नजीब की माँ, भाई और जेएनयू के छात्र नेताओं सहित डेढ़ सौ अज्ञात लोगों पर मुकदमा

प्रदर्शनकारियों को संबोधित करती जेएनयू छात्र संघ की उपाध्यक्ष शेहला रशीद शोरा।

नई दिल्ली स्थित जेएनयू परिसर से लापता बदायूं के छात्र नजीब को बरामद करने को लेकर प्रदर्शन करने वालों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया गया है। नजीब की माँ, भाई और जेएनयू के छात्र नेताओं को नामजद करते हुए डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस व प्रशासन की कार्रवाई से लोग स्तब्ध हैं।

उल्लेखनीय है कि पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 8 फरवरी को नजीब के परिजनों, जेएनयू और एएमयू के छात्र नेताओं सहित अन्य तमाम लोगों ने मिल कर दिल्ली पुलिस और केंद्र सरकार के विरुद्ध प्रदर्शन करते हुए नजीब को बरामद करने की मांग की थी। अराजनैतिक प्रदर्शन में राजनैतिक हस्तक्षेप के चलते बड़ा हंगामा भी हो गया था।

उक्त प्रदर्शन को लेकर उड़न दस्ता टीम ने सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। उड़न दस्ता टीम के जीसी पन्त और आशीष शर्मा की तहरीर पर नजीब की माँ नफीस फतिम, नजीब के भाई और जेएनयू के छात्र नेता मोहत पांडे एवं नाहस माला को नामजद करते हुए सौ-डेढ़ सौ अज्ञात लोगों के विरुद्ध धारा- 144 के उल्लंघन का मुकदमा एक्ट- 1860 के सेक्शन- 188 के अंतर्गत दर्ज किया गया है।

मुकदमा दर्ज होने की सूचना पर लोग स्तब्ध हैं, क्योंकि प्रदर्शन की पूर्व में ही सूचना दे दी गई थी, साथ ही व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार भी किया था, लेकिन पुलिस व प्रशासन ने आयोजकों को प्रदर्शन करने से नहीं रोका और न ही उन्हें नोटिस जारी किया गया, इसके अलावा नामजदों में कई चर्चित नेताओं के नाम नहीं खोले गये हैं, जिससे शहर में चर्चा है कि मुकदमा राजनैतिक दबाव में दर्ज कराया गया है।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं)

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

नजीब की बरामदगी को किये गये प्रदर्शन में शेहला और आबिद में तीखी नोंक-झोंक

मुसलमानों, समाजवादी पार्टी को बदायूं और उत्तर प्रदेश से उखाड़ फेंको: फात्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published.