पीलीभीत में दरोगा की गोली मार कर हत्या, आरोपी गिरफ्तार

मृतक दरोगा सुभाष यादव
मृतक दरोगा सुभाष यादव

पुलिस विभाग के लिए एक और बुरी खबर है। बीती रात गश्त के दौरान एक दरोगा को गोली मार दी गई, जिससे उनकी मृत्यु हो गई। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मृतक के घर हाहाकार मचा हुआ है।

दुःखद घटना पीलीभीत जिले में स्थित कस्बा पूरनपुर की है, जहाँ 25/25 फरवरी की रात में करीब ढाई बजे एचसीपी सुभाष यादव को गोली मार दी गई, उन्होंने कुछ देर में ही दम तोड़ दिया। बताते हैं कि दरोगा सुभाष यादव प्राइवेट गाड़ी मैजिक से गश्त कर रहे थे, तभी एक व्यक्ति ने उनकी गाड़ी पर पत्थर मार दिया, उन्होंने गाड़ी रोकी, तो पत्थर मारने वाला व्यक्ति उनसे न सिर्फ भिड़ गया, बल्कि उनकी रिवाल्वर छीन कर गोली मार दी। आरोपी ने और भी कई लोगों को गोली मार दी, जिनका उपचार चल रहा है। आरोपी भी पकड़ लिया गया है, जिसका नाम राजेन्द्र बताया जा रहा है। बताते हैं कि राजेन्द्र सिरफिरा है। सुभाष यादव के साथ घटित हुई वारदात का पता चलते ही पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया, साथ ही शोक की लहर दौड़ गई।

आरोपी राजेन्द्र
आरोपी राजेन्द्र

सुभाष यादव के सबसे बड़े बेटे विकास यादव (35) का विवाह हो गया है, जो ग्वालियर में स्थित एक बैंक में मैनेजर हैं। एक बेटी शिखा यादव (28) का भी विवाह हो गया है और सबसे छोटा बेटा वरुण यादव (25) अविवाहित है एवं नोयडा स्थित एक होटल में मैनेजर है। पत्नी गार्गी देवी बरेली स्थित कर्मचारी नगर में रहती हैं। सुभाष यादव मूल रूप से जिला फर्रुखाबाद में स्थित थाना मेरापुर क्षेत्र के गाँव दहेलिया के निवासी थे।

Leave a Reply