भूकंप की दृष्टि से असुरक्षित है फिनिक्स मॉल, प्रशासन बेपरवाह

फिनिक्स मॉल के पश्चिमी द्वार की दीवार व छत में नजर आ रही दरारें।
फिनिक्स मॉल के पश्चिमी द्वार की दीवार व छत में नजर आ रही दरारें।

भूकंप का केंद्र भले ही नेपाल हो, लेकिन भूकंप की दहशत भारत में भी कम नहीं है। आंशिक रूप से भी प्रभावित क्षेत्रों के लोगों के चेहरों पर खौफ स्पष्ट नजर आ रहा है। भूकंप को लेकर तमाम सरकारी और गैर सरकारी संगठन आम जनता को सुझाव देकर जागरूक भी कर रहे हैं, लेकिन बरेली में स्थित फिनिक्स मॉल की ओर किसी का ध्यान नहीं है। बताया जा रहा है कि भूकंप की दृष्टि से फिनिक्स मॉल सुरक्षित नहीं है।
बरेली शहर में पीलीभीत बाई पास रोड के किनारे स्थित फिनिक्स मॉल में भूकंप की दृष्टि से पर्याप्त साधन नहीं हैं। सूत्रों का कहना है कि मॉल के निर्माण में उस तकनीक का भी प्रयोग नहीं किया गया है, जिससे इस मॉल पर भूकंप का असर न हो, लेकिन फिलहाल बात तकनीक की नहीं, बल्कि भवन की गुणवत्ता की कर रहे हैं। मॉल का निर्माण हुए अभी बहुत समय नहीं गुजरा है, फिर भी भवन में दरारें पड़ गई हैं। मॉल के भवन की कई दीवारों में जगह-जगह ऐसी दरारें नजर आ रही हैं, जिनमें अंगुलियाँ तक घुस जायेंगी। पश्चिमी द्वार के ऊपर दीवार में न सिर्फ दरारें नजर आ रही हैं, बल्कि बीम भी ऐसा नजर आ रहा है कि हल्के झटके से ही धराशाई हो जायेगा। जैसा नजर आ रहा है, वास्तव में भी उतना ही कमजोर हुआ, तो जाहिर है कि भूकंप के झटके मॉल के लिए बहुत खतरनाक साबित हो सकते हैं। सुबह दस बजे से देर रात तक हजारों लोग मॉल में रहते हैं, ऐसे में कोई अनहोनी हुई, तो बड़ी संख्या में जनहानि हो सकती है, इसलिए शासन-प्रशासन को समय रहते ही कदम उठाने होंगे और मॉल के लापरवाह प्रबंध तंत्र के विरुद्ध तत्काल ही कड़ी कार्रवाई करनी होंगी, वरना अनहोनी के बाद किसी के पास कोई जवाब नहीं होगा।

Leave a Reply