विवादित राजेश यादव पुनः जिला पंचायत राज अधिकारी बने

दबंग व विवादित अधिकारी राजेश यादव।
दबंग व विवादित अधिकारी राजेश यादव।

बदायूं जिले के बहुचर्चित, दबंग और विवादित अफसर राजेश यादव को पुनः डीपीआरओ का कार्यभार दे दिया गया है, साथ ही वे पूर्व की ही तरह दो विकास क्षेत्रों के खंड विकास अधिकारी भी बना दिए गये हैं। राजेश यादव ने पुनः डीपीआरओ बनने का दावा किया था, जिसे गौतम संदेश लगातार छापता रहा है।

उल्लेखनीय है कि विधान परिषद सदस्य के चुनाव में आरोप लगे, तो चुनाव आयोग के निर्देश पर प्रभारी डीपीआरओ राजेश यादव को लखनऊ स्थित ग्राम्य विकास विभाग के प्रमुख सचिव के कार्यालय से 2 मार्च 2016 को संबंद्ध कर दिया गया था, लेकिन उनका न निलंबन हुआ और न आरोपों की विभागीय जांच हुई। आचार संहिता समाप्त होते ही उन्हें पुनः बदायूं जिले में तैनात कर दिया गया।

राजेश यादव ने बीती रात जिले में आमद करा दी और आज जिलाधिकारी शंभूनाथ ने राजेश यादव को पुनः जिला पंचायत राज अधिकारी का कार्यभार दे दिया, साथ ही पूर्व की ही तरह वे अंबियापुर और सहसवान विकास क्षेत्र में खंड विकास अधिकारी का दायित्व भी निभाते रहेंगे। चर्चा यह भी है कि उन्हें जिला पंचायत में एएमए का अतिरिक्त कार्यभार भी दिया जायेगा।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

दबंग व विवादित बीडीओ राजेश यादव बदायूं में पुनः तैनात

निजी गाड़ी पर नीली बत्ती लगा कर घूमते हैं राजेश यादव

विवादित डीपीआरओ पर गिरी गाज, मुख्यालय से संबद्ध

राजेश यादव की नीली बत्ती छिनी, सीएम वाला फोटो भी हटा

हाईकोर्ट व शासन के निर्देश के विपरीत राजेश ही बने डीपीआरओ

Leave a Reply