सड़क पर नियमों का पालन कर जान बचायें, कार्यक्रम में हावी रहा चर्चित बाबू

कार्यक्रम में बोलते डीएम पवन कुमार एवं मंचासीन लाल घेरे में बाबू अक्षत अशेष।

बदायूं में 28वें सड़क सुरक्षा सप्ताह का डीएम एवं एसएसपी ने संयुक्त रूप से फीता काटकर शुभारंभ किया और यातायात नियमों की जागरुकता हेतु प्रचार वाहन को झण्डी दिखाकर रवाना किया। परिवहन विभाग द्वारा बदायूँ क्लब में वाहन चालकों के नेत्र परीक्षण एवं स्वास्थ्य की जांच हेतु शिविर आयोजित किया गया, जिसमें 150 वाहन चालकों का निःशुल्क परीक्षण किया गया और आवश्कतानुसार उन्हें निःशुल्क चश्में भी वितरित किए गए। चर्चित बाबू समूचे कार्यक्रम पर हावी रहा, जिससे कार्यक्रम चर्चा का विषय बना हुआ है।

यातायात नियमों के पालन एवं जानकारी के लिए नाटक भी प्रस्तुत कर जागरुक किया गया। मंगलवार को आयोजित कार्यक्रम में जिलाधिकारी पवन कुमार ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को यातायात नियमों की पूर्ण जानकारी होने के साथ ही उनका पालन भी करना चाहिए। नशे में तथा मोबाइल पर वार्ता करते हुए वाहन नहीं चलाना चाहिए। 18 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर वैध ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त करने पर ही वाहन चलाया जाए। बिना हेल्मेट तथा दो से अधिक सवारी बैठाकर दोपहिया वाहन नहीं चलाना चाहिए। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक महेन्द्र यादव ने कहा कि दुर्घटनाओं का एक कारण ओवर लोडिंग भी है, तमाम सवारी गाड़ियाँ थोड़े से लालच में आकर अपनी क्षमता से अधिक सवारियाँ भरकर चलती हैं। उन्होंने कहा कि किसी भी दुर्घटना में जान जाने पर उसकी पूर्ति नहीं की जा सकती, इसलिए प्रत्येक व्यक्ति का दायित्व है कि वह यातायात नियमों की जानकारी रखे और पालन करें।

एआरटीओ (प्रवर्तन) अमिताभ राय ने कहा कि प्रत्येक वर्ष लगभग डेढ़ लाख लोगों की मौत दुर्घटनाओं के कारण होती हैं, जिसमें 70 प्रतिशत घटनाएं वाहन चालकों की गलती, पांच प्रतिशत मौसम की खराबी तथा 25 प्रतिशत साईकिल सवारों की लारपरवाही के कारण घटित होती हैं। 40 वर्ष की आयु पूर्ण करते ही प्रतिवर्ष वाहन चालकों को अपना स्वास्थ्य एवं नेत्र परीक्षण कराना चाहिए, इस अवसर पर एआरटीओ (प्रशासन) राजेश कुमार सहित बस एवं टैंपो यूनियन के पदाधिकारी तथा अन्य लोग मौजूद रहे। यह भी बता दें कि दास कॉलेज के चर्चित बाबू अक्षत अशेष ने न सिर्फ संचालन किया, बल्कि वह समूचे कार्यक्रम पर हावी रहा, साथ ही बाबू होते हुए मंच पर डीएम के बराबर बैठा नजर आया, जिसकी शहर में व्यापक स्तर पर चर्चा की जा रही है।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

शराबी बाबू नहीं आया, दास कॉलेज का बाबू अक्षत अशेष भी मंच से दूर रहा

ड्यूटी छोड़ कर सदर कोतवाली की बैठक में पहुंचा बाबू अक्षत

सांसद की चापलूसी में जुटे बाबू ने रुकवा दी सरस्वती वंदना

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

Leave a Reply

Your email address will not be published.