बरेली मार्ग जाम कर दरोगा को चूड़ियाँ पहनाने का प्रयास

बगरैन में बरेली मार्ग पर जाम लगाती भीड़।
बगरैन में बरेली मार्ग पर जाम लगाती भीड़।

पुलिस द्वारा अगवा किशोरी बरामद न करने से आक्रोशित ग्रामीणों का आज धैर्य जवाब दे गया। सैकड़ों लोगों ने मिल कर बरेली मार्ग जाम कर दिया। जाम खुलवाने गये दरोगा को भीड़ ने बंधक बना लिया एवं दरोगा को चूड़ियाँ पहनाने का प्रयास किया, जिससे पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। सूचना के बाद मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) ने चार दिन के अंदर लड़की बरामद करने का आश्वासन दिया एवं विवादित चौकी प्रभारी को तत्काल हटा दिया, तब भीड़ ने मार्ग पर आवागमन सुचारू होने दिया।

घटना बदायूं जिले के वजीरगंज थाना क्षेत्र में स्थित गाँव बगरैन की है, जहाँ से 4 अगस्त को एक मौर्य परिवार की 16 वर्षीय किशोरी गायब हो गई। परिजनों ने गाँव के ही एक मुस्लिम वर्ग के युवा पर अगवा करने का मुकदमा दर्ज कराया था, लेकिन अभी तक पुलिस किशोरी को बरामद नहीं कर सकी है। पुलिस पर मिलीभगत का आरोप लगाते हुए आज लोग लामबंद होने लगे और बरेली मार्ग पर जाम लगा। चौकी प्रभारी अर्जुन सिंह यादव मौके पर पहुंचे, तो भीड़ बेकाबू हो गई। भीड़ ने नारेबाजी करते हुए दरोगा का पुतला फूंक दिया एवं दरोगा को बंधक बना कर चूड़ियाँ पहनाने का भी प्रयास किया गया।

बगरैन में हुए बवाल की सूचना जिला मुख्यालय पहुंची, तो पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बालेंदु भूषण सिंह मौके पर पहुंच गये। उन्होंने भीड़ से बात की, पर भीड़ दरोगा अर्जुन सिंह यादव के विरुद्ध कार्रवाई करने और किशोरी को बरामद करने की मांग पर अड़ी रही, इस पर बालेंदु भूषण सिंह ने अर्जुन सिंह यादव को तत्काल बगरैन चौकी से हटा दिया एवं किशोरी की बरामदगी चार दिन के अंदर कराने का आश्वासन दिया, तब भीड़ शांत हुई।

उधर मौर्य वर्ग पर लगातार हो रही घटनाओं से दातागंज क्षेत्र के बसपा विधायक सिनोद कुमार शाक्य “दीपू भैया” बेहद व्यथित हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस ने मौर्य वर्ग के लिए भयमुक्त वातावरण शीघ्र नहीं बनाया, तो वे आंदोलन करने के लिए मजबूर होंगे। उन्होंने कहा कि मौर्य वर्ग के साथ हो रहे अन्याय में पुलिस भी संलिप्त नजर आ रही है।

Leave a Reply