बदायूं क्लब के फ्लॉप कार्यक्रम पर एसएसपी ने जताया असंतोष

 
  • गणतंत्र दिवस समारोह में पत्रकारों को किया अपमानित
परेड की सलामी लेते ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव।
परेड की सलामी लेते ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव।
बदायूं जिले में कड़ाके की ठंड और घने कोहरे के बावजूद राष्ट्र प्रेमियों ने मंगलवार को गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास पूर्वक मनाया। पुलिस लाइन स्थित पुलिस परेड ग्राउण्ड में मुख्य कार्यक्रम आयोजित हुआ। प्रदेश के ग्राम्य विकास विभाग के राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव ने ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली, इस दौरान पत्रकारों को पहली बार खुलेआम अपमानित भी किया गया, साथ ही बदायूं क्लब में हुए कार्यक्रम में लोगों की उदासीनता को लेकर एसएसपी सौमित्र यादव ने टिप्पणी करते हुए भागीदारी बढ़ाने को कहा, जिसका जिलाधिकारी ने भी समर्थन किया।
गुब्बारे उड़ाते ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव।
गुब्बारे उड़ाते ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव।
सांस्कृतिक कार्यक्रम देखते ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव व उनके पुत्र डीसीबी चेयरमैन ब्रजेश यादव।
सांस्कृतिक कार्यक्रम देखते ग्राम्य विकास राज्यमंत्री ओमकार सिंह यादव व उनके पुत्र डीसीबी चेयरमैन ब्रजेश यादव।

पुलिस लाइन स्थित परेड ग्राउंड में राज्यमंत्री ने सर्व प्रथम ध्वजारोहण किया और गुब्बारे उड़ाकर पुलिस परेड का शुभारम्भ किया। एसएसपी सौमित्र यादव के साथ पुलिस परेड का अवलोकन कर परेड की सलामी ली। राज्यमंत्री ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि प्रत्येक नागरिक अपने अधिकारों के प्रति तो सजग रहता है, लेकिन कर्तव्यों की ओर ध्यान नहीं दिया जाता, इस ओर भी चिंतन और मनन करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि संविधान में दी गई व्यवस्था के अनुसार प्रदेश सरकार द्वारा ही प्रत्येक वर्ग के कल्याण और भलाई के लिए तमाम योजनायें संचालित की जा रही हैं। उन्होंने अमर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए भव्य पुलिस परेड की मुक्त कण्ठ से सराहना की और 21 हजार रूपए का पुरस्कार भी दिया। परेड के पश्चात विभिन्न स्कूलों के बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए। शहर विधायक, वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष व दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा ने सराहनीय कार्य करने वाले पुलिस अधिकारियों को पुरस्कार वितरित किये। जिला जज डीके नैलवाल ने पुलिस परेड की विभिन्न टोलियों को तथा जिलाधिकारी ने भी प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वालों को पुरस्कार वितरित किए। एसएसपी द्वारा दर्जा राज्यमंत्री तथा नगर पालिका अध्यक्ष फात्मा रजा को प्रतीक चिन्ह भेंट किए गए। सहकारी बैंक के अध्यक्ष ब्रजेश यादव ने भी बच्चों को नकद पुरस्कार दिया, इस दौरान पहली बार पत्रकारों को अपमानित किया गया। किसी पत्रकार को पुरस्कृत नहीं किया गया, साथ ही फोटो खींचते समय लाउडस्पीकर से आवाज लगा कर पत्रकारों को आगे बढ़ने से रोक दिया गया, जिस पर कुछ पत्रकारों ने आपत्ति भी की, लेकिन किसी अधिकारी ने ध्यान तक नहीं दिया।

एसओ सिविल लाइन अजय कुमार सिंह यादव को पुरस्कृत करते दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा एवं फात्मा रजा।
एसओ सिविल लाइन अजय कुमार सिंह यादव को पुरस्कृत करते दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा एवं फात्मा रजा।
कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी शम्भू नाथ ने अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव, एडीएम (वित्त एवं राजस्व) राजेन्द्र प्रसाद यादव, नगर मजिस्ट्रेट अजय कुमार श्रीवास्तव, एसटीओ प्रवीण कुमार त्रिपाठी तथा कर्मचारियों के साथ ध्वजारोहण के बाद भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न समाजवादी पंथ निर्पेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने का संकल्प लिया और सभा को सम्बोधित करते हुए गणतन्त्र दिवस की बधाई दी, अमर शहीदों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। उन्होंने महात्मा गांधी, डॉ. भीमराव अम्बेडकर एवं स्वतन्त्रता सेनानियों तथा अन्य अमर शहीदों के बलिदान को याद करते हुए कहा कि आजादी के बाद बहुत बदलाव आए हैं, लेकिन अभी विकास सहित अन्य क्षेत्रों में काफी कार्य की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि वर्तमान युग में ढेर सारी चुनौतियां और समस्याएं हैं, सबको मिलकर बुराईयों और कुरीतियों को दूर करने का प्रयास करना चाहिए। जिला पंचायत अध्यक्ष मधु चन्द्रा, बिसौली के विधायक आशुतोष मौर्य ,जिलाधिकारी सहित अन्य अधिकारियों ने कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित शहीद स्थल और स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की। डीएम तथा मुख्य विकास अधिकारी प्रताप सिंह भदौरिया ने गांधी नेत्र चिकित्सालय में भी ध्वजारोहण किया और चिकित्सालय की स्थिति में सुधार का आश्वासन दिया। सीडीओ ने विकास भवन में  ध्वजारोहण के पश्चात तिरंगे को सलामी दीे।
बदायूं क्लब में मौजूद डीएम, सीडीओ, एडीएम (प्रशासन) एवं खाली दिख रही कुर्सियां।
बदायूं क्लब में मौजूद डीएम, सीडीओ, एडीएम (प्रशासन) एवं खाली दिख रही कुर्सियां।
गणतन्त्र दिवस के अवसर पर बदायूं क्लब में डीएम द्वारा ध्वजारोहण किया और सभा का आयोजन हुआ। पोस्टर प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों को पुरस्कार भी वितरित किए गए और स्वतन्त्रता संग्राम सैनानियों की विधवाओं का भी सम्मान किया गया। बच्चों ने संस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। बदायूं क्लब में सदस्यों की उपस्थिति कम होने पर एसएसपी सौमित्र यादव ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि राष्ट्रीय पर्वों में सभी सदस्यों को हर्षोल्लास के साथ प्रतिभाग करना चाहिए, जिसका समर्थन करते हुए जिलाधिकारी ने भी भागीदारी बढ़ाने का आह्वान किया। यहाँ बता दें कि बदायूं क्लब कुछ लोगों की व्यक्तिगत संपत्ति बन गया है, जिससे वहां आम जनता ने जाना बंद कर दिया है। कुछेक महत्वपूर्ण अवसरों पर आयोजक भोजन का लालच देकर कुछ लालची किस्म के लोगों को आमंत्रित कर लेते हैं, जिनकी संख्या अँगुलियों पर गिनने लायक ही रहती है। आयोजकों की चापलूसी के चलते अफसर मूक दर्शक बने रहते हैं, लेकिन आज एसएसपी ने सार्वजनिक रूप से टिप्पणी कर ही दी।
इससे पहले गणतंत्र दिवस के अवसर पर सुबह प्रभात फेरी निकाली गई। सरकारी, अर्द्धसरकारी, भवनों पर ध्वजारोहण और शैक्षिक संस्थाओं में ध्वजारोहण के साथ विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम और खेल कूद प्रतियोगिताएं आयोजित हुईं। स्पोर्ट स्टेडियम में दौड़ प्रतियोगिता का आयोजन हुआ। जिला करागार में बंदियों तथा पुरूष एवं महिला चिकित्सालय में रोगियों को स्वयं सेवी संस्थाओं द्वारा फल वितरित किए गए। स्थानीय नगर पालिका परिषद में सार्वजनिक सभा, सांस्कृतिक कार्यक्रम और कवि सम्मेलन आयोजित हुआ। सुभाष चौक, शास्त्री चौक, नेहरू चौक, गांधी पार्क, अम्बेडकर पार्क की साफ-सफाई की गई और महा पुरूषों की प्रतिमाओं पर माल्यार्पण किया गया।

Leave a Reply