लेखपाल दो वर्ष दबाये रहा दुर्घटना बीमा योजना का आवेदन

तहसील दिवस में समस्याएं सुनते जिलाधिकारी शंभूनाथ।
तहसील दिवस में समस्याएं सुनते जिलाधिकारी शंभूनाथ।

 

बदायूं जिले की तहसील सहसवान में आयोजित तहसील दिवस में ग्राम नाधा निवासी कामनी भारद्वाज ने अवगत कराया कि कृषक दुर्घटना बीमा योजना का आवेदन पत्र दो वर्षों से लेखपाल दबाये बैठा है, इस पर जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने गम्भीरता पूर्वक संज्ञान लेते हुए दोषी लेखपाल के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
मंगलवार को जिलाधिकारी ने एसएसपी सौमित्र यादव तथा मुख्य विकास अधिकारी देवेन्द्र सिंह कुशवाहा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ तहसील दिवस में जन शिकायतें सुनी। ग्राम नाधा निवासी कामिनी भारद्वाज ने शिकायत की कि उसके पति सुनील शंकर की चार मई, 2013 को एक दुर्घटना में मुत्यु हो गई थी, उसने पहले जून, तथा पुनः सात अगस्त, 2013 को कृषक दृर्घटना योजना अन्तर्गत सभी औपचारिकताएं पूर्ण कराते हुए लेखपाल हारिस अली को आवेदन पत्र दिया था, परन्तु लेखपाल ने आज तक अभिलेख जिला मुख्यालय नहीं भेजे, जिससे उसे आर्थिक सहायता नहीं मिल सकी है। जिलाधिकारी ने घोर लापरवाही पर कड़ी नराज़गी जताते हुए दोषी लेखपाल के विरूद्ध कार्रवाई करने की उप जिलाधिकारी दिनेश कुमार को सख्त हिदायत दी। ग्राम नवाबगंज बेहटनी के सौराज सिंह ने गांव की आंगनबाड़ी कार्यकत्री विमलेश की शिकायत की कि वह फर्जी मार्कशीट के आधार पर कार्यरत है। सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत कुल सचिव गुरूकुल विश्वविद्यालय वृन्दावन मथुरा से मांगी गई सूचना में उन्होंने वर्ष 2004 में विमलेश नाम से किसी भी अभिलेख का रिकार्ड होने से इनकार किया है। आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा वर्ष 2004 की अंक तालिका का प्रयोग किया गया है, लेकिन जिला कार्यक्रम अधिकारी तथा सीडीपीओ कोई कार्रवाई नहीं कर रही हैं। जिलाधिकारी ने प्रकरण की जांच कर दोषी पाए जाने पर बर्खास्त करने के साथ ही अन्य कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
लेखपाल किरन बाबू द्वारा ग्राम धापड़ के नत्थू की प्रलोभन के कारण दो वर्ष से विरासत दर्ज नहीं की है। जिलाधिकारी ने तुरन्त विरासत दर्ज करने के निर्देश दिए और कहा लेखपाल के खिलाफ कार्रवाई की जाए। जहांगीराबाद के सुभाष चन्द्र सक्सेना ने शिकायत की कि वर्ष 2005 के त्रिस्तरीय पंचायत सामान्य निर्वाचन में उनकी मार्शल जीप को अधिग्रहण किया गया था और दस वर्ष बाद भी उसे भुगतान नहीं मिला है। तहसील दिवस में ग्राम सगराय के जग बहादुर, गंगा दयाल, नाधा की कामनी, धापड़ की शांति देवी आदि कई किसानों ने कृषि निवेश अनुदान दिलाने का अनुरोध किया। जिलाधिकारी ने कहा कि तहसील क्षेत्र के लगभग 50 हजार कृषकों को दस करोड़ रूपए का कृषि निवेश अनुदान वितरित किया जा चुका है, लेकिन फिर भी जो प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए हैं, उनको भी आर्थिक सहायता दी जाए। जिलाधिकारी ने लोहिया ग्राम भवानीपुर के लोहिया आवास योजना के आंटन की जांच करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने वंचित स्वच्छकारों को विधवा, वृद्धा, विकलांग तथा समाजवादी पेंशन योजना में से किसी एक योजना से अवश्य अच्छादित करने को कहा है। तहसील दिवस में विभिन्न विभागों से सम्बंधित 132 शिकायतें प्राप्त हुईं, जिनमें 18 शिकायतों का मौके पर निस्तारण कराया गया। तहसील दिवस में डीएफओ समीर कुमार, प्रभारी सीएमओ नरेन्द्र सिंह, पीडी डीआरडीए रामरक्षपाल, जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार सोम, तहसीलदार नानक चन्द सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।
गुर्दा दान करने की डीएम ने की संस्तुति
जिलाधिकारी शम्भूनाथ ने संजय सिंह द्वारा बिना किसी प्रलोभन के एक गुर्दा दान करने हेतु समिति सदस्यों की सर्वसम्मति पर संस्तुति प्रदान कर दी है। अंतिम निर्णय राज्य स्तरीय समिति द्वारा लिया जायेगा।
मंगलवार को कलेक्ट्रेट स्थित सभा कक्ष में आयोजित मानव अंग प्रत्यारोपण सलाहकार समिति की बैठक में बताया गया कि आवास विकास कालौनी निवासी शिव कुमार वर्मा पुत्र मुंशी लाल को उनके साले संजय सिंह पुत्र सुरेन्द्र सिंह द्वारा एक गुर्दा बिना किसी प्रलोभन के दान करने की इच्छा जाहिर की है, इस पर सलाहकार समिति सदस्य प्रभारी सीएमओ डा. नरेन्द्र सिंह, जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. आरएन हरित, डा. एके वर्मा, समाजसेवी पुष्पा टंडन तथा एसपी अग्निहोत्री की सर्वसम्मति से अन्य जांच आदि की औपचारिकताएं पूर्ण कराने के पश्चात गुर्दा दान किए जाने की संस्तुति प्रदान कर दी है। यह प्रकरण राज्य स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा। अंतिम निर्णय राज्य स्तरीय समिति का ही होगा।

Leave a Reply