ब्रजेश पर फिर लगा युवक की हत्या का आरोप, सात निलंबित

ब्रजेश यादव
ब्रजेश यादव

उत्तर प्रदेश पुलिस की कार्यप्रणाली पर फिर सवाल खड़े हो गये हैं। पुलिस पर युवक की हत्या का आरोप लगा है। एसएसपी ने एसओ सहित सात पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है।

सनसनीखेज वारदात संभल जिले के थाना धनारी की है, यहाँ गाँव राहतोली थाना गंगारी जिला संभल के निवासी नरेश पुत्र लाल सिंह को घायल अवस्था में पाया गया। उपचार हेतु नरेश को बहजोई स्वास्थ्य केंद्र में ले जाया गया, तो वहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मृतक के परिजन पुलिस पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं।

पुलिस पर हत्या का आरोप लगते ही हड़कंप मच गया। बताते हैं कि मृतक का साला एक लड़की को भगा ले गया है, इसलिए पुलिस नरेश को हिरासत में रखे हुए थी। परिजन नरेश को बेरहमी से पीटने का पुलिस पर आरोप लगा रहे हैं। एसपी अतुल सक्सेना ने मौका मुआयना कर एसओ ब्रजेश यादव, सब-इंस्पेक्टर हरी सिंह, सिपाही चन्द्रपाल, विजयपाल, ब्रजेश कुमार, विनोद कुमार और उषा को निलंबित कर दिया है।

उल्लेखनीय है कि ब्रजेश यादव बदायूं जिले की कोतवाली बिसौली में तैनात थे, तब 1 अप्रैल 2014 को भी पुलिस हिरासत में एक व्यक्ति मर गया था, जिसके बाद बड़ा बवाल हुआ था, लेकिन तब ब्रजेश के विरुद्ध कार्रवाई नहीं हुई थी। शनिवार को थाना धनारी में हुई वारदात की सूचना यहाँ पहुंची, तो लोग अनायास ही कह उठे कि ब्रजेश यादव की हिरासत में ही लोगों की मौत क्यूं होती है?

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

पुलिस हिरासत में युवक की मौत पर बवाल, आगजनी

बिसौली कांड को तस्वीरों में देखने के लिए क्लिक करें लिंक

यादवों से गैर यादव और पुलिस की दहशत से यादव सहमे

Leave a Reply