कांवरियों की पिटाई, लालपुल चौकी प्रभारी भी भिड़े, एसएसपी ने संभाला मोर्चा

लालपुल पर कांवरियों से उलझते पुलिस वाले और मौके पर तैनात पुलिस बल।

बदायूं के एसएसपी चन्द्रप्रकाश के कड़े दिशा-निर्देशों के बावजूद सदर कोतवाली पुलिस कांवर यात्रा की सुरक्षा करने में असफल साबित हुई है। पुलिस की लापरवाही के चलते आज फिर बवाल हो गया। कांवरियों के साथ मारपीट की गई, वहीं लालपुल चौकी प्रभारी ही कांवरियों से उलझ गये, जिससे आक्रोशित कांवरियों ने कई घंटे निरंतर प्रदर्शन किया। कांवरियों के आक्रोश को पालिकाध्यक्ष पद के संभावित भाजपा प्रत्याशियों ने हवा देने का प्रयास किया, जिसके चलते पुलिस की साँस थमी रही। एसएसपी ने मौके पर पहुंच कर स्वयं मोर्चा संभाला, वरना बड़ा बवाल हो सकता था।

घटना सदर कोतवाली क्षेत्र की है। पथिक चौक के आसपास निकलते समय बरेली जिले के कांवरियों के साथ मारपीट की गई। मारपीट करने वाले घटना को अंजाम देकर फरार हो गये, जिसके बाद आक्रोशित कांवरियों ने प्रदर्शन किया, तो पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा। पुलिस के समझाने के बाद इधर का बवाल शांत हुआ, तभी लालपुल पर बवाल शुरू हो गया। रूट डायवर्जन को लेकर लालपुल चौकी प्रभारी अवधेश कुमार और एक हेड-कांस्टेबिल कांवरियों को संभाल नहीं पाये। आवेश में चौकी प्रभारी ने एक कांवरिये की बाइक पर लगा झंडा उतार फेंका, साथ ही अभद्रता कर दी, तो कांवरिया भड़क गये। हजारों की संख्या में निरंतर आ रहे कांवरियों का जमावड़ा होने लगा, तो पुलिस के हाथ-पाँव फूल गये। चौकी प्रभारी के विरुद्ध कार्रवाई की मांग करते हुए कांवरिया प्रदर्शन करने लगे। पुलिस कांवरियों को समझा पाती, उससे पहले पालिकाध्यक्ष पद के संभावित भाजपा प्रत्याशी तमाम लोगों के साथ मौके पर पहुंच गये और माहौल को बिगाड़ने का प्रयास करने लगे।

घटना स्थल पर हालात बिगड़ते देख शीर्ष अफसरों को सूचना दी गई, तो एसएसपी चन्द्रप्रकाश स्वयं मौके पर पहुंच गये। एडीएम (प्रशासन), एएसपी (सिटी), सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ (सिटी), कोतवाली और थाना सिविल लाइन पुलिस के साथ पीएसी भी मौके पर बुला ली गई। अफसरों ने मिल कर कांवरियों और नेताओं को समझाने का प्रयास किया, इसके बावजूद रात 11 बजे तक मौके पर भीड़ जमी रही। प्रदर्शनकारियों ने चौकी प्रभारी के विरुद्ध कार्रवाई करने की मांग की, तो एसएसपी ने जाँच करा कर कार्रवाई कराने का आश्वासन दे दिया, जिसके बाद बवाल शांत हुआ, इस बीच बारिश भी आ गई, तो भीड़ तितर-बितर हो गई। सूत्रों कहना है कि पथिक चौक की ओर कांवरियों को पीटने के प्रकरण में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। यहाँ यह भी बता दें कि 23 जुलाई को कांवरियों को लेकर तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई थी, इसके बावजूद सदर कोतवाली पुलिस गंभीर नहीं हुई, जबकि आज कई गुना ज्यादा भीड़ थी।

(गौतम संदेश की खबरों से अपडेट रहने के लिए एंड्राइड एप अपने मोबाईल में इन्स्टॉल कर सकते हैं एवं गौतम संदेश को फेसबुक और ट्वीटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं, साथ ही वीडियो देखने के लिए गौतम संदेश चैनल को सबस्क्राइब कर सकते हैं)

पढ़ें: जाम के चलते जामा मस्जिद की ओर चले गये कांवरिया, तनाव, पुलिस तैनात

Leave a Reply