महेश गुप्ता की संस्तुति पर लेखपाल सज्जाद और कुतुबुद्दीन की होगी जाँच

एडीएम (प्रशासन) द्वारा किये गये तबादलों की सूची।

बदायूं के अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) ने भू-माफियाओं से मिल कर शहर को बर्बाद करने वाले एवं सोत नदी की हत्या में मुख्य भूमिका निभाने वाले कुख्यात लेखपाल सज्जाद सहित 22 लेखपाल इधर-उधर किये थे, जिनमें कई शातिर लेखपालों ने अपना तबादला आदेश निरस्त करा लिया एवं कई ने स्थान बदलवा लिया, अब पुनः 22 लेखपालों के तबादले किये गये हैं, वहीं विधायक महेश चंद्र गुप्ता ने सज्जाद और कुतुबुद्दीन की भूमिका की जांच कराने की संस्तुति की है, जिस पर जांच के आदेश हो गये हैं।

अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) द्वारा पूर्व में किये गये तबादला आदेश के क्रम में कुख्यात लेखपाल सज्जाद तो तत्काल रिलीव हो गया, लेकिन कई शातिरों ने आदेश निरस्त करा लिया एवं कुछेक ने स्थान परिवर्तित करा लिया, जिसको लेकर तरह-तरह की चर्चायें सामने आईं। एडीएम (प्रशासन) ने अब पुनः 22 लेखपालों को इधर-उधर किया है, जिनमें सज्जाद का साझीदार कुतुबुद्दीन भी शामिल है, जिसे सहसवान भेजा गया है, इनमें से किसी का आदेश निरस्त होगा, या नहीं, यह भविष्य में ही पता चल सकेगा।

उधर सदर क्षेत्र से भाजपा विधायक महेश चंद्र गुप्ता सज्जाद और कुतुबुद्दीन की कारगुजारियों को भूले नहीं हैं। आम जनता को परेशान करने वाले लेखपाल सज्जाद और कुतुबुद्दीन के कार्यकाल की जाँच कराने को विधायक ने जिलाधिकारी को पत्र लिख दिया है, जिस पर जिलाधिकारी ने जाँच के आदेश दे दिए हैं। सूत्रों का कहना है कि जाँच सही से हुई, तो सज्जाद और कुतुबुद्दीन कड़ी कार्रवाई के शिकार होंगे।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

विधायक महेश चंद्र गुप्ता ने लिया एक्शन, लेखपाल सज्जाद की करायेंगे जांच

सोत नदी के हत्यारे लेखपाल सज्जाद सहित 22 लेखपालों का तबादला

मुख्यमंत्री पर भारी पड़ा लेखपाल सज्जाद, सोत नदी नहीं हो पा रही कब्जा मुक्त

Leave a Reply