बेहोश कर बाघ पकड़ा, सिपाही निलंबित, ग्रामीणों पर मुकदमा

बेहोश बाघ को जाल में लपेटने का प्रयास।
बेहोश बाघ को जाल में लपेटने का प्रयास।

पीलीभीत जिले में स्थित माधोटांडा क्षेत्र के गाँव मल्लपुर खजुरिया में घुसे बाघ को कड़ी मशक्कत के बाद वन विभाग की टीम ने पकड़ लिया। वन विभाग की टीम बाघ को पिंजड़े में कैद कर ले गई, तब ग्रामीणों ने राहत की सांस ली, वहीं बवाल का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने एक और परेशानी दे दी। आरोपी सिपाही को भी निलंबित कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि मल्लपुर खजुरिया गाँव में बाघ घुस आया, जिससे बड़ी संख्या में ग्रामीण जमा हो गये थे, इस दौरान मौके पर पहुंची पुलिस के एक सिपाही ने एक ग्रामीण को डंडा मार दिया, जिससे भीड़ भड़क गई और पुलिस के विरुद्ध लामबंद होकर आक्रोशित भीड़ ने जमकर पथराव किया। आक्रोशित भीड़ ने एसडीएम को भी घेर लिया था। भीड़ को किसी तरह समझा कर प्रशासन ने बाघ को पकड़ने की प्रक्रिया शुरू की।

बेहोश बाघ को फंदे में जकड़ने का प्रयास।
बेहोश बाघ को फंदे में जकड़ने का प्रयास।

घर के अंदर छुपे बैठे बाघ को वन विभाग की टीम ने पहले बेहोश किया, उसके बाद फंदे से जकड़ा और जाल में लपेटा, फिर बाघ को पिंजड़े में बंद कर टीम ले गई, जिसके बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। बाघ के कारण ग्रामीणों के कई घंटे दहशत में गुजरे।

उधर एसएसपी ने आरोपी सिपाही अवनीश कुमार को निलंबित कर दिया, साथ ही एसआई बलवीर सिंह की ओर से कई लोगों को नामजद करते हुए 15-20 लोगों के विरुद्ध मुकदमा संख्या- 1379/16 धारा- 147, 148, 336, 353, 332 आईपीसी एवं 7 सीएलए एक्ट के अंतर्गत दर्ज कराया गया है, जिससे ग्रामीणों पर बाघ के बाद पुलिस की दहशत सवार हो गई है।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

बाघ गाँव में घुसा, पुलिस ने की ग्रामीण से अभद्रता, पथराव

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.