बदायूं में गाय-गंगा कटवाने वाले का नाम हो उजागर: आबिद

विधायक एवं वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष, दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा
विधायक एवं वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष, दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा

बदायूं सदर क्षेत्र से विधायक एवं वक्फ विकास निगम के अध्यक्ष, दर्जा राज्यमंत्री आबिद रजा ने आज पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि बदायूं जिले में गंगा और गाय काटने वाले का नाम उजागर होना चाहिए। उन्होंने और भी कई गंभीर मुददे उठाये।

पत्रकारों से बात करते हुए आबिद रजा ने कहा कि उच्च न्यायालय ने अवैध खनन के संबंध में सीबीआई जांच कराने का आदेश दिया है। शामली जिले के साथ बदायूं जिले का प्रमुखता से उल्लेख किया गया है, जो बदायूं जिले के लिए बड़े शर्म की बात है। उन्होंने कहा कि अवैध खनन कोई सफेदपोश नेता करा रहा है, उस नेता का प्रशासन खुलासा करे और वह स्वयं भी पता लगा कर बतायेंगे।

उन्होंने कहा कि सांसद धर्मेन्द्र यादव ने लोकसभा में महंगाई का मुददा उठाया, उसके लिए वह उन्हें धन्यवाद देते हैं, साथ ही कहा कि इंसान की जरूरतों में रोटी के बाद मकान का नंबर आता है और मकान के लिए रेता चाहिए होता है, लेकिन बदायूं में तीन सौ रूपये में बिकने वाला एक ट्राली रेत पच्चीस सौ और तीन हजार में बिक रहा है, इसलिए वह सांसद जी से मांग करते हैं कि वह लोकसभा में अवैध खनन के मुददे को भी उठायें। उन्होंने कहा कि विधान सभा में विधायक की हैसियत से वे भी इस मुददे को उठायेंगे।

उन्होंने कहा कि थाना सिविल लाइन के निवर्तमान एसओ ने गाय काटने का मुददा उठाया था, तब उन्होंने गाय कटवाने वाले नेता का नाम सार्वजनिक करने की मांग की थी। वह फिर कह रहे हैं कि बदायूं में गंगा और गाय कटवाने वालों के नाम उजागर किये जायें।

यहाँ यह भी बता दें कि सांसद धर्मेन्द्र यादव ने 10 मई 2016 को लोकसभा में सूखा पर बोलते समय नदियों और तालाबों को अवैध खनन से बचाने की मांग की थी।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

सांसद धर्मेन्द्र यादव के सवालों पर सूख गया सरकार का गला

धर्मेन्द्र यादव की छाया से मुक्त होना चाहते हैं आबिद रजा

सैदपुर में दिनदहाड़े दर्जनों लोगों ने मिल कर की गाय की हत्या

उत्तर प्रदेश में बदायूं बना खनन माफियाओं की राजधानी

अजय यादव ने जिला छोड़ने से पहले सपा नेता को किया नंगा

Leave a Reply