डॉ. रियाजुद्दीन के निधन पर नहीं हुआ शोक अवकाश, कॉलेज में हंगामा

प्राचार्य के विरुद्ध नारेबाजी करते छात्र नेता।

बदायूं के एनएमएन दास कॉलेज के प्राचार्य पर धार्मिक दृष्टि से पक्षपात करने का आरोप लगा है। प्राचार्य द्वारा उल्टा जवाब देने के कारण कॉलेज का माहौल अचानक बिगड़ गया। प्राचार्य के विरुद्ध काफी देर तक नारेबाजी भी हुई, जिससे कॉलेज में अफरा-तफरी का माहौल बना रहा।

दास कॉलेज में लगभग चालीस वर्षों तक सेवायें देने वाले समाज शास्त्र के विभाध्यक्ष रह चुके डॉ. रियाजुद्दीन सिद्दीकी का बुधवार को उपचार के दौरान दिल्ली में निधन हो गया था। डॉ. रियाजुद्दीन सिद्दीकी के निधन पर दास कॉलेज में गुरुवार को शोकावकाश घोषित नहीं किया गया और न ही शोक सभा की गई, इस पर समाजवादी पार्टी से जुड़े कुछ छात्र नेता प्राचार्य डॉ. जीएस रावत से कारण पूछने पहुंचे, तो उन्होंने छात्र नेताओं को उल्टा जवाब दिया, इस पर छात्र नेता भड़क गये।

कैंपस में ही प्राचार्य पर धार्मिक आधार पर भेदभाव करने का आरोप लगा कर छात्र नेता नारेबाजी करने लगे, जिससे काफी देर तक कॉलेज में अफरा-तफरी का माहौल बना रहा। प्राचार्य ने बाद में कहा कि परीक्षाओं के चलते शोकावकाश नहीं किया जा सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published.