समस्याओं का समाधान निर्धारित अवधि में करें: मुख्य सचिव

 समीक्षा बैठक के बाद निर्माणाधीन लखनऊ हाॅट अवध शिल्प ग्राम परियोजना का औचक स्थलीय निरीक्षण करते हुए मुख्य सचिव।

समीक्षा बैठक के बाद निर्माणाधीन लखनऊ हाॅट अवध शिल्प ग्राम परियोजना का औचक स्थलीय निरीक्षण करते हुए मुख्य सचिव।
उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव आलोक रंजन ने समस्त प्राधिकरणों के उपाध्यक्षों को सख्त निर्देश दिये हैं कि आम नागरिकों की समस्याओं का समाधान निर्धारित अवधि में प्राथमिकता से कराने हेतु आॅन लाइन सर्विसेज सेवा उपलब्ध करायी जाये। उन्होंने कहा कि प्राधिकरणों को अपनी बेहतर कार्यशैली के माध्यम से आम नागरिकों में अपनी बेहतर छवि बनानी होगी। उन्होंने कहा कि प्राधिकरणों को अपनी लैण्ड बैंक विकसित कर आम नागरिकों को अधिक से अधिक आवासीय सुविधायें औचित्यपूर्ण दर पर उपलब्ध कराने हेतु आवश्यक कार्यवाही प्राथमिकता पर सुनिश्चित करानी होगी। उन्होंने कहा कि समीक्षा बैठकें अब आंकड़ों पर नहीं, बल्कि परियोजनाओं की प्रगति का स्थलीय निरीक्षण भी किया जायेगा। उन्होंने आवास विकास परिषद द्वारा निर्माणाधीन लखनऊ हाॅट अवध शिल्प ग्राम परियोजना का स्थलीय निरीक्षण बैठक समाप्ति के तुरन्त बाद स्वयं द्वारा करने के निर्देश दिये।
मुख्य सचिव आज शास्त्री भवन- लखनऊ स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में आवास विकास के कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुये आवश्यक निर्देश दे रहे थे। उन्होंने समीक्षा बैठक के तुरन्त बाद सम्बन्धित वरिष्ठ अधिकारियों के साथ 20 एकड़ में निर्माणाधीन लखनऊ हाॅट अवध शिल्प ग्राम परियोजना का स्थलीय निरीक्षण करते हुये निर्देश दिये कि परियोजना के कार्य गुणवत्ता के साथ अधिकतम अप्रैल, 2016 तक अवश्य पूर्ण कराना होगा। उन्होंने कहा कि लखनऊ अवध शिल्प ग्राम योजना के अन्तर्गत फूड कोर्ट, क्राफ्ट कोर्ट, डारमेटरी, क्राफ्ट शाॅप, ए.सी. क्राफ्ट शाॅप सहित प्रशासनिक भवन एवं प्रदर्शनी हाल का निर्माण गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराया जाये।
श्री रंजन ने आवास विकास के वरिष्ठ अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि विकास प्राधिकरणों में आम नागरिकों की समस्याओं के समाधान हेतु प्रत्येक गुरुवार को आयोजित समाधान दिवसों में आने वाले प्रकरणों के निस्तारण की प्रगति की समीक्षा कर प्रत्येक माह अवगत कराया जाये। उन्होंने कहा कि शहर में यातायात समस्या को दृष्टिगत रखते हुये अण्डरग्राउण्ड एवं बहुमंजिला पार्किंग भवन बनवाया जाये। उन्होंने कहा कि समाजवादी आवास योजना के अन्तर्गत पात्र लोगों को आवास उपलब्ध कराने हेतु निर्धारित आवासों का निर्माण निर्धारित माइल स्टोन के साथ पूर्ण कराया जाये।
बैठक में उपाध्यक्ष इलाहाबाद विकास प्राधिकरण ने बताया कि समाज के दुर्बल/अल्प आय वर्ग हेतु सुगम विहार आवास योजना कालिन्दीपुरम् में 464 फ्लैट्स का निर्माण मार्च-2016, मानस विहार नैनी में 256 फ्लैट्स एवं मौसम विहार आवास योजना कालिन्दीपुरम् में 336 फ्लैट्स एवं वसुधा विहार आवास योजना कालिन्दीपुरम में 253 फ्लैट्स का निर्माण जून-2016, डिवाइन अपार्टमेन्ट त्रिवेणीपुरम में 70 फ्लैट्स, मंगल विहार आवास योजना कालिन्दीपुरम में 268 फ्लैट्स एवं अलकनन्दा अपार्टमेंट गोविन्दपुर में 140 फ्लैट्स का निर्माण दिसम्बर-2016 तक पूर्ण कराये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
इसी प्रकार विकास प्राधिकरण गाजि़याबाद, आगरा, बनारस, कानपुर के  उपाध्यक्षों ने भी अपने प्राधिकरण क्षेत्र में कराये जाने वाले कार्यों की प्रगति की जानकारी देते हुये प्रगति से अवगत कराया। बैठक में प्रमुख सचिव आवास सदाकांत, आवास आयुक्त शहाबुद्दीन, उपाध्यक्ष लखनऊ विकास प्राधिकरण सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।

Leave a Reply