ऐतिहासिक मंदिर तोड़ा, एसओ पर आरोप, माहौल तनाव पूर्ण

गाँव खुनक का क्षतिग्रस्त मंदिर।
गाँव खुनक का क्षतिग्रस्त मंदिर।

कानून व्यवस्था पूरी तरह बिगड़ चुकी हैं। बीती रात असामाजिक तत्वों ने ऐतिहासिक मंदिर को भी तोड़ दिया। मौके पर हालात तनाव पूर्ण बने हुए हैं, लेकिन पुलिस व प्रशासन की ओर से जिला स्तरीय अफसर मौके पर देखने तक नहीं गया है। आम जनता एसओ व प्रधान पति पर मंदिर तुड़वाने का आरोप लगा रही है।
सनसनीखेज घटना बदायूं जिले के बिनावर थाना क्षेत्र में स्थित गाँव खुनक की है। यहाँ लगभग सवा सौ साल पुराना ऐतिहासिक मंदिर है, जिसका कुल क्षेत्रफल नब्बे बीघे के आसपास है। मंदिर की जमीन पर भू-माफियाओं की लंबे समय से नजर जमी हुई है। बीती रात इस मंदिर के गुंबद को क्षतिग्रस्त कर दिया। सुबह मौके पर सैकड़ों लोग जमा हो गये और आक्रोशित लोग कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करने लगे। अधिकाँश लोग एसओ बिनावर जमीर उल हसन व प्रधानपति छोटे लाल बाल्मीकि पर खुलेआम आरोप लगा रहे थे कि इन दोनों ने मिल कर मंदिर तुड़वाया है।

सूचना पर एसडीएम सदर प्रदीप यादव और सीओ सिटी राजेन्द्र सिंह धामा मौके पहुंचे, तो भीड़ हमलावर हो गई। किसी तरह कार्रवाई के आश्वासन पर भीड़ शांत हुई, लेकिन पुलिस ने अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं किया है, साथ ही सूचना के बाद भी पुलिस व प्रशासन की ओर से एक भी जिला स्तरीय अफसर मौके पर नहीं गया है, जिससे दहशत का भी माहौल है। बताते हैं कि बीती रात गाँव खुनक में पहली बार अजान लगाई गई, जिसको लेकर माहौल रात से ही तनाव पूर्ण था। एक पक्ष झगड़े के इरादे से तैयार था। 25-30 लोग प्रधान के घर पर जमा रहे और देर रात तक जमकर शराब चली। सुबह प्रधान के घर से सैकड़ों खाली पौव्वे भी बरामद हुए हैं। गाँव वालों का कहना है कि रात एसओ को कई बार फोन किया, लेकिन एसओ नहीं आये, जिससे स्पष्ट है कि उन्हें पहले से ही सब जानकारी थी।

Leave a Reply