पिछड़ों के अधिकारों लेकर लोकसभा में फिर गरजे धर्मेन्द्र

सांसद धर्मेन्द्र यादव
सांसद धर्मेन्द्र यादव

बदायूं लोकसभा क्षेत्र के लोकप्रिय सांसद धर्मेन्द्र यादव आज फिर लोकसभा में गरजे। उन्होंने पिछड़ा वर्ग को आरक्षण के अनुरूप लाभ न मिलने का गंभीर मुददा उठाया। उन्होंने स्पष्ट रूप से यह भी कहा कि कानूनी प्रावधान है, लेकिन पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों को रोकने के षड्यंत्र होते रहे हैं। उन्होंने पिछड़े वर्ग के लिए बजट आवंटित करने की मांग की।

लोकसभा में बोलते हुए सांसद धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि जिस प्रकार अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए बजट की व्यवस्था है, उसी प्रकार पिछड़ा वर्ग के लिए बजट आवंटित किया जाये। उन्होंने कॉंग्रेस पर जाति आधारित जनगणना न कराने का भी आरोप लगाया, साथ ही कहा कि कॉंग्रेस ने षड्यंत्र के तहत बायोमैट्रिक नियम बनाया, ताकि पिछड़े वर्ग की संख्या देश के सामने न आ सके। उन्होंने जाति आधारित जनगणना कराने की मांग की। सांसद ने क्रीमी लेयर की सीमा समाप्त कराने की भी मांग की।

सांसद ने प्रमोशन में बाधक शासनादेश को काला कानून करार देते हुए कहा कि इसे वापस लेना चाहिए। उन्होंने वजीफे का मुददा उठाते हुए कहा कि 18 वर्षों से वजीफा नहीं बढ़ाया गया है। बोले- कक्षा- पांच तक के छात्रों को 25 रूपये और कक्षा- आठ तक के छात्रों को 40 रूपये दिए जा रहे हैं, इसमें सुधार किया जाये।

संबंधित खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें लिंक

इलाहाबाद के पीड़ित युवा को लेकर सांसद धर्मेन्द्र यादव गंभीर

बदायूं के कुख्यात अफसर को सांसद धर्मेन्द्र यादव ने हड़काया

सांसद धर्मेन्द्र यादव ने खुशबू के परिवार को खुशी दान में दी

सांसद धर्मेन्द्र यादव का जमीनी स्तर पर कद बड़ा

कॉलेज में एल्मुनियम के फ्रेम देख कर चढ़ गया सांसद का पारा

Leave a Reply