11 साल के बच्चे सहित दो की हत्या, गाय बचाने पर मारी गोली

उझानी निवासी घायल अखिलेश को एंबुलेंस से बरेली ले जाते परिजन व कर्मचारी।
उझानी निवासी घायल अखिलेश को एंबुलेंस से बरेली ले जाते परिजन व कर्मचारी।

बदायूं के हालात देख कर लग रहा है कि यहाँ तालिबानियों जैसा कुशासन कायम हो गया है। न पुलिस की मदद और न अदालत का सहारा, लोग अपना फैसला खुद ही कर रहे हैं। ताबड़तोड़ हत्याओं से जिला थर्रा गया है। चारों ओर दहशत का आलम है और हाहाकार मचा हुआ है।

सदर कोतवाली क्षेत्र में शुक्रवार की सुबह सब से पहली खबर आई कि मोहल्ला पंजाबी निवासी राजू की श्मशान भूमि में हत्या कर दी गई है। मृतक राजू पुलिस का चहेता व्यक्ति था और पोस्टमार्टम हाउस पर पोस्टमार्टम करने में डॉक्टर की मदद करता था, साथ ही अज्ञात और एक्सीडेंट के ऐसे शव जिन्हें लोग देखना तक पसंद नहीं करते हैं, उन्हें पुलिस के कहने पर इकट्ठा कर के पोस्टमार्टम हाउस लाता था, ऐसे व्यक्ति के हत्यारों का पुलिस अभी तक पता नहीं सकी है।

बिसौली कोतवाली क्षेत्र के गाँव कुढ़ौली में अभी कुछ देर पहले नौ बजे के आसपास कक्षा तीन में पढ़ने वाले 11 वर्षीय कृष्णा यादव नाम के बच्चे को गोली मार कर मौत के घाट उतार दिया। घूर की जमीन के विवाद में चचेरे चाचा-ताऊ पर हत्या करने का आरोप है। बताया जाता है कि छत पर कृष्णा के पिता बृजपाल सोते थे, लेकिन आज कृष्णा पहुंच गया। हत्यारे आये और अँधेरे में कृष्णा को गोली मार कर भाग गये। उसके दूध का गिलास बराबर में ही रखा रह गया। दूध ठंडा होने का इंतजार कर रहा था, तब तक वह गोली का शिकार हो गया। अभी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है और न ही अभी तक पुलिस किसी को गिरफ्तार कर सकी है।

कस्बा उझानी के मोहल्ला राजनगर में 26 वर्षीय अखिलेश साहू अभी कुछ देर पहले 9: 30 बजे के आसपास खाना खाकर घर से बाहर टहलने निकला, तो गोलियों की आवाज से समूचा वातावरण दहल गया। लोगों ने आकर देखा, तो अखिलेश जमीन पर पड़ा था। आनन-फानन में उसे जिला अस्पताल लाया गया, तो हालत गंभीर होने के चलते प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टर ने उसे बरेली के लिए रेफर कर दिया। अखिलेश को तीन गोलियां लगी हैं। वह बोल नहीं पा रहा है, साथ ही हालत चिंताजनक बताई जा रही है।

घटना स्थल पर राजनगर में ही एक काली डिस्कवर बाइक व गाय भी पड़ी है, जिससे माना जा रहा है कि तस्कर गाय ले जा रहे होंगे, जिन पर अखिलेश की नजर पड़ गई होगी, तो वह तस्करों से भिड़ गया होगा, जिससे तस्कर उसे गोली मार कर फरार हो गये। अभी मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है और न ही पुलिस किसी को पकड़ सकी है। यहाँ बता दें कि बदायूं में एसएसपी अतुल सक्सेना कटरा सआदतगंज की घटना को लेकर निलंबित कर दिए गये थे, तब से पद रिक्त था। आज ही संतोष कुमार सिंह की तैनाती का आदेश आया है, लेकिन उनके ज्वाइन करने से पहले ही अपराध का ग्राफ आसमान छूने लगा है।

Leave a Reply