शीतल प्याऊ की आड़ में चेयरमैन नूरुद्दीन हड़प गया 14 लाख 20 हजार रूपये

नूरुद्दीन द्वारा सहसवान में लगवाई गई टिन की मशीन।

बदायूं जिले में स्थित सहसवान का कुख्यात पालिकाध्यक्ष नूरुद्दीन सपा सरकार में खुलेआम पद का दुरूपयोग करता रहा है। कारगुजारियों से तंग आकर सपा ने आउट कर दिया था, साथ ही अब सरकार भी बदल गई है, लेकिन अब भी सुधरने को तैयार नहीं है। शीतल प्याऊ के नाम पर सहसवान में जनसेवा का ढिंढोरा पीट रहा है, जबकि शीतल प्याऊ की आड़ में नूरुद्दीन ने लाखों का घोटाला कर लिया।

सूत्रों का कहना है कि शीतल प्याऊ की सरकारी कीमत 3 लाख 20 हजार रूपये है, जबकि सहसवान में लगाई गई टिन की मशीन 60 हजार की भी नहीं है। बताते हैं कि कुख्यात और भ्रष्ट नूरुद्दीन ने सहसवान में आज पांच मशीनों का उद्घाटन किया है, जिनकी सरकारी कीमत 16 लाख रूपये हुई। प्रत्येक मशीन को 60 हजार का ही माना जाये, तो पांच मशीनें 1 लाख 80 हजार की हुईं, इससे स्पष्ट है कि शीतल प्याऊ के नाम पर नूरुद्दीन 14 लाख 20 हजार रूपये हड़प गया। शातिर नूरुद्दीन की भ्रष्ट नीतियों के बारे में जनता सब कुछ जान गई है, फिर भी बेशर्मी के साथ जनसेवा करने का प्रचार करा रहा है।

उल्लेखनीय है कि रविवार को नूरुद्दीन के घर पर बिजिलेंस और बिजली विभाग की टीम ने छापा मारा था। सहसवान क्षेत्र के एसडीओ सतेन्द्र कुमार ने बताया था कि मीटर नहीं था और ओवरलोड भी पाया गया। नूरुद्दीन पर जिला संभल की कोतवाली गुन्नौर क्षेत्र के गाँव सैमल करनपुर का निवासी दलित नत्थूराम पुत्र मदनलाल अपहरण करने का, अफीम का धंधा करने का, नाबालिग लड़कियों और औरतों का यौन शोषण कराने का आरोप लगा चुका है। हाल ही में पत्रकार शाजेब ने प्रताड़ित करने का भी मुकदमा दर्ज कराया है

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

बिजिलेंस के छापे में खुलासा, बिजली चोर भी निकला पालिकाध्यक्ष नूरुद्दीन

जमीन कब्जाने, अपरहरण, अफीम और देह व्यापार का भी धंधा करता है नूरुद्दीन

सहसवान में नहीं होगी नूरा-कुश्ती, भदोही और बलिया में भी चला अखिलेश का डंडा

Leave a Reply