त्रस्त जनता के दर्द के निराकरण को कराई छापेमारी

 
  • सम्पूर्ण जनपद में पहली बार एक साथ औचक निरीक्षण से अधिकारियों एवं कर्मचारियों में मचा हड़कम्प 
  •  12 अधिकारी तथा 107 कर्मचारी पाए गए अनुपस्थित, सभी का कटेगा एक दिन का वेतन
  • प्रभारी डीएम ने खुद भी संभाला मोर्चा, कई जगह किया औचक निरीक्षण
प्रभारी डीएम देवेन्द्र सिंह कुशवाह के सामने रजिस्टर देखते उनके स्टेनो फहीम अहमद रिजवी एवं साथ में खड़े हैं जिला सूचना अधिकारी अगराज खान।
प्रभारी डीएम देवेन्द्र सिंह कुशवाह के सामने रजिस्टर देखते उनके स्टेनो फहीम अहमद रिजवी एवं साथ में खड़े हैं जिला सूचना अधिकारी अगराज खान।
दूरदराज़ से आने वाली जनता अपनी शिकायतों तथा समस्याओं के निस्तारण हेतु जिला, तहसील एवं ब्लाक मुख्यालयों तक दौड़ लगाती है और यदि अधिकारी एवं कर्मचारी ही उपस्थित न मिलें, तो त्रस्त जनता पर क्या गुज़रती है, यह तो भुक्तभोगी ही समझ सकता है। जनता के इसी दर्द को देखने हेतु प्रभारी जिलाधिकारी देवेन्द्र सिंह कुशवाहा ने स्वयं जिला ग्रामोद्योग एवं वाणिज्यकर कार्यालय, अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव ने विकास भवन, डीआरडीए के परियोजना निदेशक रामरक्षपाल ने बीएसए, पीडब्लूडी, नलकूप कार्यालय तथा उप जिलाधिकारी सदर, बिल्सी, बिसौली एवं सहसवान ने अपने-अपने क्षेत्रों में निरीक्षण कर अधिकारियों तथा कर्मचारियों की उपस्थिति को आकस्मिक रूप से चेक किया। जनपद भर में एक साथ इतनी बड़ी कार्रवाई अथवा औचक निरीक्षण से सभी कार्यालयों में तैनात अधिकारियों एवं कर्मचारियों में हड़कम्प मच गया। निरीक्षण में 35 कार्यालयों के 12 अधिकारी तथा 107 कर्मचारी अनुपस्थित पाए गए। प्रभारी जिलाधिकारी ने सभी अनुपस्थित अधिकारियों एवं कर्मचारियो का एक-एक दिन का वेतन काटने के निर्देश देते हुए जवाब-तलब करने को कहा है। उन्होंने कहा है कि औचक निरीक्षण का यह सिलसिला लगातार जारी रहेगा।
प्रभारी डीएम को जिला ग्रामोद्योग के कार्यालय में लटका मिला ताला।
प्रभारी डीएम को जिला ग्रामोद्योग के कार्यालय में लटका मिला ताला।
बुधवार को प्रातः 10: 00 बजे ही प्रभारी जिलाधिकारी ने अलग-अलग अधिकारियों को विभिन्न कार्यालयों के निरीक्षण हेतु दिशा निर्देश देते हुए औचक निरीक्षण के लिए भेजा, तो कई कार्यालयों में अधिकारी एवं कर्मचारी नदारद पाए गए। हद तो तब हो गई, जब प्रभारी जिलाधिकारी को वाणिज्यकर कार्यालय में प्रातः 11: 00 बजे के करीब चत्रुर्थ श्रेणी कर्मी जयपाल अपने वरिष्ठ अधिकारियों की मौजूदगी में बेंच पर सोता हुआ पाया गया। प्रभारी जिलाधिकारी ने डिप्टी कमिश्नर वाणिज्यकर को तत्काल कर्मचारी के विस्द्ध कार्रवाई कर अवगत कराने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा वाणिज्यकर कार्यालय के खण्ड द्वितीय में प्रशासनिक अधिकारी महेन्द्र पाल, डिप्टी कमिश्नर देवेन्द्र सिंह एवं वाणिज्यकर अधिकारी राम अनुज मौर्या तथा वरिष्ठ सहायक ओम प्रकाश अनुपस्थित पाए गए। जिला ग्रामोद्योग कार्यालय में क्षेत्रीय ग्रामोद्योग अधिकारी एनपी मौर्या 14 अप्रैल से कार्यालय नहीं आ रहे हैं, कर्मचारियों ने बताया कि इन पर तीन जिलों का चार्ज है और जिले में उपस्थित होने के लिए कोई भी दिन निश्चित नहीं है। कार्यालय में चतुर्थ श्रेणी कर्मी नरेन्द्र सिंह अनुपस्थित पाए गए।
बैंच पर सोता लापरवाह कर्मचारी।
बैंच पर सोता लापरवाह कर्मचारी।
अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) अशोक कुमार श्रीवास्तव द्वारा विकास भवन में किए गए औचक निरीक्षण में मुख्य पशु चिकित्सा कार्यालय में प्रधान सहायक राम प्रकाश सिंह, कनिष्ठ सहायक अनुपम कुमारी, डीआरडीए कार्यालय में कनिष्ठ लेखालिपिक राजीव भारती, अनिल कुमार गुप्ता, सहायक अभियन्ता रमेश चन्द्र साहू, यूपी डास्प में जिला परियोजना समन्वयक बीके सिंह, लेखाधिकारी राजीव सक्सेना, एएम (एस) रवि कुमार, जिला समाज कल्याण अधिकारी (वि.) में प्रधान सहायक राम खिलाड़ी, वरिष्ठ सहायक चन्द्र प्रकाश, जिला समाज कल्याण अधिकारी कार्यालय में कनिष्ठ सहायक सुशील कुमार, मोहम्मद मुस्लिम, आरईडी कार्यालय में संगणक योगेश अरोरा, चतुर्थ श्रेणी कर्मी राधीश कुमार, कनिष्ठ सहायक कौशल कुमार, जिला पंचायत राज कार्यालय में सहायक जिला पंचायत राज अधिकारी देवेन्द्र सिंह, कनिष्ठ सहायक अवनीश कुमार, जिला विकास कार्यालय में जिला विकास अधिकारी प्रदीप कुमार सोम, प्रधान सहायक प्रेमपाल सिंह, वरिष्ठ सहायक मनोज गुप्ता, सहायक लेखाकार महावीर सिंह, कनिष्ठ सहायक अतुल चैधरी, पत्रवाहक सुशीला देवी, प्रोबेशन कार्यालय में सीडब्ल्यूसी मोहम्मद आमिर, जिला कृषि अधिकारी कार्यालय में जिला कृषि अधिकारी आरके सिह, कनिष्ठ सहायक चन्द्र शेखर यादव, कनिष्ठ सहायक करन सिंह, कामदार, अनेक पाल, नेडा कार्यालय में पीओ नेडा एमए खांन, एमसीओ अरूण कुमार श्रीवास्तव, चतुर्थ श्रेणी कर्मी आदर्श कुमार जौहरी, जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय में कनिष्ठ सहायक राधे लाल शर्मा, सहकारिता में एफएस प्रतीक सक्सेना, मत्स्य पालन में वरिष्ठ सहायक एके शुक्ला, मत्स्य निरीक्षक शिव रतन अनुपस्थित पाए गए।
डीआरडीए के परियोजना निदेशक रामरक्षपाल द्वारा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, लोक निर्माण विभाग, नलकूप कार्यालयों का निरीक्षण किया गया, जिसमें लोक निर्माण विभाग के निर्माण खण्ड में आशुलिपिक रामौतार, प्रधान सहायक लज्जाराम, वरिष्ठ सहायक कल्यानी सक्सेना, वरिष्ठ सहायक शशि प्रभा सक्सेना, कनिष्ठ सहायक मुनेश कुमार, कु0 सादिया तहसीन, मीनू वर्मा, निर्मल गुप्ता, प्रान्तीय खण्ड में अधिशासी अभियन्ता एसके आर्या एवं किसी भी सहायक अभियन्ता के साथ ही कनिष्ठ सहायक अनिल कुमार उपस्थित नहीं पाए गए। बेसिक शिक्षा कार्यालय में वरिष्ठ सहायक कमल किशोर सक्सेना, मनोज कुमार, नलकूप खण्ड प्रथम में वरिष्ठ सहायक अमित कुमार सक्सेना, नलकूप खण्ड द्वितीय में वरिष्ठ सहायक स्वप्नदीप, राजीव कुमार सिंह, मुुंशी, धर्मेन्द्र कुमार, नलकूप खण्ड तृतीय में अधिशासी अभियन्ता उमेश चन्द्र, वरिष्ठ सहायक रवि कुमार, कार्य प्रेवेक्षक विनोद कुमार, मुंशी, अतुल पटेल, चपरासी हरि कृष्ण, रनर केशवराम, मेठ बहादुर सिंह, अनुपस्थित पाए गए।
उप जिलाधिकारी सदर प्रदीप कुमार यादव द्वारा तहसील कार्यालय के निरीक्षण के दौरान एडब्ल्यूबीएन सचिन शर्मा, अमरेश कुमार, सालारपुर ब्लाक कार्यालय में पत्रवाहक रामौतार, सीएचसी बिनावर में ड्राइवर इन्द्रपाल, वार्डब्यॉय अखिलेश कुमार, स्वीपर बब्लू अनुपस्थित पाए गए। उप जिलाधिकारी बिल्सी विधान जायसवाल द्वारा किए गए औचक निरीक्षण में तहसील कार्यालय के बासिल बाकी नवीस, अजमत अली, नायब नाजिर दिनेश कुमार सक्सेना, सहायक बासिल बाकी नवीस राहत अली, रजिस्ट्रार कानूनगो राम सहाय, एमजे भूपेन्द्र सिंह, सहायक बासिल बाकी नवीस विपिन कुमार शर्मा, लेखपाल शिशुपाल सागर, उप निबन्धक कार्यालय में उप निबन्धक धर्मपाल, निबन्धक लिपिक प्रभुदयाल, सीएचसी में एमओआईसी कृष्ण कुमार, रीना खागी, विक्रान्त सक्सेना, फातिमा जावेद, मुकेश सक्सेना तथा नगर पालिका परिषद में लिपिक राजीव शर्मा, जयप्रकाश, रजनी शर्मा, ओमपाल सिंह, नन्द किशोर अनुपस्थित पाए गए। उप जिलाधिकारी बिसौली गुलाब चन्द्र द्वारा किए गए निरीक्षण में ब्लाक कार्यालय के बीओ राजेन्द्र सिंह, वरिष्ठ सहायक प्रमोद कुमार मौर्या, सहायक लेखाकार राज बहादुर गौतम, पत्रवाहक सत्यवती, एडीओ एसटी दिनेश चन्द्र शर्मा, एडीओ कोआपरेटिव अविनाश चन्द्रवशिष्ट, अतिरिक्त कार्य अधिकारी पवन कुमार, लेखा सहायक अनूप शेखर सिंह, बीटीए सर्वेश कुमार शर्मा, टीए राजीव शर्मा, टीए राज कुमार, दीक्षान्त कुमार, सुनील कुमार, बाल विकास परियोजना कार्यालय में सीडीपीओ निर्मला देवी, मुख्य सेविका मधुरानी कश्यप, आसफपुर ब्लाक में खण्ड विकास अधिकारी सुभाष नेमा, एडीओ एसटी दिनेश चन्द्र शर्मा, अवर अभियन्ता आरईडी टी गंगवार, वरिष्ठ सहायक अहमद अली, टीए हरिनन्दन, मानवेन्द्र यादव, निर्भय सोलंकी अनुपस्थित पाए गए। उप जिलाधिकारी सहसवान हरिशंकर यादव द्वारा किए गए निरीक्षण में नगर पालिका परिषद के लेखाकार विनोद पाल सिंह, कर समाकर्ता विपिन कुमार, सुरेश बाबू, योगेश बाबू, चकबन्दी कार्यालय में न्याय लिपिक सुरेन्द्र कुमार गंगवार, एवं चकबन्दी अधिकारी के साथ ही सीएचसी पर एसएन आकांक्षा, बीपीएम उवैस अली, एमओएफ पल्लवी माहेश्वरी तथा नाजिश गुलजार अनुपस्थित पाई गई।

Leave a Reply