लैपटाॅप सेक्युलर भी है और सोशलिस्ट भी: अखिलेश यादव

लैपटॉप पाने वाले खुश छात्र-छात्राओं के साथ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
लैपटॉप पाने वाले खुश छात्र-छात्राओं के साथ मुख्यमंत्री अखिलेश यादव।
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि जीवन के टेढ़े-मेढे़ मुश्किल रास्ते पर केवल कड़ी मेहनत व ईमानदारी से ही कामयाबी हासिल की जा सकती है। गलत तरीके अपनाकर आगे तो बढ़ा जा सकता है, लेकिन वास्तविक सफलता नहीं पायी जा सकती है। नकल से परीक्षा तो पास की जा सकती है, लेकिन आई.ए.एस. नहीं बना जा सकता।
मुख्यमंत्री आज लखनऊ स्थित इन्दिरा गांधी प्रतिष्ठान में उत्तर प्रदेश सरकार व दैनिक अमर उजाला के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित मेधावी छात्र-छात्राओं के सम्मान समारोह में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने प्रदेश की 10वीं एवं 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले 1,321 छात्र-छात्राओं को प्रमाण पत्र, मेडल व लैपटाॅप देकर सम्मानित किया। इनमें से 621 विद्यार्थी हाईस्कूल की परीक्षा में व शेष इण्टरमीडिएट की परीक्षा में उच्चतम अंक लाने वाले थे।
इस मौके पर छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए श्री यादव ने भरोसा जताया कि जिस तरह उन लोगों ने दृढ़ लगन व कठिन परिश्रम से इस परीक्षा में सफलता प्राप्त की है, उसी प्रकार भविष्य में आने वाली चुनौतियों का भी सफलतापूर्वक सामना करेंगे। उन्होंने छात्र-छात्राओं का हौसला बढ़ाते हुए कहा कि स्कूल के दिनों में वे भी नहीं जानते थे कि भविष्य में वे क्या बनेंगे। उन्होंने कहा कि अग्रिम पंक्ति में बैठे हुए दिखायी पड़ रहे सारे विशिष्ट व्यक्तियों ने कड़ा परिश्रम करके ही सफलता पायी।
श्री यादव ने कहा कि नेताजी एवं स्व0 जनेश्वर मिश्र ने हमेशा कहा कि जीवन में आगे बढ़ने के लिए सपना जरूर देखना चाहिए। बड़े सपने पूरे करने के लिए बड़े संकल्प व बड़ी मेहनत की भी जरूरत होती है। जितना बड़ा सपना होता है, उससे ज्यादा मेहनत उसे सच करने के लिए करनी पड़ती है। उन्होंने छात्र-छात्राओं को महापुरुषों की जीवनियां पढ़ने की सलाह दी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोगों ने लैपटाॅप को झुनझुना बताया। लैपटाॅप झुनझुना नहीं है, बल्कि यह पढ़ाई-लिखाई में मदद करता है। विरोध के बीच में भी हमें आगे बढ़ते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि लैपटाॅप के माध्यम से हम आपको दुनिया से जोड़ना चाहते हैं। लैपटाॅप सेक्युलर भी है और सोशलिस्ट भी। इण्टरनेट से जुड़कर यह हमें एक बड़े समाज का हिस्सा बना देता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि तकनीक के माध्यम से भ्रष्टाचार पर काबू पाया जा सकता है। प्रदेश सरकार ने बिना किसी भ्रष्टाचार के आरोप के लैपटाॅप वितरण करके दिखलाया है। पिछली सरकार में जिस स्वास्थ्य विभाग की चर्चा भ्रष्टाचार की वजह से होती थी, आज उसी विभाग की योजनाओं व कार्यक्रमों की सराहना की जाती है।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री ने दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। माध्यमिक शिक्षा मंत्री महबूब अली ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश में जब भी समाजवादी सरकार बनी है, शिक्षा के क्षेत्र में ठोस काम हुआ है। समाजवादी सरकार ने ही कन्या विद्या धन योजना, पढ़े बेटियां बढ़े बेटियां योजना, हमारी बेटी उसका कल योजना व लैपटाॅप वितरण जैसी शिक्षा को प्रोत्साहित करने वाली योजनाएं संचालित कीं। इसी कड़ी में मेधावी छात्रों का उत्साह बढ़ाने के लिए आज लैपटाॅप वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के जो भी बच्चे पढ़ना चाहते हैं, राज्य सरकार उन्हें पूरी सुविधा उपलब्ध कराएगी।
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री अहमद हसन ने समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा कि लैपटाॅप वितरण से एक नई रोशनी आ रही है। प्रदेश इससे 50 साल आगे बढ़ गया है। राज्य के विकास की दिशा में प्रदेश सरकार का यह एक बेहतरीन काम है। समारोह के शुरुआत में आमंत्रित अतिथियों का स्वागत दैनिक अमर उजाला, लखनऊ के सम्पादक
डाॅ0 इन्दुशेखर पंचोली ने किया। उन्होंने भरोसा जताया कि इस आयोजन से इन प्रतिभाओं में अपनी सामाजिक जिम्मेदारी का एहसास मजबूत होगा।
इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्री राजेन्द्र चौधरी, बलराम यादव, अवधेश प्रसाद, मनोज कुमार पाण्डेय, शिव कुमार बेरिया, ओम प्रकाश सिंह, नारद राय, राममूर्ति वर्मा, योगेश प्रताप सिंह, विजय बहादुर पाल एवं विनोद कुमार उर्फ पण्डित सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, मुख्य सचिव आलोक रंजन, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल, सूचना निदेशक डाॅ0 रुपेश कुमार, शिक्षकगण, मीडिया प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply