परिवार आत्म दाह करने लगा, तब दर्ज किया मुकदमा

पुलिस ऑफिस पर आत्म दाह करने के इरादे से पहुंचने वाला मृतक का परिवार।
पुलिस ऑफिस पर आत्म दाह करने के इरादे से पहुंचने वाला मृतक का परिवार।

… अगर आप पीड़ित हैं और आत्म दाह करने को तैयार हैं, तो ही पुलिस आपका मुकदमा दर्ज करेगी, वरना भटकते रहिये थाने में, कोई नहीं सुनेगा। जी हाँ, बदायूं जिले में अब ऐसा ही अघोषित नियम लागू कर दिया गया है। आज एक परिवार पुलिस ऑफिस पर आत्म दाह करने पहुंच गया, तो आनन-फानन में मुकदमा दर्ज करने के आदेश दे दिए गये।

जिला फर्रुखाबाद में थाना कंपिल क्षेत्र के गाँव गंगपुर सहायपुर निवासी मुजीब उर्फ गोरे की पिछले शुक्रवार को बदायूं जिले के उसहैत थाना क्षेत्र में लाश बरामद हुई थी। पुलिस मौत का कारण हादसा बता रही थी, जबकि परिजन हत्या का आरोप लगा रहे थे। पुलिस ने परिजनों की तहरीर पर कार्रवाई नहीं की, तो आज मृतक का पीड़ित परिवार केरोसिन लेकर पुलिस ऑफिस पर आत्म दाह करने के इरादे से आ गया। यह जानकार पुलिस में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में एसएसपी ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराने के आदेश जारी कर दिए, तो आक्रोशित व व्यथित परिजन मान गये। बता दें कि पुलिस ऑफिस पर पिछले कुछ महीनों में आत्म दाह करने के प्रयास की यह तीसरी घटना है, जिससे यह बात अब आम हो चली है कि आत्म दाह करने से पूर्व अब बदायूं जिले में मुकदमा दर्ज नहीं होगा और न ही पुलिस कार्रवाई करेगी।

Leave a Reply