सीएम ने किया पतंजलि फूड एंड हर्बल पार्क का शिलान्यास

पतंजलि फूड एण्ड हर्बल पार्क का शिलान्यास करते मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, साथ में खड़े हैं बाबा रामदेव, बालकृष्ण और राजेन्द्र चौधरी।
पतंजलि फूड एण्ड हर्बल पार्क का शिलान्यास करते अखिलेश यादव, साथ में खड़े हैं बाबा रामदेव, बालकृष्ण और राजेन्द्र चौधरी।

उत्तर प्रदेश में निवेश और व्यापार की अपार सम्भावनाएं हैं। उत्तर प्रदेश बड़ा बाजार है, समाजवादी सरकार उद्यमियों को उत्पाद इकाइयां स्थापित करने के लिए हर सम्भव सहयोग प्रदान कर रही है, जिससे यहां के किसानों को अपनी कृषि उपजों को कच्चे माल के रूप में आपूर्ति करने का बेहतर अवसर मिलने के साथ-साथ नौजवानों को रोजगार की उपलब्धता हो सके। इसके लिए जहां निवेश फ्रेण्डली नीतियों को बनाकर लागू किया गया, वहीं विश्वस्तरीय बुनियादी सुविधाओं का विकास भी किया गया।

उक्त विचार मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने लोक भवन में पतंजलि फूड एण्ड हर्बल पार्क के शिलान्यास के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में व्यक्त किये। पार्क यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में 455 एकड़ क्षेत्र में 1666.80 करोड़ रुपए के निवेश से पतंजलि आयुर्वेद द्वारा स्थापित किया जा रहा है। इस विशाल परियोजना के लिए स्वामी रामदेव एवं आचार्य बाल कृष्ण की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे क्षेत्रीय किसानों एवं नौजवानों को तो लाभ होगा ही, साथ ही लोगों को शुद्ध, प्राकृतिक उत्पाद प्राप्त होंगे। मुख्यमंत्री ने एक बाजार के रूप में प्रदेश की चर्चा करते हुए कहा कि यदि कोई उद्यमी केवल दूध एवं सब्जियों के क्षेत्र में ही निवेश करना चाहे, तो भी उसे अकेले उत्तर प्रदेश में इतनी बड़ी संख्या में उपभोक्ता मिलेंगे, जो किसी देश में सम्भव नहीं है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार ने प्रदेश के बच्चों एवं किसानों को ध्यान में रखते हुए मध्यान्ह भोजन योजना के तहत सरकारी विद्यालयों में दूध एवं फल का वितरण शुरू कराया है। इससे खपत बढ़ने के फलस्वरूप किसानों को अधिक दूध एवं फल उत्पादन की प्रेरणा मिलेगी। राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न परियोजनाओं की चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादी सरकार तेजी से परियोजनाओं को पूरा कराने में महारत हासिल कर चुकी है। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि जहां एक ओर मात्र 23 माह में 302 कि. मी. लम्बे ऐसे एक्सप्रेस-वे का निर्माण कराया गया, जिस पर भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमान भी उतर सकते हैं, वहीं दूसरी ओर बहुत कम समय में लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना का पहला चरण पूरा किया गया, जिसके ट्रायल रन का 01 दिसम्बर, 2016 को शुभारम्भ किया जाएगा। बिजली सहित अन्य बुनियादी सुविधाओं का उल्लेख करते हुए श्री यादव ने कहा कि बिजली के पारेषण, वितरण एवं उत्पादन, तीनों क्षेत्रों में जिस पैमाने पर काम हुआ है, ऐसा उदाहरण बहुत कम मिलता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के साथ विशिष्ट मण्डियों का भी निर्माण करा रही है, जिसका सीधा लाभ किसानों एवं निवेशकों को मिलेगा। इसी प्रकार यमुना विकास प्राधिकरण में भी मण्डी का निर्माण कराया जा रहा है।

श्री यादव ने विकास को खुशहाली का मार्ग बताते हुए कहा कि पतंजलि आयुर्वेद की इस पहल से राज्य सरकार की इस धारणा को और बल मिलेगा। उन्होंने स्वामी रामदेव के प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि इनके प्रयासों से लोगों को योग के माध्यम से स्वास्थ्य ठीक रखने की प्रेरणा मिली। साथ ही पतंजलि आयुर्वेद के उत्पादों के माध्यम से लोगों को प्रकृति के करीब पहुंचने का मौका मिला। स्वास्थ्य को बहुत बड़ा धन बताते हुए उन्होंने कहा कि तमाम सुविधाओं के बावजूद अगर स्वास्थ्य ठीक नहीं है, तो उपभोग के सारे सामान व्यर्थ हैं। इसलिए स्वास्थ्य को लेकर स्वामी रामदेव का प्रयास सराहनीय है। इससे देश एवं समाज को काफी लाभ मिल रहा है। संस्था को यह इकाई स्थापित करने के लिए राज्य सरकार की ओर से हर सम्भव मदद उपलब्ध कराने का भरोसा देते हुए उन्होंने कहा कि इससे अन्य निवेशकों को भी प्रदेश में अपनी इकाइयां स्थापित करने का प्रोत्साहन मिलेगा। उन्होंने यूरोप में स्थापित फूलों की मण्डी का जिक्र करते हुए कहा कि स्वामी रामदेव को इसी तर्ज पर स्थापित होने वाले फूड पार्क को विकसित करने का प्रयास करना चाहिए। इस अवसर पर राज्य सरकार एवं पतंजलि आयुर्वेद के बीच सम्पन्न एम.ओ.यू. का आदान-प्रदान किया गया। इसके अलावा पतंजलि फूड एण्ड हर्बल पार्क पर आधारित पुस्तिका का विमोचन भी किया गया।

संबंधित खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

आज हर्बल पार्क का शिलान्यास, कल होगा मेट्रो का शुभारंभ

Leave a Reply