विधायक निधि में लूट, नई-नई संस्थाओं ने कराई आमद

बसपा विधायक बिट्टन अली।
बसपा विधायक बिट्टन अली।

विधायक और सांसद निधि की व्यवस्था विकास की दृष्टि से की गई थी, लेकिन यह व्यवस्था सरकारी धन हजम करने का एक और माध्यम बन कर रह गई है। अफसर, बाबू, विधायक, सांसद, ठेकेदार और कार्यदायी संस्था मिल कर पूरी की पूरी निधि हजम कर जाते हैं। पिछले पांच वर्षों में हालात कुछ ज्यादा ही खराब हुए हैं, जो दिन-ब-दिन और खराब होते जा रहे हैं। निधि हजम करने में कोई पीछे नहीं है। सत्ताधारी दलों के साथ विपक्ष के विधायक भी खुल कर अनैतिक कार्य कर रहे हैं, लेकिन कोई कुछ इसलिए नहीं बोल रहा कि कार्रवाई होने पर सत्ता पक्ष के विधायक आड़े आ जाते हैं।

बात फिलहाल बदायूं जिले में स्थित बिल्सी विधान सभा क्षेत्र के बसपा विधायक बिट्टन अली की करते हैं। गत वित्तीय वर्ष में इन्होंने ईमानदारी की छाप छोड़ी और विकास व गुणवत्तापरक कार्यों को वरीयता दी, लेकिन इस वर्ष यह भी माफियाओं के चंगुल में फंस गये। विधायक बिट्टन अली ने एक वर्ष की पूरी निधि गाँवों में हाईमास्ट लाइट लगाने के लिए प्रस्तावित कर दी है। आने वाले दिनों में धन भी जारी कर दिया जायेगा और कागजों पर लाइट भी लगा दी जायेंगी और कोई देखने तक नहीं जायेगा।

मान लेते हैं कार्य गुणवत्तापरक ही होगा, तो भी कई सवाल उठते हैं, जिनका जवाब कोई देने को तैयार नहीं हैं। गाँव में लगने वाली लाइट की रखरखाव की कोई व्यवस्था नहीं है। नियमानुसार ग्राम पंचायतों को हस्तानांतरित करनी चाहिए, लेकिन नहीं की जाती। सब से बड़ा सवाल यह है कि लाइट का कनेक्शन कहाँ से होगा और बिल का भुगतान कौन करेगा? अगर, कटिया से जलाई जायेंगी, तो अफसर बिना बिजली कनेक्शन के बिजली चोरी करने के इरादे से जान कर लाइट लगाने की अनुमति कैसे दे देते हैं? सवाल यह भी है कि पूरी निधि सिर्फ लाइट लगाने में ही खर्च कर दी जायेगी, तो बाकी के जरूरी विकास कार्य कैसे होंगे? इन सब सवालों का जवाब देने को कोई तैयार नहीं है, क्योंकि सभी के हिस्से निश्चित हैं, इसलिए विधायकों और सांसदों को दी जाने वाली निधि की व्यवस्था ही खत्म होनी चाहिए।

लोगों के मन में सब से पहला सवाल आता है कि गोलमाल कैसे होता है?, तो सरकारी सूत्रों का कहना है कि दबाव में बाजार मूल्य के अनुपात में लाइट, यात्री शेड, पेयजल स्टेंड, शवदाह गृह, स्मृति द्वार वगैरह के स्टीमेट पाँच गुना ज्यादा मूल्य के जारी करा लिए हैं। लाइट की ही बात करें, तो पैंतीस-चालीस हजार रुपए में लाइट लगा दी जाती है, जबकि स्टीमेट 1.20 लाख रुपए प्रति लाइट का है। कुछ संस्थाओं ने डेढ़ लाख तक के स्टीमेट बनवा रखे हैं, जिसमें साठ हजार रुपए विधायक ले लेता है और बाकी रुपए बाबू, अफसर और संस्था मिल कर खा जाते हैं, क्योंकि चालीस हजार रुपए में भी अच्छी क्वालिटी की लाइट लगाई जा सकती है, पर मौके पर बीस हजार रुपए की लाइट भी नहीं लगाई जाती। सवा करोड़ की निधि में आधी रकम अकेला विधायक और बाकी आधी में से आधी रकम संस्था, अफसर और बाबू हजम कर जाते हैं, मौके पर मुश्किल से एक चौथाई रकम लगाई जाती है। एक-दो साल बाद मौके पर लाइट, शेड आदि के अवशेष भी नजर नहीं आते।

निधि का गोलमाल करने में बदायूं नंबर- वन जिला बन गया है। निधि हजम करने के नये-नये हथकंडे बदायूं में ही इजाद किये जाते हैं, जो बाद में समूचे उत्तर प्रदेश में लागू हो जाते हैं, इसीलिए बदायूं में संस्थाओं की बाढ़ आई हुई है। इंडियन प्रोजैक्ट्स एंड कन्स्ट्रक्शन को-ऑपरेटिव लिमिटेड और भारतीय को-ऑपरेटिव ग्रामीण विकास एंड निर्माण लिमिटेड नाम की दो और संस्थाओं ने आमद करा दी है और सीडीओ को पत्र देकर बदायूं में कार्य करने की इच्छा जाहिर की है, जबकि इन संस्थाओं के पास एई, जेई और अन्य तकनीकी स्टाफ की तो बात ही छोड़िये, कार्यालय तक नहीं है, जिससे जाहिर है कि इनका सेटिंग कर के धन हजम करने का ही है।

बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दिया गया हाईमास्ट लाइट का प्रस्ताव।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दिया गया हाईमास्ट लाइट का प्रस्ताव।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- वन।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- एक।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- दो।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- दो।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- तीन।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- तीन।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- चार।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- चार।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- पांच।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- पांच।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- छः।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- छः।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- सात।
बसपा विधायक बिट्टन अली द्वारा दी गई हाईमास्ट लाइट की प्रस्तावित सूची नंबर- सात।

Leave a Reply