ग्रामीणों ने बैल छुड़ाये, विधायक और पुलिस तस्करों के साथ

तस्करों और ग्रामीणों के बीच फायरिंग, विधायक के दबाव में पुलिस तस्करों के साथ
तस्करों और ग्रामीणों के बीच फायरिंग, विधायक के दबाव में पुलिस तस्करों के साथ

ग्रामीणों ने जान पर खेल कर तस्करों से बैल मुक्त करा लिए। गोलीबारी के बाद तस्कर बैल छोड़ कर भाग गये। एक विधायक के दबाव में पुलिस खुल कर तस्करों का साथ देती नजर आ रही है, जिससे पूरे इलाके में पुलिस के प्रति आक्रोश नजर आ रहा है।

घटना बदायूं जिले में स्थित कोतवाली बिसौली की पुलिस चौकी दबतोरी क्षेत्र की है। बताते हैं कि बीती रात करीब तीन बजे तस्कर कई जोड़ी बैल गाँव लक्ष्मीपुर की ओर ले जा आ रहे थे, तभी पपगाँव के लोगों को किसी तरह भनक लग गई। ग्रामीण सड़क पर आकर तस्करों से बैल छोड़ने को कहने लगे, तो तस्करों ने फायरिंग शुरू कर दी। बताते हैं कि ग्रामीणों पर भी हथियार थे, जिससे ग्रामीणों ने भी जवाब में फायरिंग की, तो डर कर तस्कर भाग गये। बैल पपगाँव के ग्रामीण ले गये। सूत्रों का कहना है कि तस्करों के साथ बगरैन पुलिस चौकी के दो सिपाही भी थे, जो फायरिंग होते ही मौके से भाग गये।

घटना की सूचना पुलिस को दी गई, तो बगरैन पुलिस चौकी प्रभारी तस्करों के साथ ही खड़े नजर आये और पपगाँव के लोगों पर तस्करों को बैल लौटाने का दबाव बनाने लगे, तो ग्रामीणों ने बैल लौटाने से मना कर दिया, इस पर चौकी प्रभारी ने ग्रामीणों को ही चेतावनी दे दी कि बैल न लौटाने पर उनके विरुद्ध कार्रवाई की जायेगी, तो ग्रामीणों ने बैल लौटा दिए। फिलहाल छः बैल दबतोरी पुलिस चौकी प्रभारी के कब्जे में हैं, लेकिन जीडी में दर्ज नहीं किये हैं। बरेली जिले के थाना सिरौली क्षेत्र के गाँव केसरपुर के तस्कर और लक्ष्मीपुर के स्लाटर हाउस चलाने वाले बैल ले जाने के प्रयास में जुटे हुए हैं। सूत्र का कहना है कि रात में बैल तस्करों को वापस कर दिए जायेंगे। घटना पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है, साथ ही पुलिस की कार्यप्रणाली को लेकर अधिकांश लोग आक्रोशित भी नजर आ रहे हैं।

यहाँ यह भी बता दें कि बिसौली कोतवाली क्षेत्र के गाँव लक्ष्मीपुर में अवैध रूप से खुलेआम स्लाटर हाउस चलाये जा रहे हैं, जिनमें प्रतिबंधित जानवर ही काटे जाते हैं। यहाँ से बड़े पैमाने पर संभल और रामपुर के लिए मांस सप्लाई किया जाता है। पुलिस कार्रवाई करने की जगह तस्करों को खुलेआम संरक्षण दे रही है। बताते हैं कि स्लाटर हाउस एक विधायक के कहने पर चल रहा है, जिसमें विधायक का हिस्सा भी बताया जाता है, इसीलिए पुलिस तस्करों की संरक्षक बनी हुई है। यह भी बता दें कि बगरैन पुलिस चौकी थाना वजीरगंज क्षेत्र में है। थाना वजीरगंज क्षेत्र के कस्बा सैदपुर में पिछले दिनों कट रही गाय का वीडियो बन चुका है, इसके बावजूद पुलिस ने हत्यारों के विरुद्ध कोई कार्रवाई नहीं की।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सैदपुर में दिनदहाड़े दर्जनों लोगों ने मिल कर की गाय की हत्या

बदनाम पुलिस चौकी से रायफल गायब, विभाग में मचा हड़कंप

Leave a Reply