फैजगंज बेहटा में ब्राह्मणों और मौर्यों में संघर्ष, चार घायल, 29 पर मुकदमा

इस जमीन पर निर्माण को लेकर हुआ बवाल।

बदायूं जिले के कस्बा फैजगंज बेहटा में दलित लड़की के अपरहरण और उसके यौन उत्पीड़न को लेकर पहले से माहौल तनाव पूर्ण था और अब एक जमीन पर निर्माण को लेकर फैजगंज बेहटा सुलग उठा है। जातीय संघर्ष में जमकर बवाल हुआ है, जिसमें आगजनी की भी घटना हुई है, कई लोग घायल हैं। भाजपा नेता सहित 22 ब्राह्मणों और 7 मौर्यों के विरुद्ध पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर दिया गया है, जिनमें चार लोग गिरफ्तार बताये जा रहे हैं।

बताते हैं कि फैजगंज बेहटा में स्थित आबादी की एक जमीन पर ऐदल मौर्य और अवनीश पाराशरी अपना-अपना दावा करते रहे हैं। जमीन ऐदल के कब्जे में बताई जा रही है, उसने शनिवार को जमीन पर निर्माण कार्य शुरू कर दिया, जिसकी शिकायत पुलिस-प्रशासन से करने की जगह अवनीश पाराशरी का गुट निर्माणाधीन दीवारों को गिराने पहुंच गया, इस पर ऐदल के गुट ने विरोध किया, तो बवाल शुरू हो गया। सूत्रों का कहना बीती रात करीब 12 बजे हमला किया गया था, जिससे हाहाकार मच गया। लाठी-डंडे, अवैध असलहे भी थे, जमकर मारपीट हुई, साथ ही आग भी लगा दी गई। दूसरे पक्ष के घर में भी आग लगी है, जिसे फायर बिग्रेड ने पहुंच कर बुझाया। दोनों पक्ष एक-दूसरे पर आग लगाने और अपने-अपने घरों में स्वयं आग लगाने का आरोप लगा रहे हैं।

बवाल के बाद पहुंची पुलिस ने दोनों ओर से तहरीर लेकर मुकदमा दर्ज कर लिया है। ऐदल ने एक भाजपा नेता सहित 22 लोगों के विरुद्ध एवं अवनीश ने 7 लोगों के विरुद्ध तहरीर दी है। पुलिस ने ऐदल, किशनपाल, मुरारी और विपिन को गिरफ्तार कर लिया है, इनमें प्रदीप पाराशरी उर्फ बबलू को हिंदुस्तान अखबार का प्रतिनिधि बताया जा रहा है एवं होमगार्ड भी बताया जाता है। घायलों का बिसौली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर उपचार चल रहा है। घटना के बाद क्षेत्र में तनाव पूर्ण शांति बताई जा रही है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply