जाँच कराने की मांग की थी।

बता दें कि आवास विकास कॉलोनी निवासी अंकुर चौहान और विजेता यादव के बीच प्रेम संबंध थे, जिसका खुलासा मार्च 2016 में हुआ, ब्लूमिंगडेल स्कूल में रिजल्ट लेने गई विजेता यादव गायब हो गई थी। थाना सिविल लाइन में गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी, उस समय विजेता को ले जाने का आरोप अंकुर चौहान पर ही लगा था। विजेता की बरामदगी के बाद पूरा घटनाक्रम दबा दिया गया और अंकुर को अन्य प्रकरण में जेल भेज दिया गया। बताते हैं कि जमानत पर बाहर आने के बाद अंकुर और सर्वेश के संबंध मधुर हो गये, इस बीच अंकुर चौहान की ईंटों से सिर कुचल कर 8/9 फरवरी की रात में हत्या कर दी गई। हत्या का आरोप सर्वेश यादव आदि पर ही लगाया गया। मुकदमा दर्ज होने के बाद समाजवादी युवजन सभा का पूर्व जिलाध्यक्ष सर्वेश यादव फरार हो गया, तो सपा ने उसे निष्कासित कर दिया। 13 अप्रैल को सर्वेश यादव ने आत्म समर्पण कर दिया और फिलहाल वह जेल में है।

इससे पहले 8/9 मार्च की रात में सर्वेश यादव के भाई उमेश यादव की भी हत्या हो चुकी है। बिल्सी थाना क्षेत्र के गाँव वैन निवासी उमेश का शव गाँव सिद्धपुर चित्रसेन मार्ग के किनारे पड़ा मिला था। उमेश के भाई देवेश ने मृतक अंकुर चौहान के पिता महेश पाल सिंह उर्फ “गुड्डू”, माँ नीलम और भाई आशीष के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था, इस सबको लेकर ही ब्लॉक प्रमुख विजेता यादव अपने पति सर्वेश यादव के विरोध में खड़ी हो गई है, वह सनसनीखेज खुलासे करने के बाद पति सर्वेश यादव के विरुद्ध न्यायालय की शरण में जाने की तैयारी कर रही है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सर्वेश यादव ने अंकुर को मारा, अपने भाई को मरवाया, सीबीआई जाँच हो: विजेता

अंकुर चौहान के हत्यारोपी ब्लॉक प्रमुख पति सर्वेश यादव ने किया समर्पण

सुरेश चौहान के भतीजे अंकुर की हत्या, सर्वेश यादव पर हत्या का आरोप

समाजवादी पार्टी की बेटे सहित गायब ब्लॉक प्रमुख बरामद

गायब ब्लॉक प्रमुख कांड में माफिया ज्योति को पीट कर छोड़ा

महिला ब्लॉक प्रमुख और बेटे के लापता होने की गुमशुदगी दर्ज

ब्लूमिंगडेल स्कूल में रिजल्ट लेने गई ब्लॉक प्रमुख गायब

अंकुर की हत्या के बदले उमेश की हत्या, अंकुर के माँ, पिता और भाई नामजद

विजेता यादव का बयान देखने/सुनने के लिए वीडियो पर क्लिक करें

Leave a Reply