स्वीमिंग पूल में किशोर की मौत, विवाहिता ने लगाई फांसी, एक शव बरामद

मृतक अर्जुन का फाइल फोटो।

बदायूं जिले में अनिधिकृत कार्य बंद नहीं हो पा रहे हैं। तालाब को स्वीमिंग पूल बना कर बच्चों को लूटा जा रहा था, जिससे एक बच्चे की जान असमय ही चली गई। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है, इसके अलावा एक विवाहिता ने फांसी लगा ली व एक शव बरामद हुआ है।

पहली घटना कस्बा दातागंज की है, यहाँ मंडी समिति के पीछे सली अहमद नाम के व्यक्ति ने तालाब को स्वीमिंग पूल का रूप दे दिया है, जिसमें बच्चों को नहलाने व नाव में बैठाने के रूपये वसूलता है। बताते हैं कि आज दोपहर पांच बच्चे कथित स्वीमिंग पूल में आनंद लेने गये थे, तभी किसी तरह डूब गये। तीन बच्चे बच गये, जो शोर मचाते हुए भाग गये। शोर सुन कर स्वीमिंग पूल स्वामी ने ध्यान दिया, तो उसे एक बच्चा दिखाई दिया, जिसे उसने बचा लिया, लेकिन अर्जुन (11) पुत्र सुरेन्द्र मौर्य उसे दिखाई नहीं दिया, जिससे वह मर गया। सूत्रों का कहना है कि स्वीमिंग पूल स्वामी ने अर्जुन का शव बाद में देखा, तो उसे निकाल कर बराबर के खेत में डाल दिया।

सूचना मृतक के घर पहुंची, तो हाहाकार मच गया। मोहल्ला अरेला निवासी सुरेन्द्र ने कथित स्वीमिंग पूल स्वामी सली अहमद और उसके दो बेटों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करा दिया है। बताते हैं कि तालाब को स्वीमिंग बना कर बच्चों को लंबे समय से लूटा जा रहा था। प्रशिक्षित व्यक्ति न होने के कारण हादसा हुआ। चौंकाने वाली बात यह है कि अवैध स्वीमिंग पूल के बारे में प्रशासन को जानकारी नहीं थी।

इसके अलावा कादरचौक थाना क्षेत्र के गाँव असरासी में एक विवाहिता ने फांसी लगा कर जान दे दी, लेकिन मायके वाले दहेज हत्या का आरोप लगा रहे हैं। थाना जरीफनगर क्षेत्र में गाँव मालपुर ततेरा के जंगल में शव बरामद हुआ है। पुलिस ने पागल का शव बता कर पोस्टमार्टम कराना भी उचित नहीं समझा।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

Leave a Reply